जिले के प्रभारी मंत्री श्रीमती राजवाड़े ने की विभागीय योजनाओं की समीक्षा samiksha Aaj Tak 24 News

 

जिले के प्रभारी मंत्री श्रीमती राजवाड़े ने की विभागीय योजनाओं की समीक्षा samiksha Aaj Tak 24 News 
 

बलरामपुर -  छत्तीसगढ़ शासन की महिला एवं बाल विकास व समाज कल्याण विभाग तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े एक दिवसीय प्रवास पर बलरामपुर पहुंची। इस दौरान उन्होंने संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में विभागीय बैठक ली। मंत्री श्रीमती राजवाड़े ने समीक्षा बैठक में शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं जैसे राजस्व, सुपोषण अभियान, प्रधानमंत्री आवास, स्वच्छता पेयजल आदि की समीक्षा कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। बैठक में सर्वप्रथम जिले के प्रभारी मंत्री श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े ने अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया। तत्पश्चात उन्होंने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले के विकास के लिए आपसी समन्वय कर आगे बढ़ना है, उन्होंने कहा कि 2047 तक विकसित राष्ट्र बनाने का संकल्प लिया गया है इसी के तहत् विकास कार्यों में प्रगति लाते हुए बलरामपुर जिले को भी विकसित बनाना है। बैठक में उन्होंने महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा करते हुए आंगनबाड़ी केन्द्रों की जानकारी ली साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के भर्ती प्रक्रिया के संबंध में भर्ती की प्रक्रिया को शीघ्र ही पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों को मेन्यू के आधार पर ही पौष्टिक भोजन देने को कहा साथ ही जिले गंभीर कुपोषित बच्चों की जानकारी लेते हुए अभियान चलाकर कुपोषित बच्चों को उचित उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। बैठक में जिले के प्रभारी मंत्री श्रीमती राजवाड़े ने महतारी वंदन योजना, आंगनबाड़ी भवनों की स्थिति, बाल संरंक्षण की इकाई, सखी वन स्टॉफ सेन्टर की भी समीक्षा की। समाज कल्याण विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने समस्त पेंशन योजनाओं की जानकारी लेते हुए पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए निर्देश दिये। साथ ही मंत्री श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े ने जिले के दिव्यांगजनों को वितरित किये जाने वाले सहायक उपकरणों की जानकारी लेते हुए अच्छी गुणवत्ता वाले उपकरण प्रदान करने तथा दिव्यांग छात्रों को योजना के अन्तर्गत प्रोत्साहन राशि निश्चित समयावधि में देना सुनिश्चित करने को कहा। मंत्री श्रीमती राजवाड़े ने नगरीय निकाय की समीक्षा करते हुए नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता, स्वास्थ्य, पेयजल के कार्यो को प्राथमिकता से कर लोगों को बुनियादी सुविधाओं का लाभ देने के निर्देश भी दिये। उन्होंने प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना की समीक्षा करते हुए स्वीकृत, प्रारम्भ, अपूर्ण तथा पूर्ण आवासों की जानकारी लेते हुए आवासों को सर्वोच्च प्राथमिकता से पूर्ण कराने के निर्देश दिये। विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए पहुंचविहीन पारा-मोहल्लों में शीघ्र बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा। शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए जिले में शिक्षकों की सेटअप की जानकारी ली तथा रिक्त पदों के पूर्ति के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शिक्षकों का कर्तव्य है कि बच्चों को अच्छी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करें ताकि उनका बेहतर भविष्य निर्माण हो सके इसलिए आप अधिकारी स्कूलों का सतत् अवलोकन करते रहें। उन्होंने राजस्व प्रकरणों की जानकारी लेते  हुए लंबित प्रकरणों का निश्चित समय अवधि में निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विकासखण्ड स्तर पर शिविर लगाकर समय से प्राप्त आवेदनों का निराकरण करें। उन्होंने कहा कि आमजनता की समस्याओं को ध्यान से सुनने के साथ इसका निराकरण समय पर करना सुनिश्चित किया जाए। विधायक श्रीमती उद्धेश्वरी पैकरा ने कहा कि प्रभारी मंत्री की उपस्थिति में आज पहली बार विभागीय समीक्षा बैठक लिया जा रहा है। सभी अधिकारी अपने क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों से समन्वय कर जिले के विकास को गति दें। इस दौरान उन्होंने बैठक में जिले में संचालित हो रहे बोर्ड परीक्षा के संबंध में जानकारी लेते हुए शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के निर्देश दिये। कार्यक्रम के अंत में प्रभारी मंत्री को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। बैठक में कलेक्टर श्री रिमिजियुस एक्का, पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह, वनमण्डलाधिकारी श्री विवेकानन्द झा, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती रेना जमील, जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।





Post a Comment

0 Comments