राज्यस्तरीय वर्ड पॉवर चैंपियनशिप में मिला तीसरा स्थान isthan Aaj Tak 24 News

राज्यस्तरीय वर्ड पॉवर चैंपियनशिप में मिला तीसरा स्थान isthan Aaj Tak 24 News 
 



कोरिया - सफलता किसी चीज की मोहताज नहीं होती, आभाव भी आड़े नहीं आती बशर्ते ईमानदारी से की गई प्रयास, लगन, मेहनत व प्रोत्साहन जरूरी है। यह बात चरितार्थ की है सोनहत विकासखंड के दूरस्थ ग्राम तर्रा निवासी श्री अनिल कुर्रे व श्रीमती कलावती कुर्रे की कक्षा तीसरी में अध्ययनरत बिटिया माधुरी कुर्रे ने। जानकारी के मुताबिक कुमारी माधुरी कुर्रे के माता-पिता खेतिहर मजदूर हैं।सोनहत विकासखंड के कटगोड़ी संकुल के अंतर्गत आने वाले शासकीय प्राथमिक शाला, तर्रा में कक्षा तीसरी में पढ़ाई कर रही कुमारी माधुरी कुर्रे ने राज्यस्तरीय वर्ड पॉवर चैम्पियनशिप में तीसरा स्थान प्राप्त की है। बता दें प्रदेश के सरकारी विद्यालयों के बच्चे अब किसी से कम नहीं है। प्रदेश की विद्यालयीन शिक्षा में रटने की प्रवृत्ति से हटकर सीखने की क्षमता की गति में अद्भुत परिवर्तन आया है। "वर्ड पावर चैम्पियनशिप" की राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में प्रदेश के शासकीय विद्यालयों के कक्षा दूसरी से कक्षा पांचवीं तक के बच्चों ने प्रतिभागिता की।

माधुरी को दी शाबासी, आगे बढ़ने को दी आशीर्वाद

कलेक्टर विनय कुमार लंगेह से जिला शिक्षा अधिकारी जितेंद्र गुप्ता ने 7 मार्च को कलेक्ट्रेट कक्ष में कुमारी माधुरी को मुलाकात कराया। कलेक्टर लंगेह ने माधुरी के इस सफलता की प्रशंसा करते हुए खूब शाबासी देते हुए उन्हें आगे बढ़ने की आशीर्वाद दिए।

बच्चों की प्रतिभा को निखारने की जरूरत

कलेक्टर लंगेह ने कहा कि बच्चों में बहुत प्रतिभा होते हैं, उन्हें निखारने की जरूरत है, उन्हें प्रोत्साहित करने की जरूरत है। कलेक्टर लंगेह ने शिक्षक केदारनाथ डिंडोरे को भी इस सराहनीय कार्य के लिए बधाई दी।

शिक्षक-शिक्षिकाएं अपने हिस्से का काम ईमानदारी से करें
जिले के सभी शिक्षक- शिक्षिकाओं से अपील करते हुए कलेक्टर लंगेह ने कहा कि बच्चों के भविष्य बनाने का महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है, इसलिए आप सब ईमानदारी और रुचिपूर्वक बच्चों के मानसिक, बौद्धिक, शैक्षणिक, खेलकूद व सांस्कृतिक विकास में योगदान दें, अपने हिस्से का कार्य अवश्य करें।

क्या है वर्ड पावर चैंपियनशिप

वर्ड पावर चैंपियनशिप भारत में एकमात्र अंग्रेजी प्रतियोगिता है, जो विशेष रूप से क्षेत्रीय भाषा स्कूल के छात्रों के लिए विकसित की गई है। 'वर्ड पावर चैंपियनशिप’ से छात्रों की झिझक दूर कर अंग्रेजी भाषा कौशल को प्रदर्शित करने के लिये मंच प्रदान करता है। इस तरह की प्रतियोगिताएँ न केवल अंग्रेजी भाषा के प्रति छात्रों की रुचि को बढ़ाती है बल्कि छात्रों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को भी प्रोत्साहित करती है।
वर्ड पावर चैंपियनशिप एक वार्षिक कार्यक्रम है, जो उन छात्रों एवं शिक्षकों की उपलब्धियों का उत्साह मनाता है जिन्होंने लीप फॉर वर्ड के अंग्रेजी साक्षरता कार्यक्रम में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है । वर्ड पावर चैंपियनशिप हिन्दी माध्यम विद्यालयों के लिये एक महत्त्वपूर्ण प्रतियोगिता है। जिला शिक्षा अधिकारी जितेंद्र गुप्ता ने बताया कि प्राथमिक स्कूल तर्रा के शिक्षक केदारनाथ डिंडोरे के प्रयास के कारण यहाँ के 80 प्रतिशत छात्र-छात्राओं में वर्ड पॉवर बढ़ा है, इस कार्य मे डिंडोरे का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।





Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News