आरटीई के तहत प्रवेश के सिर्फ 6 दिन बाकी मनचाहे स्कूल का नाम आरटीई पोर्टल में नहीं दिख रहा nhi dikh raha Aaj Tak 24 news



आरटीई के तहत प्रवेश के सिर्फ 6 दिन बाकी मनचाहे स्कूल का नाम आरटीई पोर्टल में नहीं दिख रहा nhi dikh raha Aaj Tak 24 news 

बड़वाह  -  शिक्षा के अधिकार के तहत बडवाह ब्लाक के निजी स्कूलों में बीपीएल परिवार के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देनी है,इस वर्ष  शैक्षणिक सत्र में ऐसे अभिभावक जो अपने बच्चों को दाखिला दिलाना चाहते हैं,उन्हें प्रवेश के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी करनी है।स्कूल शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन प्रवेश के लिए आरटीई पोर्टल ओपन कर दिए हैं।23 मार्च तक पहले चरण में आवेदन ऑनलाइन भरे जाएगे,सत्यापन 25 मार्च तक चलेगा।इसके बाद 28 मार्च को लाटरी के माध्यम से बच्चो को स्कूले आबंटित होगी इसकी जानकारी बीआरसी कार्यालय एवं जनशिक्षा केन्द्रों पर चश्मा की जाएगी।हालाकि पोर्टल ओपन हुए 5 दिन बीत गए,लेकिन सही जानकारी लोगों को नहीं मिल पा रही है। इसके लिए जनशिक्षा केन्द्रों के अभिभावक चक्कर लगा रहे है,वही कम्यूटर सेंटरों पर भी जानकारी के लिए पहुंच रहे है।छह दिन शेष है,लेकिन कुछ अभिभावकों को यह भी पता नही है कि वह कोन-कोन सी स्कुलो के लिए आवेदन जमा करवा सकते है,यह तो उन्हें कम्यूटर सेंटरों पर पहुंचने के बाद ही पता चल रहा है।वही अभिभावकों का यह भी कहना है कि पांच बड़ी स्कुलो में आरटीई के तहत प्रवेश नही हो रहे है,इसकी जानकारी उन्हें आवेदन भरते समय ही पता चलती है । बडवाह ब्लाक के पांच ऐसे स्कुल है जहा पर आरटीई के तहत प्रवेश नही होता है|इस बारे में जब बीआरसी सुरेश खेड़ेकर से जानकारी ली तो उनका कहना है कि अल्पसंख्यक बोर्ड का प्रमाण पत्र होने के कारण बडवाह में निर्मल विद्यापीठ स्कुल,नर्मदा वेळी,सेंट मेरी स्कुल एवं सनावद में विमला कान्वेंट अंग्रेजी एवं हिंदी मीडियम स्कुल में प्रवेश नही होता है।      128 स्कुलो में 1322 विद्यार्थियों को मिलेगा प्रवेश।    जरुरतमंद परिवार के बच्चे भी प्राइवेट स्कूलों में सामान्य बच्चों के साथ बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सकें, इस उद्देश्य से लागू किए गए शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत बडवाह ब्लाक में 128 प्राइवेट स्कूलों के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया चल रही है। इससे इन प्राइवेट स्कूलों में सरकारी खर्च पर आर्थिक रुप से कमजोर परिवार के नैनिहालों को प्रवेश मिल सकेगा।बीआरसी सुरेश खेड़ेकर एवं आरटीई प्रभारी महेश कनासे ने बताया कि 128 स्कुलो में 1322 विद्यार्थियों के प्रवेश का लक्ष्य है।ऑनलाइन आवेदन जमा करने की प्रक्रिया अंतर्गत इसी माह 28 मार्च को लॉटरी के माध्यम से स्कूल में सीट आवंटन होना है।                                                       लक्ष्य से कम होता है प्रवेश                                       बडवाह ब्लाक की पांच बड़ी निजी स्कूलों मे आरटीई के तहत प्रवेश के लिए अभिभावक जब दाखिले की ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी कर रहे हैं, तो उन्हें उनके पसंद के ये स्कूलों के नाम ही नहीं दिख रहे हैं।कारण यह है कि अल्पसंख्यक बोर्ड का प्रमाण पत्र होने के कारण इन स्कुलो में आरटीई के तहत प्रवेश नही होता है,लेकिन ख़ास बात तो यह है कि यह बड़ी निजी स्कुलो में अल्पसंख्यक के अधिक तो अन्य वर्ग के बच्चे स्कुलो में पढ़ रहे है| मजेदार कुछ जगह यह कि ऐसे स्कूल का नाम पोर्टल में शो हो रहा है, जिसका नगर व ग्रामीण क्षेत्रो में कोई वजूद ही नहीं है। यही कारण है कि कभी भी लक्ष्य के अनुसार प्रवेश नही होता है।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

सरपंचों के आन्दोलन के बीच मंत्री प्रहलाद पटेल की बड़ी घोषणा, हर पंचायत में होगा सामुदायिक और पंचायत भवन bhawan Aajtak24 News