बच्चो का हक छिनने में लगे बुरहानपुर में दलाल | Bachcho ka hak chhinne main lage burhanpur main dalal

बच्चो का हक छिनने में लगे बुरहानपुर में दलाल

खेलकूद साम्रगी वितरण में बड़ा झोल, बच्चो की खेल साम्रगी से खिलवाड़ क्यो

बच्चो का हक छिनने में लगे बुरहानपुर में दलाल

बुरहानपुर (नवीन आड़े) - जिले में खेलकूद साम्रगी में भारी अनियमितता देखने को मिल रही है।  दूसरे जिलों की तरह बुरहानपुर ज़िले में खेल कूद साम्रगी में भारी भर्ष्टाचार। दिनांक 27/01/2022 के निर्देशानुसार प्रत्येक प्राथमिक शाला 5000/ एवं माध्यमिक शाला हेतु 10000/- रुपये स्पोर्ट्स ग्रांट में स्वीकृत हुवे है। खेल साम्रगी विद्यालय प्रबंधन समिति द्वारा क्रय नियमो का पालन करते हुवे स्थानीय परिस्थिति में उपयुक्त खेल साम्रगी क्रय कर सकते है। क्रय की गई साम्रगी का भुगतान विकास खण्ड स्तर पर BRC के माध्यम से होना है। परन्तु बुरहानपुर अंतर्गत BRC के जनशिक्षको के माध्यम से BRC के माध्यम से  सप्लायर्स द्वारा जनशिक्षक शालाओ के प्रधान पाठको को खेल साम्रगी दबाव बनाकर बेच रहे है। और खेल साम्रगी के बिल अन्य जिलों के लग रहे है जिसमे इंदौर, खरगोन, बड़वानी के बिल है। जबकि खेल साम्रगी स्थानीय स्तर पर दुकानों पर भी उपलब्ध है। लेकिन बड़े कमीशन के चक्कर मे दलाल ये सामग्री बेच रहे है। जैसे दरियापुर संकुल, बोदरली संकुल, लोनी संकुल, शाहपुर संकुल, निम्बोला संकुल के जनशिक्षा केंद्रों पर खेल साम्रगी बेचने हेतु भेजी गई है। और कई स्कूलों में ये जा रही है। 

*स्कूलों के प्रिंसिपलो पर किसका दबाव ?*

कैसे खेलकूद साम्रगी अन्य जिले की स्कूलों में पहुच रही है जिसमे न तो क्रय प्रस्ताव है ना ही शाला विकास समिति का कोई प्रस्ताव फिर भी घटिया लेवल की सामग्री क्यो आ रही है स्कूलों में ? बच्चो की साम्रगी अच्छे गुणवत्ता की आना जरूरी है लेकिन बहुत बड़ी अनियमितता के साथ करोड़ो का खेल। कौन बच्चो के हक छीन कर पैसे कमाना चाहता है । 

*क्या है नियम*

खेल सामग्री के क्रय हेतु मध्य प्रदेश लघु उद्योग निगम द्वारा रेट कॉन्ट्रैक्ट किया गया है विद्यालय की शाला प्रबंधन समिति इस रेट कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर भंडार क्रय नियमों का पालन करते हुए स्थानीय परिस्थिति में उपयुक्त खेलो कर्मों का क्रय कर सकेगी नवीन वित्तीय व्यवस्था अंतर्गत यह आवश्यक है कि खेल सामग्री के लिए क्रय आदेश को शाला प्रबंधन समिति द्वारा जारी किया जा कर, वेंडर को भुगतान शाला के ही खाते द्वारा किया जाए,  असामान्य परिस्थितियों में यदि किसी कारणवश शाला स्तर पर खाते की क्रियाशील होने में किसी समस्या के उत्पन्न होने पर खेल सामग्री का भुगतान ब्लॉक के खाते से किया जा सकेगा परंतु इस परिस्थिति में भी क्रय आदेश शाला प्रबंधन समिति द्वारा ही जारी किया जाएगा साथ ही देयक पर भी शाला प्रबंधन समिति का नाम होना आवश्यक है उस स्थिति में शाला प्रबंधन समिति देख का सत्यापन कर खेल सामग्री की गुणवत्ता को प्रमाणित करते हुए भुगतान के लिए देयक विकासखंड स्तर पर भेज सकेगी

*बच्चों के विकास में खेलकूद साम्रगी का महत्व*

जिस खेलकूद साम्रगी से बच्चो के शारीरिक जागरूकता जिसमें बच्चों की लंबाई वजन सही पोश्चर में बैठना , खेलना,  अध्ययन करना इन सब पर काफी प्रभाव पड़ेगा। 

गतिज जागरूकता के कौशल में काफी प्रभाव पड़ेगा

शरीर का संतुलन के कौशल 

योगी का अभ्यास प्राणायाम तथा सामाजिक और नैतिक मूल्य को खेल-खेल में सुरक्षा स्वच्छता बनाए रखना यह सभी चीजें बच्चों के जीवन में काफी जरूरी है लेकिन बुरहानपुर जिले के कुछ दलाल बच्चों के भविष्य खतरे में डाले हुए हैं अब देखना है जिला शिक्षा विभाग कोई कार्रवाई करता है या फिर लीपापोती करके इस मामले को दबाया जाता है

जनशिक्षक के माध्यम से ऐसा कुछ हुवा नही। साथ ही BRC के माध्यम से कोई कार्य होता नही है। आपके माध्यम से मुझे जानकरी मिली है । जांच की जाएगी।

सुधाकर माकुन्दे

BRC बुरहानपुर

शाला विकास समिति और प्रिंसिपल के माध्यम से खेल कूद साम्रगी क्रय करना शासन का नियम है। यदि जनशिक्षक की इसमें कोई भूमिका है तो मै जांच करूंगा। 

रविन्द्र महाजन

जिला शिक्षा अधिकारी

*आपके जिले व ग्राम में दैनिक आजतक 24 की एजेंसी के लिए सम्पर्क करे +91 91792 42770, 7222980687*

Post a Comment

0 Comments