शहरों की तर्ज पर गांवों में भी होगा स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2021 | Shahro ki tarj pr ganvo main bhi hoga swachchta sarvekshan

शहरों की तर्ज पर गांवों में भी होगा स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2021

रतलाम (यूसुफ अली बोहरा) - शहरों की तर्ज पर अब जिले के ग्रामीण क्षेत्र का स्वच्छता सर्वेक्षण किया जाएगा। गांव के लोक स्वच्छता को लेकर कितने जागरुक हुए हैं और दैनिक जीवन में उन्होंने साफ-सफाई को कितना अपनाया है, इसे चेक करने के लिए केन्द्रीय दल द्वारा जिले के 25 गांवों में भ्रमण किया जाएगा।


स्वच्छता सर्वेक्षणण को लेकर 20 अक्टूबर को जिला पंचायत सभाकक्ष में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे द्वारा अधिकारियों को सर्वेक्षण की तैयारी के सम्बन्ध में निर्देश दिए गए। बैठक में डीपीओ महिला एवं बाल विकास विभाग श्री रजनीश सिन्हा, उपसंचालक कृषि श्री विजय चौरसिया, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री राजेश धनोतिया, कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री प्रदीप गोगादे, जिला परियोजना समन्वयक, डीपीएम एनआरएलएम, सीईओ जनपद पंचायत, सहायक यंत्री जनपद पंचायत, ब्लाक समन्वयक, एसबीएम जनपद पंचायत उपस्थित थे।


श्रीमती भिडे ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण की रेकिंग मुख्यतः 03 प्रोटोकाल के तहत की जाएगी जिसमें नगारिक प्रतिक्रिया के 350 अंक, प्रत्यक्ष अवलोकन के 300 अंक एवं सेवा स्थल की प्रगति के 350 अंक होंगे। इस प्रकार स्वच्छता सर्वेक्षण कुल 1000 नम्बर का होगा जिसमें राज्यों एवं जिलों की रैकिंग की जाएगी। स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्रामीण स्वच्छता का सर्वेक्षण राष्ट्रीय स्तर पर सभी जिलों में पारदर्शिता के साथ कराया जाएगा। केन्द्रीय दल द्वारा 25 अक्टूबर से 20 दिसम्बर के मध्य सभी जिलों का भ्रमण किया जाएगा। भ्रमण के दौरान दल द्वारा चयनित ग्राम के सार्वजनिक स्थान जैसे हाट बाजार, धार्मिक स्थल पर जाकर स्वच्छता की स्थिति का आंकलन किया जाएगा। साथ ही रेण्डम स्तर पर चयनित 10 घरों के रहवासियों से स्वच्छता के आयामों पर प्रतिक्रिया दर्ज करेगा। सर्वेक्षण दल ग्राम के स्कूल, आंगनवाडी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इत्यादि पर भी भ्रमण कर स्वच्छता की स्थिति की जानकारी दर्ज करेगा। ग्राम के सरपंच, सचिव, शिक्षक, आंगनवाडी कार्यकर्ता आदि से भी सर्वेक्षण के सम्बन्ध में साक्षात्कार किया जाएगा।


श्रीमती जमुना भिडे द्वारा ग्रामों में स्वच्छता को लेकर किए जाने वाले कार्यों पर विस्तृत चर्चा की। इस सम्बन्ध में ग्रामों में सार्वजनिक स्थानों पर एकत्रित घरों की जगह नाडेप बनाने हेतु उपसंचालक कृषि को निर्देशित किया गया। सभी स्कूलों, छात्रों में स्वच्छता को लेकर जागरुकता एवं व्यवहार परिवर्तन, ग्रामीण क्षेत्र के शाला एवं शाला परिसरों की नियमित साफ-सफाई हेतु जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला परियोजना समन्वयक को निर्देशित किया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई के सम्बन्ध में महिलाओं को जागरुक करने हेतु जिला प्रबंधक महिला एवं बाल विकास विभाग एवं जिला परियोजना प्रबंधक एनआरएलएम को निर्देशित किया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में निर्मित हैण्डपम्प से निकलने वाले पानी का उचित निपटान साकपिट इत्यादि में किए जाने हेतु कार्यपालन यंत्री लो.स्वा.यां. विभाग को निर्देशित किया गया।

*दैनिक आजतक 24 अखबार से जुड़ने के लिए सम्पर्क करे +91 91792 42770*

Post a Comment

0 Comments