पं.उपाध्‍याय का पूरा जीवन प्रेरणादायी - श्री मालवीय | Pandit dindayal ka pura jivan prernadai

पं.उपाध्‍याय का पूरा जीवन प्रेरणादायी - श्री मालवीय

म.प्र.जनअभियान परिषद द्वारा आयोजित संगोष्‍ठी में अतिथिगणों ने पंडितजी के जीवन पर प्रकाश डाला

पं.उपाध्‍याय का पूरा जीवन प्रेरणादायी - श्री मालवीय

उज्जैन (रोशन पंकज) - एकात्‍म मानववाद के प्रणेता पं.दीनदयाल उपाध्‍याय का चिंतन हमेशा समाज के अंतिम छोर के व्‍यक्ति के उत्‍थान में ही रहा है। पंडितजी के द्वारा समाज व्‍यवस्‍था लागू कर गॉव में लघु उद्योग स्‍थापित हो इस दिशा में आपका संगठनात्‍मक चिंतन समाज में बुराईयों से लड़ने एवं सुशासन की व्‍यवस्‍था स्‍थापित हो इस उद्धेश्‍य से आपका पूरा जीवन दर्शनशास्‍त्र के आधार पर समाज के उस व्‍यक्ति को जो समाज से वंचित एवं लाभ से दूर है उसके लिये चिंतन-मनन रहा।

पं.उपाध्‍याय का पूरा जीवन प्रेरणादायी - श्री मालवीय

उक्‍त विचार म.प्र. जनअभियान परिषद द्वारा स्‍थानीय विक्रम कीर्ति मंदिर सभा गृह में आयोजित पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय की जयंती के अवसर पर आयोजित संगोष्‍ठी में मुख्‍य वक्‍ता के रूप में पूर्व सांसद डॉ.चिन्‍तामणि मालवीय ने व्‍यक्‍त किये। उन्होंने उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि पंडितजी का पूरा जीवन ही प्रेरणादायी है। 

कार्यक्रम में अतिथि श्री विवेक जोशी ने अपने उदबोधन में कहा कि एकात्‍म मानवतावाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय का जीवन विकट परि‍स्‍थतियों के बाद भी समाज उत्‍थान राष्‍ट्र प्रेम पर संकल्पित रहा। श्री इकबाल सिंह गांधी ने कहा कि पंडितजी के विचारों को सभी ने आत्‍मसात करना चाहिये। उनके जीवन से प्रेरणा लेकर अंत्‍योदय के क्षेत्र में कार्य करने की सभी को आवश्‍यकता है।

कार्यक्रम की अध्‍यक्षता कर रहे म.प्र. जनअभियान परिषद के उपाध्‍यक्ष, प्रखर चिंतक, विचारक श्री विभाष उपाध्‍याय ने अपने संबोधन में कहा कि पंडितजी ने हमेशा वसुदेव कुटुम्‍बकम पर जोर दिया है। धर्म संप्रदाय से अलग हट कर उन्‍होंने समाज के प्रत्‍येक वर्ग को समान दृष्टि से देखने का विचार सभी के समक्ष दिया है। वर्तमान समय में सनातन धर्म को परिदृश्य रखते हुए हम सबको समाज के अंतिम पंक्ति में रहने वाले वर्ग की सहायता के लिये हमेशा तत्‍पर रहना चाहिये। सत्‍ता को केन्‍द्र में रखते हुए जनप्रतिनिधियों को यह प्रयास करना चाहिये कि सरकार की प्रत्‍येक योजना का लाभ समाज के अंतिम व्‍यक्ति तक पहुंचे। 

कार्यक्रम में बतौर अतिथि विधायक श्री पारस जैन, श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला, म.प्र. राज्‍य खाद्य आयोग के सदस्‍य श्री किशोर खण्‍डेलवाल, श्री सुरेश गिरी भी विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथिगणों द्वारा दीप प्रज्‍जलित किया गया एवं अतिथि परिचय जनअभियान परिषद के संभाग समन्‍वयक श्री शिवप्रसाद मालवीय द्वारा दिया गया। कार्यक्रम के दौरान कोरोनाकाल में जिले में सेवा कार्य करने वाले कोरोना वालेंटियर्स को उपस्थित अतिथियों द्वारा प्रमाण-पत्र (मुख्‍यमंत्री द्वारा हस्‍ताक्षरित) प्रदान कर सम्‍मानित किया गया। कार्यक्रम में सामूहिक राष्‍ट्रगीत वन्‍देमातरम् का गायन राजश्री जोशी द्वारा करवाया गया। अंत में आभार प्रदर्शन परिषद के जिला समन्‍वयक श्री सचिन शिम्‍पी द्वारा किया गया। 

कार्यक्रम में मैं कोरोना वॉलेंटियर्स, स्‍वैच्छिक संगठन नवांकुर संस्‍था, प्रस्‍फुटन समिति सदस्‍य, वार्ड, ग्राम, क्राईसेस मेनेजमेंट कमेटी सदस्‍य, मुख्‍यमंत्री सामूदायिक नेतृत्‍व क्षमता विकास पाठ्यक्रम के छात्र/छात्रायें/मेंटर्स, वार्ड संयोजक, सह संयोजक, एवं अन्‍य गणमान्‍य नागरिक एवं सामाजिक कार्यकर्ता विशेष रूप से उपस्थित रहे। अतिथिगणों का स्‍वागत विकासखण्‍ड समन्‍वयक श्री अरूण व्‍यास, श्री रूपेश परमार, श्री अश्विन शास्‍त्री, श्री रवि रावल, श्री विजय शर्मा एवं श्रीमती रजनी नरवरिया द्वारा किया गया। 

Post a Comment

0 Comments