पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के निर्माण कार्यो की समीक्षा | Panchayat evam gramin vikas vibhag ke nirman karyo ki samiksha

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के निर्माण कार्यो की समीक्षा

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के निर्माण कार्यो की समीक्षा

राजगढ़ - कलेक्टर श्री हर्ष दीक्षित ने कहा है कि ग्रामीण विकास विभाग अपनी समस्त योजनाओं के क्रियान्वयन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करें। सभी कार्य गुणवत्ता पूर्ण हों। हितग्राही मूलक योजनाओं के पात्र लाभार्थी अनावष्यक परेशान नहीं हो। उनको शासन की योजना से लाभांवित करने हेतु संबंधित अधिकारी स्वयं उन तक पहुंचे। कलेक्टर श्री दीक्षित पंचायत एवं ग्रामीण विभाग की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सुश्री प्रीति यादव, अपर कलेक्टर श्री कमलचन्द्र नागर, समस्त जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, सहायक यंत्री, उपयंत्री एवं ग्रामीण विकास विभाग के परियोजना अधिकारी मौजूद रहे।  इस अवसर पर उन्होंने कहा कि स्व सहायता समूहों को बढ़ावा देने एवं उनके उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने योजना बने ताकि स्व सहायता समूह की महिलाएं आर्थिक रूप से सषक्त बने एवं जिले के विकास में अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी करें।  उन्होंने जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देषित किया कि 17 सितम्बर, 2021 को कोविड-19 टीकाकरण महा अभियान आयोजित किया जाएगा। वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर जिले में 65,000 कोविड टीकाकरण किए जाने का लक्ष्य तय है। वे अपनी पूरी क्षमता और योजनानुसार ग्रामीण अंचलों में दिए गए लक्ष्यों की शतप्रतिशत पूर्ति सुनिष्चित कराएं।  इस अवसर पर उन्होंने पंचायत स्तर पर लाईब्रेरियों को समृद्ध बनाने छात्र-छात्राओं की बैठने की समुचित व्यवस्थाएं करने तथा अधिक से अधिक छात्र-छात्रों को जोड़ने निर्देष दिए।  मुख्यमंत्री हेल्प लाईनों के लंबित आवेदनों की समीक्षा के दौरान उन्होंने निर्देषित किया आवेदक कि समस्याओं एवं षिकायतों का संतुष्टिपूर्ण निराकरण एल-1 स्तर पर ही हो, के लिए संबंधित आवेदक से संबंधित सम्पर्क करें एवं आवेदनों का निराकरण सुनिष्चित करें। साथ ही मनरेगा की समीक्षा के दौरान उन्होंने अधिक से अधिक मानव दिवसीय रोजगार सृजित कर ग्रामीण जरूरतमंद श्रमिकों को रोजगार देने, राजस्व विभाग की विभिन्न योजनाओं की जानकारी ग्राम स्तर तक पहुंचाने के लिए सक्रिय युवकों का चिन्हांकन करने तथा श्रृद्धा के केन्द्र मंदिरों की मरम्मत एवं सौदर्यीकरण कराए जाने हेतु प्रस्ताव देने तथा रिक्त शासकीय भवनों का उपयोग आंगनवाड़ी केन्द्र आदि के लिए करने निर्देश दिए।  इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीण अंचलों में ग्रामीण विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की योजनावार समीक्षा की आवष्यक निर्देश दिए।

Post a Comment

0 Comments