जिला स्तरीय राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे हेतु उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न | Jila stariya rashtriya uplabdhi sarve hetu unmukhikaran karyashala sampann

जिला स्तरीय राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे हेतु उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न

जिला स्तरीय राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे हेतु उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न

उमरिया - जिला स्तरीय राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे 2021 हेतु उन्मुखीकरण कार्यशाला डाईट उमरिया संपन्न हुई। कार्यशाला में जिला शिक्षा अधिकारी उमेश कुमार धुर्वे , जिला परियोजना समन्वयक सुमिता दत्ता, , डाइट प्राचार्य विनोद कुमार मिश्रा , एपीसी सुशील मिश्रा, डॉक्टर बृजेश शर्मा,एस के गौतम, संजय पांडेय, बीआरसीसी करकेली संतोष कुमार गौतम, मानपुर धनेन्द्र तिवारी, पाली सजन सिंह एवं समस्त बीएसी, जन शिक्षक, कलस्टर एनएएस प्रभारी अधिकारी एवं ह्युमाना पीपल टू पीपल के सदस्य उपस्थित रहे। प्रस्तुतीकरण एपीसी अकादमिक एवं जिला एनएएस प्रभारी श्री संजय पांडेय व श्री सुशील मिश्रा एपीसी ई एण्ड आर द्वारा किया गया। ज्ञात हो इस बार भारत शासन द्वारा पूरे देश में 12 नवंबर 2021 को राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे का आयोजन किया जाना है। इस सर्वे में कक्षा 3,5,8 व 10 के विद्यार्थियों का सर्वे किया जाएगा। कक्षा 3 व 5 में हिंदी, गणित व पर्यावरण विषय; कक्षा 8 के लिए हिंदी, गणित, विज्ञान व सामाजिक विज्ञान तथा कक्षा 10 के लिए हिंदी, गणित, विज्ञान, समाजिक विज्ञान एवं अंग्रेजी विषयों पर बच्चों की योग्यता व क्षमता का आकलन किया जाएगा।यह सर्वे पूर्णतया लर्निंग आउटकम्स (सीखने के प्रतिफल) पर आधारित है। इसी सर्वे के परिणाम के आधार पर शिक्षा की योजनाएं, व्यवस्थाएं एवं नीतिगत फैसले लिए जाते हैं। यह सर्वे प्रत्येक 3 वर्षों में होता है। इसके पहले 13 नवंबर 2017 को यह सर्वे आयोजित किया गया था, जिसमें राष्ट्रीय स्तर पर मध्य प्रदेश का 17 वां स्थान था तथा उमरिया जिले का मध्य प्रदेश में 41 वां स्थान था। माननीय मुख्यमंत्री महोदय मध्य प्रदेश शासन श्री शिवराज सिंह चौहान ने शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों को इस वर्ष इस राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे में प्रथम 10 राज्यों में आने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके अंतर्गत राज्य स्तर से बच्चों के लिए प्रश्न बैंक तैयार कर भेजी जा रही है। प्रत्येक शुक्रवार 10-10 प्रश्नों के प्रश्न बैंक अभ्यास हेतु राज्य स्तर तैयार से भेजी जाती है। इन कक्षाओं के चयनित विषयों पर तीन मॉक टेस्ट का आयोजन भी लिया जाएगा, जिसके लिए ओएमआर शीट में बच्चों के अभ्यास कराया जाएगा।  ज्ञात हो इस सर्वे में चयनित शालाओं में थर्ड पार्टी एसेसमेंट किया जाता है। अर्थात डीएलएड, बीएड के छात्राध्यापक व अशासकीय विद्यालयों के शिक्षक क्षेत्र अन्वेषक के रूप में उन विद्यालयों में जाते हैं और बच्चों का टेस्ट सम्पन्नकराते हैं और परिणाम सील बंद हो कर उसी दिन उमरिया में जमा हो जाता है जिसे अगले दिवस भोपाल पहुंचाया जाता है।

Post a Comment

0 Comments