राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड का 63 वां स्थापना दिवस, संघ कार्यालय पर मनाया गया | Rashtriya shramik shiksha vikas board ka 63va sthapna divas

राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड का 63 वां स्थापना दिवस, संघ कार्यालय पर मनाया गया

राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड का 63 वां स्थापना दिवस, संघ कार्यालय पर मनाया गया

ग्वालियर - कार्यक्रम का प्रारम्भ दीप प्रज्जवलन मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों के द्वारा कर किया गया तत्पश्चात राष्ट्रीय गीत वन्देमातरम गाकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। ग्वालियर- क्षेत्रीय निदकशक डा.इन्दु शर्मा द्वारा दत्तोपंत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड की गतिविधियों एवं हिन्दी दिवस की जानकारी प्रदान की। श्री राजेन्द्र बांदिल, से.नि. प्रोफेसर, एम.एल.बी. काँलेज द्वारा श्री दत्तोपंत ठेंगडी जी के जीवन पर प्रकाश डाला और बताया की दत्तोपंत ठेेगडी जी ने मजदूरों के हितों के लिए काफी आन्दोलन चलाये। श्री सुधीर चतुर्वेदी, सदस्य, क्षे.स.स. ग्वालियर ने श्रम संहिता एवं डिजीटल साक्षरता की जानकारी प्रदान की। विशिष्ट अतिथियों में श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, उर्जा मंत्री, मध्यप्रदेश शासन ने मजदूरों के हित में हो रहे कार्यो के बारे में बताया एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे श्री संजय बिन्दल, युनिट हैड, जे.के.टायर, बानमौर द्वारा बताया कि दत्तोंपत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड द्वारा संगठित, असंगठित एवं ग्रामीण क्षेत्र के श्रमिकों को भारत सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान कर जागरूक कर रही है। इस कार्यालय मेें श्रम शक्ति की कमी होने के बावजूद 12 जिलो में श्रमिकों को जागरूक करने का कार्य कर रही है और जानकारी दी की जब-जब इस क्षेत्रीय निदेशालय को किसी भी सहायता की आवश्यकता हो तो उसकी पूर्ति के लिए वे तैयार है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माननीय श्री विवेक नारायण शेजवलकर, सांसद जी ने बताया कि राष्ट्र तभी खडा हो सकता जब मजदूर खडा होगा एवं किसी भी राष्ट्र के विकास में मजदूरों का अहम् योगदान रहता है आज का प्रबंधक वर्ग एवं सभी नागरिकगण गुणवत्ता वाली चीजें/सेवा चाहते है अगर मजदूर जो वास्तव में इस देश की रीढ है हमें उसको आगे बढाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण संस्थान में अगर गुणवत्ता ही नहीं होगी तो आगे कैसे बढेगे और मजदूरों में गुणवत्ता कैसे बढेगी तो मजदूरों में गुणवत्ता हो, कौशल विकास हो, ज्ञान हो, बौद्धिक विकास हो, मानसिक विकास हो आर्थिक विकास हो तभी देश आगे बडेगा। इस हेतु हमें संकल्प लेना होगा कि हम लोगों को मजदूरों को आगे बढाना हेतु कदम उठाना होगा। इस हेतु जो संस्थायें इस कार्य में पूर्ण रूप से लगी है उन्हें भी अपनी गुणवत्ता बढानी होगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री वसंत पुरोहित, पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री, मध्यप्रदेश शासन एवं अध्यक्ष, क्षेत्रीय सलाहकार समिति, ग्वालियर ने की और बताया कि क्षेत्रीय निदेशालय 12 जिलों में अपने सीमित संसाधनों से काफी उत्कृष्ट कार्य कर श्रमिकों को जागरूक कर रहा है इस हेतु उन्होनें सांसद जी से आग्रह किया है कि वे क्षेत्रीय निदेशालय, ग्वालियर पर दो शिक्षा अधिकारी की तैनाती कराने का कष्ट करें क्योंकि यहा पर एक भी शिक्षा अधिकारी नहीं है। और उन्होंने श्रमिक शिक्षा स्थापना दिवस पर सभी को बधाई दी। श्रीमती रामकिशोरी सैनी, एवं श्री बृजकिशोर स्वयं सेवक को उत्कृष्ट कार्य करने हेतु प्रशस्ती पत्र प्रदान किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों मेे स्वदश्षी जागरण संघ के श्री केशव दुवोलिया, श्री रमेश पठारिया, श्री विष्णु शर्मा, जिला प्रमुख, भारतीय मजदूर संघ, श्री सीताराम खरे, सफाई कामगार मोर्चा, श्री रतिराम यादव, अध्यक्ष, मजदूर इन्टक सभा, जेके टायर के एडवाइजर श्री पी. कुलकर्णी, महाप्रबंधक, श्री सुरेश शर्मा, जे.बी.मंघाराम, श्री सोहन ंिसह, कार्यक्रम अधिकारी, आकाशवाणी के साथ-साथ दो दिवसीय कार्यक्रम में भाग लेने वाली प्रतिभागीगण उपस्थित रहे।

धन्यवाद ज्ञापन डा.इन्दु शर्मा, क्षेत्रीय निदेशक ने किया और कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु विशेष रूप से श्री विवेक कांटे, नि.श्रे.लि. एवं श्री रविन्द्र गुप्ता, वरिष्ट लिपिक ने योगदान दिया।

Post a Comment

0 Comments