बालाजी हॉस्पिटल का मेल नर्स निकला इंसानियत का दुश्मन | Balaji hospital ka male nurse nikla insaniyat ka dushman

बालाजी हॉस्पिटल का मेल नर्स निकला इंसानियत का दुश्मन

निजी अस्पताल का मेल नर्स कर रहा था रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी , पुलिस ने 5 इंजेक्शन के साथ दबोचा, 2 अन्य आरोपी भी पकड़ाए

बालाजी हॉस्पिटल का मेल नर्स निकला इंसानियत का दुश्मन

छिंदवाड़ा (शुभम सहारे) - छिंदवाड़ा के बालाजी अस्पताल में कार्यरत था आरोपी, 30 हजार में बाहर बेच रहा था इंजेक्शन छिंदवाड़ा पुलिस में आज एक बड़ी कार्यवाही करते हुए रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे एक निजी अस्पताल के मेल नर्स सहित 3 लोगो को गिरफ्तार किया है । कोतवाली टीआई मनीष राज भदोरिया ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि चार फाटक के पास दो युवक रेमडेसिविर इंजेक्शन को 30 हजार रुपये में बेच रहे हैं, जिसके बाद पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुँच कर दोनों युवक अखिलेश शर्मा और राजा तिवारी को पकड़ लिया, पुलिस ने दोनों आरोपियों के पास से 2 इंजेक्शन जप्त किए वहीं आरोपियों से जब पुलिस ने सघनता से पूछताछ की तो दोनों आरोपियों ने बताया कि छिंदवाड़ा के निजी अस्पताल बालाजी में कार्यरत मेल नर्स ओमप्रकाश नागवंशी ने उन्हें यह इंजेक्शन उपलब्ध कराए थे आरोपियों की सूचना के आधार पर तत्काल पुलिस ने निजी अस्पताल के कर्मचारी ओम प्रकाश नागवंशी को राउंडअप किया तो उसके पास से भी तीन अन्य इंजेक्शन प्राप्त हुए पुलिस ने तीनों आरोपियों के विरुद्ध प्रकरण कायम कर लिया है।


*30 - 30 हजार में बेचना चाह रहे थे इंजेक्शन*

पुलिस ने दावा किया है कि निजी अस्पताल के कर्मचारी ओम प्रकाश नागवंशी और दो अन्य आरोपी 30- 30 हजार में इन इंजेक्शन को बेचने की फिराक में थे लेकिन उससे पहले ही यह पकड़े गए। इस सारे मामले में पुलिस की माने तो मुख्य आरोपी अस्पताल का मेल नर्स है जो पिछले चार-पांच सालों से अस्पताल में कार्यरत हैं वही इस सारे प्रकरण में अस्पताल प्रबंधन की भूमिका भी संदेह के घेरे में है जिसकी अभी जांच की जा रही है फिलहाल पुलिस ने वर्तमान में 3 लोगों को ही इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के जुर्म में गिरफ्तार किया है, आरोपियों से पांच इंजेक्शन दो खाली बॉयल दो बाइक ओर तीन मोबाइल जब्त किये और महामारी अधिनियम की धारा के तहत मामला दर्ज किए और जेल भेज दिया गया ।

बालाजी हॉस्पिटल का मेल नर्स निकला इंसानियत का दुश्मन


Post a Comment

0 Comments