समाजसेवी राजेश पाठक ने प्रशासन को सौंपी 20 ऑक्सीजन मसीन कोविड मरीजों को मिलेगी राहत | Samajsevi rajesh pathakne prashasan ko sopi 20 oxygen machine

समाजसेवी राजेश पाठक ने प्रशासन को सौंपी 20 ऑक्सीजन  मसीन कोविड मरीजों को मिलेगी राहत

समाजसेवी राजेश पाठक ने प्रशासन को सौंपी 20 ऑक्सीजन  मसीन कोविड मरीजों को मिलेगी राहत

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - जिले में समाजसेवी दानदाताओं की मानव सेवा को माधव सेवा मानकर की जा रही सेवा के चलते कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन के संसाधनो की कमी धीरे-धीरे कम होती जा रही है, जहां एक ओर कोविड पीड़ित मरीजों की ऑक्सीजन आवश्यकता को शासन, प्रशासन के प्रयासों के माध्यम से पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है, वहीं ऑक्सीजन की कमी काफी हद तक कम करने में समाजसेवी भी आगे आकर ऑक्सीजन मशीनों को उपलब्ध करवाने में जुटे है, जिससे जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लड़ाई शासन, प्रशासन और समाजसेवी मिलकर लड़ते हुए इसे जिले से समूल खत्म करने के लिए प्रयासरत है। अपनी पूर्व घोषणा अनुसार जिले के समाजसेवी राजेश पाठक ने जिले में ऑक्सीजन की कमी से जूझते हुए कोविड मरीजों के लिए जिला प्रशासन को 20 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन सौंपी है, चूंकि भातृशोक के कारण समाजसेवी राजेश पाठक बालाघाट में नहीं है, इसलिए यह मशीनें उनके पुत्र पवन पाठक ने कलेक्टर दीपक आर्य को सौंपी। जिसे गोंगलई कन्या परिसर स्कूल में खुलने वाले कोविड केयर सेंटर में स्थापित किया जायेगा। समाजसेवी राजेश पाठक ने दूरभाष पर चर्चा करते हुए कहा कि वह जिले में बढ़ती कोरोना महामारी को लेकर चितिंत है और उन्हें विश्वास है कि कोरोना से मिलकर लड़ी, जाने वाली लड़ाई में हम कोरोना को एक बार फिर मात देकर हम जीतंेगे। उन्होंने कहा कि जल्द ही 20 और मशीनें जिला प्रशासन को जिले में ऑक्सीजन की कमी से जूझते मरीजों को शीघ्र ही सौंपी जायेगी।

गौरतलब हो कि जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर में मरीजों के ईलाज का दबाव जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पर आ गया है। हालांकि शासन के निर्देशों के तहत कोविड प्रभारी मंत्री रामकिशोर कावरे और स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार जिले में मरीजों को बेहतर उपचार सुविधा दिलाने का प्रयास जारी है, लेकिन ऑक्सीजन की कमी, कोविड से जूझते मरीजो के लिए महसुस की जा रही थी। जिसे देखते हुए जिले के समाजसेवी ने आगे आकर इस कमी को पूरा करने का बीड़ा उठाया। जिसमें जहां लगातार विभिन्न सामाजिक संगठन और समाजसेवियों ने ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन को उपलब्ध करवाया है, जहां कुछ सामाजिक संगठन स्वयं ऑक्सीजन सप्लाई चेन में जुटे है, वहीं समाजसेवी शासन, प्रशासन के साथ मिलकर ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने में जुटे है, जिसमें समाजसेवी राजेश पाठक के निर्देश पर पुत्र पवन पाठक द्वारा 20 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन मशीन गत 5 मई को कलेक्टर दीपक आर्य को सौंपी गई। 

वैश्विक महामारी कोरोना आज भयावह स्थिति में पहुंच गया है, सबसे ज्यादा कोरोना महामारी से पीड़ित लोगांे के लिए बेड, ऑक्सीजन और जरूरी दवाओं की आवश्यकता महसुस की जा रही है, जिसको लेकर शासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अब स्वयंसेवी संस्थायें और समाजसेवी लोग कोरोना महामारी को हराने प्राण-प्रण से जुटे है और अपनी ओर से कोरोना महामारी से निपटने सेवाभाव के साथ कोरोना महामारी से जूझते लोगों के लिए जरूरी संसाधन उपलब्ध करवाने में लगे है। पूरे देश में और जिले में कोरोना महामारी से जूझते से जूझते लोगों में यदि सबसे ज्यादा कोई समस्या आ रही है तो वह ऑक्सीजन की है, शासन, प्रशासन के संसाधनों से मरीजों को मिलने वाली जरूरत की ऑक्सीजन मरीजांे की बढ़ती संख्या से नाकाफी है, जिसको लेकर समाजसेवियों ने अब मरीजों की सबसे महत्ती आवश्यकता ऑक्सीजन के संसाधन मुहैया करवाने का बीड़ा उठाया है। जिसमें समाजसेवी राजेश पाठक भी अपने साथी सहयोगियों के साथ पीड़ित मानवता के सेवार्थ ऑक्सीजन संसाधन मुहैया करवाने में आगे आये है। जिनके द्वारा ताईवान से मंगाई गई 10 लीटर की 40 ऑक्सीजन मशीने प्रशासन को सौंप दी गई है, जिससे 20 और नये मरीजो को ऑक्सीजन सेवा उपलब्ध हो सकेगी।

समाजसेवी, भाजपा वरिष्ठ सदस्य और नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के अध्यक्ष राजेश पाठक ने बताया कि आज पूरा देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में देश और प्रदेश में कोरोना से कड़ी कड़ाई लड रहा है। कोरोना की पहली लहर की अपेक्षा दूसरी लहर में कोरोना का रूप काफी बदला है, जिसे परास्त करने में शासन, प्रशासन प्रयासरत है लेकिन कोरोनो को परास्त करने में थोड़ा समय लगेगा। ऐसे समय में हमें धैर्य रखने के साथ ही यह आत्मविश्वास भी जगाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बढ़ने से कई न कई मरीजों की संख्या ज्यादा हो रही है, जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री रामकिशोर कावरे, कलेक्टर दीपक आर्य और पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी के साथ पूरा स्वास्थ्य प्रबंधन जिले में बढ़ते कोरोना को रोकने और बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर ईलाज की व्यवस्था बनाने में जुटा है। यही नहीं बल्कि जिले में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों और लगातार सामने आ रहे मरीजों को लेकर शासन, प्रशासन के साथ ही समाजसेवी संगठन, जागरूक नेता और स्वयंसेवी संस्थायें अपने-अपने स्तर पर सहयोग कर रही है। आज जिले में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर सबसे ज्यादा ऑक्सीजन की कमी महसुस हो रही है, जिसकी उपलब्धता की महत्ती आवश्यकता है। हालांकि शासन, प्रशासन और स्वास्थ्य अमला बढ़ते मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन और रेमडीसिविर दवाओं के साथ ही अन्य जरूरी ईलाज को दिलाने सतत प्रयासरत है और लगातार नये कोविड सेंटर भी खोले जा रहे है। जिले में मरीजों की महत्ती आवश्यकता ऑक्सीजन की कमी को लेकर मरीजों को ऑक्सीजन कैसे उपलब्ध करवाया जा सकें, इसके लिए सामाजिक स्तर पर भी वह विगत एक पखवाड़े से प्रयासरत थे। जिसके चलते ताईवान से 10 लीटर के ऑक्सीजन मशीन को बुलवाकर ऑक्सीजन की कमी से जूझते मरीजों को उपलब्ध करवा गया है। ताकि ऑक्सीजन की कमी से जूझते कोविड मरीजों की जिंदगी सुरक्षित रहे। उन्होंने बताया कि कुछ स्वयंसेवी संस्था और सहयोगियों की मदद से ताईवान से 40 ऑक्सीजन मशीन को बुलवाने के दिये गये ऑर्डर में अभी 20 मशीनों को प्रशासन को सौंप दिया गया है और आगामी दिनो में आने वाली 20 मशीनों को और सौंपा जायेगा। इस मशीन की खास बात यह है कि यह मशीन एक मिनट में 10 लीटर ऑक्सीजन जनरेट करेगी। जिसमें एक मशीन से दो मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचाई जा सकती है। हालांकि हमें पूरा विश्वास है कि जिस तरह से शासन, प्रशासन और स्वास्थ्य अमला जिले में कोरोना महामारी को रोकने और मरीजों को ईलाज पहुंचाने प्रयासरत है, उससे जल्द ही जिले में कोरोना को रोक लिया जायेगा। ऑक्सीजन की कमी से जूझते मरीजों के लिए ताईवान से मंगाई गई 10 लीटर की अभी 20 मशीनें मददगार साबित होगी। समाजसेवी श्री पाठक ने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि जिले में जल्द ही हम कोरोना को परास्त करेंगे, कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे। कोरोना को परास्त करने शासन, प्रशासन के साथ ही आम जनता भी अपने दायित्वों को समझे और इस कठिन लड़ाई में मिलकर इसका मुकाबला करें तो हम कोरोना को हराने में सफल होंगे। जिस प्रकार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान प्रदेश की जनता से आव्हान कर रहे है कि वह कोरोना गाईडलाईन का पालन करें। हमारी भी जिले के लोगों से करबद्ध अपील है कि वह कोरोना को परास्त करने के लिए कोरोना गाईडलाईन के तहत मॉस्क लगाये, बार-बार साबुन से हाथ धोयें, सामाजिक दूरियों का पालन करें और जरूरी हो तभी घर से बाहर निकले अन्यथा घर पर ही सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा कि सरकार के आदेशानुसार 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए लगाये जाने वाले कोरोना वेक्सिन टिका लगाया जा रहा है, जिसमें भी जिले के 18 वर्ष से ऊपर के लोगों से अपील की है कि वह कोरोना से बचाव के लिए टिकाकरण जरूर करायें। उन्होंने जिले की जनता को आश्वस्त किया कि यदि यदि सामाजिक संस्थाओं के कंधे से कंधा मिलाकर ऑक्सीजन की समस्या दूर नहीं हुई तो वह जिले में शासन, प्रशासन और सहयोगी संस्थाओं की मदद से ऑक्सीजन प्लांट लगाने का प्रयास करेंगे ताकि फिर किसी कोरोना मरीज को ऑक्सीजन की कमी से न जूझना पड़े।

समाजसेवी राजेश पाठक ने प्रशासन को सौंपी 20 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन

ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे कोविड मरीजों को मिलेगी राहत, कोरोना से मिलकर हम लड़ेंगे लड़ाई-पाठक

बालाघाट। जिले में समाजसेवी दानदाताओं की मानव सेवा को माधव सेवा मानकर की जा रही सेवा के चलते कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन के संसाधनो की कमी धीरे-धीरे कम होती जा रही है, जहां एक ओर कोविड पीड़ित मरीजों की ऑक्सीजन आवश्यकता को शासन, प्रशासन के प्रयासों के माध्यम से पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है, वहीं ऑक्सीजन की कमी काफी हद तक कम करने में समाजसेवी भी आगे आकर ऑक्सीजन मशीनों को उपलब्ध करवाने में जुटे है, जिससे जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लड़ाई शासन, प्रशासन और समाजसेवी मिलकर लड़ते हुए इसे जिले से समूल खत्म करने के लिए प्रयासरत है। अपनी पूर्व घोषणा अनुसार जिले के समाजसेवी राजेश पाठक ने जिले में ऑक्सीजन की कमी से जूझते हुए कोविड मरीजों के लिए जिला प्रशासन को 20 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन सौंपी है, चूंकि भातृशोक के कारण समाजसेवी राजेश पाठक बालाघाट में नहीं है, इसलिए यह मशीनें उनके पुत्र पवन पाठक ने कलेक्टर दीपक आर्य को सौंपी। जिसे गोंगलई कन्या परिसर स्कूल में खुलने वाले कोविड केयर सेंटर में स्थापित किया जायेगा। समाजसेवी राजेश पाठक ने दूरभाष पर चर्चा करते हुए कहा कि वह जिले में बढ़ती कोरोना महामारी को लेकर चितिंत है और उन्हें विश्वास है कि कोरोना से मिलकर लड़ी, जाने वाली लड़ाई में हम कोरोना को एक बार फिर मात देकर हम जीतंेगे। उन्होंने कहा कि जल्द ही 20 और मशीनें जिला प्रशासन को जिले में ऑक्सीजन की कमी से जूझते मरीजों को शीघ्र ही सौंपी जायेगी।

गौरतलब हो कि जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर में मरीजों के ईलाज का दबाव जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पर आ गया है। हालांकि शासन के निर्देशों के तहत कोविड प्रभारी मंत्री रामकिशोर कावरे और स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार जिले में मरीजों को बेहतर उपचार सुविधा दिलाने का प्रयास जारी है, लेकिन ऑक्सीजन की कमी, कोविड से जूझते मरीजो के लिए महसुस की जा रही थी। जिसे देखते हुए जिले के समाजसेवी ने आगे आकर इस कमी को पूरा करने का बीड़ा उठाया। जिसमें जहां लगातार विभिन्न सामाजिक संगठन और समाजसेवियों ने ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन को उपलब्ध करवाया है, जहां कुछ सामाजिक संगठन स्वयं ऑक्सीजन सप्लाई चेन में जुटे है, वहीं समाजसेवी शासन, प्रशासन के साथ मिलकर ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने में जुटे है, जिसमें समाजसेवी राजेश पाठक के निर्देश पर पुत्र पवन पाठक द्वारा 20 ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन मशीन गत 5 मई को कलेक्टर दीपक आर्य को सौंपी गई। 

वैश्विक महामारी कोरोना आज भयावह स्थिति में पहुंच गया है, सबसे ज्यादा कोरोना महामारी से पीड़ित लोगांे के लिए बेड, ऑक्सीजन और जरूरी दवाओं की आवश्यकता महसुस की जा रही है, जिसको लेकर शासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अब स्वयंसेवी संस्थायें और समाजसेवी लोग कोरोना महामारी को हराने प्राण-प्रण से जुटे है और अपनी ओर से कोरोना महामारी से निपटने सेवाभाव के साथ कोरोना महामारी से जूझते लोगों के लिए जरूरी संसाधन उपलब्ध करवाने में लगे है। पूरे देश में और जिले में कोरोना महामारी से जूझते से जूझते लोगों में यदि सबसे ज्यादा कोई समस्या आ रही है तो वह ऑक्सीजन की है, शासन, प्रशासन के संसाधनों से मरीजों को मिलने वाली जरूरत की ऑक्सीजन मरीजांे की बढ़ती संख्या से नाकाफी है, जिसको लेकर समाजसेवियों ने अब मरीजों की सबसे महत्ती आवश्यकता ऑक्सीजन के संसाधन मुहैया करवाने का बीड़ा उठाया है। जिसमें समाजसेवी राजेश पाठक भी अपने साथी सहयोगियों के साथ पीड़ित मानवता के सेवार्थ ऑक्सीजन संसाधन मुहैया करवाने में आगे आये है। जिनके द्वारा ताईवान से मंगाई गई 10 लीटर की 40 ऑक्सीजन मशीने प्रशासन को सौंप दी गई है, जिससे 20 और नये मरीजो को ऑक्सीजन सेवा उपलब्ध हो सकेगी। 

समाजसेवी, भाजपा वरिष्ठ सदस्य और नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के अध्यक्ष राजेश पाठक ने बताया कि आज पूरा देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में देश और प्रदेश में कोरोना से कड़ी कड़ाई लड रहा है। कोरोना की पहली लहर की अपेक्षा दूसरी लहर में कोरोना का रूप काफी बदला है, जिसे परास्त करने में शासन, प्रशासन प्रयासरत है लेकिन कोरोनो को परास्त करने में थोड़ा समय लगेगा। ऐसे समय में हमें धैर्य रखने के साथ ही यह आत्मविश्वास भी जगाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बढ़ने से कई न कई मरीजों की संख्या ज्यादा हो रही है, जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री रामकिशोर कावरे, कलेक्टर दीपक आर्य और पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी के साथ पूरा स्वास्थ्य प्रबंधन जिले में बढ़ते कोरोना को रोकने और बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर ईलाज की व्यवस्था बनाने में जुटा है। यही नहीं बल्कि जिले में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों और लगातार सामने आ रहे मरीजों को लेकर शासन, प्रशासन के साथ ही समाजसेवी संगठन, जागरूक नेता और स्वयंसेवी संस्थायें अपने-अपने स्तर पर सहयोग कर रही है। आज जिले में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर सबसे ज्यादा ऑक्सीजन की कमी महसुस हो रही है, जिसकी उपलब्धता की महत्ती आवश्यकता है। हालांकि शासन, प्रशासन और स्वास्थ्य अमला बढ़ते मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन और रेमडीसिविर दवाओं के साथ ही अन्य जरूरी ईलाज को दिलाने सतत प्रयासरत है और लगातार नये कोविड सेंटर भी खोले जा रहे है। जिले में मरीजों की महत्ती आवश्यकता ऑक्सीजन की कमी को लेकर मरीजों को ऑक्सीजन कैसे उपलब्ध करवाया जा सकें, इसके लिए सामाजिक स्तर पर भी वह विगत एक पखवाड़े से प्रयासरत थे। जिसके चलते ताईवान से 10 लीटर के ऑक्सीजन मशीन को बुलवाकर ऑक्सीजन की कमी से जूझते मरीजों को उपलब्ध करवा गया है। ताकि ऑक्सीजन की कमी से जूझते कोविड मरीजों की जिंदगी सुरक्षित रहे। उन्होंने बताया कि कुछ स्वयंसेवी संस्था और सहयोगियों की मदद से ताईवान से 40 ऑक्सीजन मशीन को बुलवाने के दिये गये ऑर्डर में अभी 20 मशीनों को प्रशासन को सौंप दिया गया है और आगामी दिनो में आने वाली 20 मशीनों को और सौंपा जायेगा। इस मशीन की खास बात यह है कि यह मशीन एक मिनट में 10 लीटर ऑक्सीजन जनरेट करेगी। जिसमें एक मशीन से दो मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचाई जा सकती है। हालांकि हमें पूरा विश्वास है कि जिस तरह से शासन, प्रशासन और स्वास्थ्य अमला जिले में कोरोना महामारी को रोकने और मरीजों को ईलाज पहुंचाने प्रयासरत है, उससे जल्द ही जिले में कोरोना को रोक लिया जायेगा। ऑक्सीजन की कमी से जूझते मरीजों के लिए ताईवान से मंगाई गई 10 लीटर की अभी 20 मशीनें मददगार साबित होगी। समाजसेवी श्री पाठक ने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि जिले में जल्द ही हम कोरोना को परास्त करेंगे, कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे। कोरोना को परास्त करने शासन, प्रशासन के साथ ही आम जनता भी अपने दायित्वों को समझे और इस कठिन लड़ाई में मिलकर इसका मुकाबला करें तो हम कोरोना को हराने में सफल होंगे। जिस प्रकार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान प्रदेश की जनता से आव्हान कर रहे है कि वह कोरोना गाईडलाईन का पालन करें। हमारी भी जिले के लोगों से करबद्ध अपील है कि वह कोरोना को परास्त करने के लिए कोरोना गाईडलाईन के तहत मॉस्क लगाये, बार-बार साबुन से हाथ धोयें, सामाजिक दूरियों का पालन करें और जरूरी हो तभी घर से बाहर निकले अन्यथा घर पर ही सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा कि सरकार के आदेशानुसार 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए लगाये जाने वाले कोरोना वेक्सिन टिका लगाया जा रहा है, जिसमें भी जिले के 18 वर्ष से ऊपर के लोगों से अपील की है कि वह कोरोना से बचाव के लिए टिकाकरण जरूर करायें। उन्होंने जिले की जनता को आश्वस्त किया कि यदि यदि सामाजिक संस्थाओं के कंधे से कंधा मिलाकर ऑक्सीजन की समस्या दूर नहीं हुई तो वह जिले में शासन, प्रशासन और सहयोगी संस्थाओं की मदद से ऑक्सीजन प्लांट लगाने का प्रयास करेंगे ताकि फिर किसी कोरोना मरीज को ऑक्सीजन की कमी से न जूझना पड़े।

Post a Comment

0 Comments