पेयजल लाइन के विरोध में नगर अध्यक्ष ने किया मार्ग जाम | Payjal line ke virodh main nagar adhyaksh ne kiya marg jaam

पेयजल लाइन के विरोध में नगर अध्यक्ष ने किया मार्ग जाम

आधे घंटे रहा मार्ग प्रभावित, राहगीर हुए परेशान

थाना प्रभारी की समझाइश के बाद मामला शांत

पेयजल लाइन के विरोध में नगर अध्यक्ष ने किया मार्ग जाम

धामनोद (मुकेश सोडानी) - नगर में जल आपूर्ति के लिए बिछाई जा रही पेयजल योजना न सिर्फ आमजन के लिए मुसीबत बनी बल्कि परिषद के लोगों के लिए भी समस्या का कारण बन चुकी है। लगातार ठेकेदार को समझाइश देने के बावजूद निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने के विरोध में शुक्रवार को नगर अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने सुंद्रेल चौराहे पर मार्ग जाम करने के लिए भीषण गर्मी में मार्ग पर बैठ गए। करीब आधे घंटे से अधिक समय मार्ग बाधित रहा जिससे दोनों छोर पर लंबी लाइनें लग गई ऐसे में बसों में सवार कर रहे मुसाफिर भीषण गर्मी  में परेशान हुए। थाना प्रभारी आर के यादव मौके पर पहुंचे और अध्यक्ष शर्मा को समझाइश देते हुए निर्माण कंपनी के विरोध में आवेदन देने की बात कही। आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ। इस दौरान बाइक सवार दो यहां वहां से गुजर गए किंतु बड़े वाहन इस जाम में फस गए।

पेयजल योजना बनी अभिशाप

नगर में एमपी यूडीसी विभाग के अंतर्गत बंसल कंट्रक्शन कंपनी गुड़गांव  द्वारा करीब 43 करोड़ में पेयजल योजना का कार्य किया जा रहा है। इस निर्माण में कंपनी समय अवधि से दुगना समय ले चुकी है बावजूद उसके निर्माण कार्य में गुणवत्ता की कमी, लापरवाही की शिकायतें आम जनों से लेकर जनप्रतिनिधि व स्वयं परिषद भी कर चुकी है। खास बात यह है कि पेयजल निर्माण योजना नगर के लिए कभी सौगात मानी जाती थी किंतु उसके निर्माण से लोग अभी अभिशाप भरी नजर से देख रहे हैं। सभी कालोनियों में निर्माण कंपनी द्वारा पाइप बिछाने के नाम पर गड्ढा खोद दिया गया, जिनके व्यवस्थित भरने व सुधार का कार्य नहीं किया जा रहा है। लोगों का कहना है कि लाइन डालने के दौरान कनेक्शन भी तुरंत दे दिये जाने चाहिए थे ताकि दोबारा मार्ग खोदने ने की स्थिति निर्मित ना हो। किंतु ठेकेदार की हठधर्मिता के सामने परिषद ने भी मानो घुटने टेक दिए हो।

निर्माण कार्य में दूरदर्शिता की कमी

यही नहीं कंपनी द्वारा  पाइपलाइन  डालने में नवीन मार्गो को खोदकर रख दिया प्रतिदिन साइकल व बाइक सवार इनकी लापरवाही का शिकार हो रहे हैं । कई लोग अपनी हड्डियां तक तुडवा चुके हैं। वर्षा काल के दौरान कई हादसे हुए। लापरवाही की हद तो तब हुई जब मार्ग में लगे तेवर जेसीबी मशीन से निकाले गए जिसके चलते कई पेवर्स  टूट गए और कई चोरी चले गए।

इंटेक वेल पर भी विवाद

मिली जानकारी के अनुसार  नर्मदा तट खलघाट स्थित धामनोद व पिथमपुर की पेयजल लाइन का एक कामन इंटरवेल बनाया गया। किस निर्माण में पीथमपुर के ठेकेदार द्वारा अतिरिक्त कुछ कार्य किया गया। जिसके भुगतान को लेकर भी निर्माण कार्य में बांदा उत्पन्न की जा रही है। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद वह कार्य शुरू हुआ।

कई बार समझाया, मजबूरन लेना पड़ा ठोस निर्माण

नगर अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने बताया कि निजी ठेकेदार द्वारा पेजल लाइन में लापरवाही बरती जा रही थी जिसका खामियाजा परिषद के लोग उठा रहे हैं आए दिन पेयजल की शिकायत को लेकर आमजन व जनप्रतिनिधि समस्या बता रहे है ठेकेदार व स्थानीय ठेकेदार को सैकड़ों बार समझाया कार्य में गति लाएं, कार्य व्यवस्थित करें किंतु लापरवाही की वजह से मजबूरन मुझे आज  ना चाहते हुए सड़क जाम जैसा ठोस कदम उठाना पड़ा। राहगीर परेशान हुए इस बात का मुझे भी खेद है।

थाना प्रभारी आर के यादव ने बताया कि इस प्रकार मार्ग बाधित कर अपनी  बात रखना गलत है। ठेकेदार के खिलाफ आवेदन देवे उचित कार्यवाही की जाएगी

Post a Comment

0 Comments