होळी त्यौहार वर परिवार मंधी खुशियाँ आना कोरोना नाही, कलेक्टर ने की ‘‘माझी होळी-माझ्या घरात‘‘ मनाने की अपील | Holi tyohar vr parivar mandhi khushiya aanaa corona nahi

होळी त्यौहार वर परिवार मंधी खुशियाँ आना कोरोना नाही, कलेक्टर ने की ‘‘माझी होळी-माझ्या घरात‘‘ मनाने की अपील

होळी त्यौहार वर परिवार मंधी खुशियाँ आना कोरोना नाही, कलेक्टर ने की ‘‘माझी होळी-माझ्या घरात‘‘ मनाने की अपील

बुरहानपुर (अमर दिवाने) - रंगो का त्यौहार जिसे हम होली के नाम से जानते है। होली का नाम सुनते ही बच्चें, बुजुर्ग, महिलाएं, पुरूष एवं युवाओं में अलग-अलग तरह के रंगों के साथ खेलने का विचार आते ही मन आनंदित हो उठता है। वर्तमान समय में कोरोना ने हमारे समाज को जकड़ रखा है। चूंकि होली हमारा राष्ट्रीय त्यौहार है और इसे भारत वर्ष में बडे़ ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। 

हर वर्ष की तरह इस बार की होली हम सब मिलकर एक नये तरीके से मनाने का प्रण लेते है। क्योंकि हम आप सभी जानते है कि हम कोरोना के काल से गुजर रहे है। जहां हमें आवश्यक सावधानियां बरतते हुए, हमारे त्यौहार को फीका ना रखते हुए उत्साह के साथ मनाना है। 

होळी त्यौहार वर परिवार मंधी खुशियाँ आना कोरोना नाही, कलेक्टर ने की ‘‘माझी होळी-माझ्या घरात‘‘ मनाने की अपील

जिला कलेक्टर ने की ‘‘माझी होळी-माझ्या घरात‘‘ मनाने की अपील  

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी प्रवीण सिंह ने समस्त जिलेवासियों को होली की अग्रिम बधाई व शुभकामनाएं देते हुए संबोधित किया है कि जिला प्रशासन आपकी सेवा में सदैव तत्पर है। उन्होंने जनता से अपील की है कि इस बार रंगो का त्यौहार ‘‘स्वयं की रक्षा एवं परिवार की सुरक्षा‘‘ बातों को ध्यान में रखकर मनायें। उन्होंने कहा कि भीड़ में ना जाये, ना ही भीड़ करें, होली घर पर ही अपने परिवार के साथ मनायें, चेहरे पर रंग ना लगायें, कोविड-19 के नियमों-हमेशा मास्क पहने, हाथों को बार-बार धोते रहे, सर्दी, खांसी, बुखार होने पर घर से बाहर ना निकले। उन्होंने बुरहानपुर वासियों जहां मराठी भाषा भी बोली जाती है। उन्हें मराठी भाषा में ही ‘‘माझी होली-माझ्या घरात‘‘,‘‘माझा परिवार-माझी होळी‘‘, ‘‘माझा कुटुम्ब-माझी होळी‘‘ स्लोगन के साथ होली का त्यौहार मनाने का संदेश दिया है। जिला प्रशासन जिलेवासियों से अपेक्षा करता है कि कोरोना की इस लड़ाई में आप सहयोग प्रदान करेंगे।



Post a Comment

0 Comments