बाला काँवर के मेला कार्यक्रम में दुकानदारों की काटी जा रही बिना सासन की अनुमति से रसीदे | Bala kanvar ke mela karyakram main dukandaro ki kati ja rhi bina sashan ki anumati

बाला काँवर के मेला कार्यक्रम में दुकानदारों की काटी जा रही बिना सासन की अनुमति से रसीदे

कीमत देख गरीब दुकानदारो के उड़े होश

बाला काँवर के मेला कार्यक्रम में दुकानदारों की काटी जा रही बिना सासन की अनुमति से रसीदे

भिंड (मधुर कटारे) - जानकारी अनुसार ।हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी सावन की काँवर का मेला आयोजन मेहँगाव तहसील की गल्ला मंडी परिसर में लगाया जाता है यहां पुराना प्राचीन मंदिर होने के कारण लोगो की आस्था भगवान शिव मंदिर पर बनी हुई है ।इस मेले में देख रेख की विवस्था नगर पालिका के द्वारा जिला प्रसासन के द्वारा हर बार की जाती रही है ।लेकिन अब की बार मेले में दुकान लगाने बाले दुकान दारों को परेसान किया जा रहा है ।जिस पर जिला प्रसासन का कही भी ध्यान नही है ।जब इस सम्बद्ध में जानकारी उपलब्ध करनी चाही तो किसी भी संस्था के द्वारा कोई भी जानकारी नही दी गई कुछ दुकान दारों को रसीद काट कर दुकान लगाए जाने की जगह उपलब्ध कराई गई है ।दुकान दारों को अलग अलग रसीद डॉ अम्बेडकर आध्यात्मिक आश्रम संघ के नाम से रसीद 400 रुपये से लेकर 500 रुपये तक की काटी जा रही है ।जिस पर पता मेहँगाव का डला हुआ है ।ऐसे में जिला प्रसासन को इस संस्था के बारे में कोई जानकारी न होना दुकानदार अपने आप को ठगी का शिकार होना महसूस कर रहे है 

बाला काँवर के मेला कार्यक्रम में दुकानदारों की काटी जा रही बिना सासन की अनुमति से रसीदे

निश्चित ही वरिष्ट अधिकारी इस समस्या पर संज्ञान ले जिससे काँवर मेले में कोरोना काल के बाद आम गरीब दुकानदारों को कमाने का अवसर प्राप्त हो सके साथ ही लोगो को ठगी से बचाया जा सके ।

Post a Comment

0 Comments