गर्मी ने दिखाने शुरू किए अपने रंग, दिल्ली में टूटा 75 साल पुराना रिकॉर्ड | Garmi ne dikhane shuru kiye apne rang delhi main tuta 75 saal purana record

गर्मी ने दिखाने शुरू किए अपने रंग, दिल्ली में टूटा 75 साल पुराना रिकॉर्ड

गर्मी ने दिखाने शुरू किए अपने रंग, दिल्ली में टूटा 75 साल पुराना रिकॉर्ड

होली के बाद से देश के अधिकांश शहरों का तापमान बढ़ने लगा है और मार्च की शुरुआत से ही पारे में बेतहाशा बढ़ोतरी दिख रही है। दिल्ली में ये महीना 1945 के बाद सबसे गर्म मार्च का महीना दर्ज किया गया। कल राजधानी का तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस रहा, जो 31 मार्च 1945 से बाद से मार्च का सबसे ज्यादा गर्म दिन था। राजस्थान और मध्य प्रदेश में भी तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है। मौसम विभाग ने दोनों राज्यों में लू चलने की चेतावनी जारी की है।

देश में सर्दी की विदाई की बाद से ही गर्मी का झलकियां दिखनी शुरु हो गई थीं, और मार्च के शुरुआती दिनों से तापमान चढ़ने लगा था। लेकिन बीच-बीच में होने वाली बारिश ने थोड़ी राहत दिलाई। अब देश के अधिकांश इलाकों में आसमान साफ और मौसम शुष्क हो गया है। होली के दिन से लेकर 31 मार्च तक ज्यादातर हिस्सों में तापमान में बढ़ोतरी की संभावना जताई जा रही है।

अगले कुछ दिनों की बात की जाए, तो सिर्फ उत्तर भारत में पहाड़ों, पूर्वोत्तर राज्यों में कुछ स्थानों और दक्षिण में केरल तथा दक्षिणी तटीय कर्नाटक में थोड़ी-बहुत बारिश हो सकती है। इसके अलावा इन सभी क्षेत्रों में पश्चिमी और उत्तर पश्चिमी दिशा से हवाएं चलेंगी। मौसम विभाग के मुताबिक देश के 90% शहर ऐसे होंगे जहां मौसम साफ और शुष्क रहने तथा तेज़ हवाएँ चलने की संभावना है।

वैसे अगले पांच दिनों के दौरान, पूर्वोत्तर भारत के राज्यों- असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में भारी वर्षा की आशंका व्यक्त की गई है। बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पश्चिम की ओर तेज हवाओं की वजह से इन इलाकों में गरज के साथ भारी वर्षा और बिजली कड़कने की संभावना है। इस दौरान 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी और ओले गिरने की आशंका भी व्यक्त की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक 30 और 31 मार्च को इसका सर्वाधिक असर रहेगा।

Post a Comment

0 Comments