एडीएम द्वारा 100 से अधिक मामलों पर जनसुनवाई की गई | SDM dvara 100 se adhik mamlo pr jansunvai ki gai

एडीएम द्वारा 100 से अधिक मामलों पर जनसुनवाई की गई

एडीएम द्वारा 100 से अधिक मामलों पर जनसुनवाई की गई

उज्जैन (रोशन पंकज) - मंगलवार को अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी द्वारा बृहस्पति भवन में 100 से अधिक मामलों पर जनसुनवाई की गई। महिदपुर निवासी अमरजीतसिंह दुआ पिता महेन्द्रसिंह दुआ ने आवेदन दिया कि उनके द्वारा सिंहस्थ-2016 के दौरान पंचक्रोशी यात्रा में टेन्ट व्यवस्था का सम्पूर्ण कार्य पिंगलेश्वर और अंबोदिया पड़ाव स्थल पर किया गया था, परन्तु आज दिनांक तक उनके द्वारा किये गये अतिरिक्त कार्य का भुगतान उन्हें नहीं किया गया है। भुगतान के लिये उन्होंने कई बार जिला पंचायत कार्यालय में आवेदन दिया, परन्तु अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है। इस पर संस्कृति शाखा को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देश दिये गये।

महिदपुर तहसील के ग्राम हिंगोनिया निवासी ग्यारसीबाई पति स्व.मोहनलाल परमार ने आवेदन दिया कि वे बीपीएल कार्डधारी हैं तथा उन्हें शासन द्वारा सन 2000 में भरण-पोषण के लिये कृषि भूमि पट्टे पर प्रदाय की गई। इस भूमि पर कृषि कार्य कर वे अपना और परिवार का पालन-पोषण करती चली आ रही थी। उन्हें निजी कार्य के लिये कुछ रुपयों की आवश्यकता थी तो उन्होंने स्थानीय व्यक्ति से आर्थिक सहायता इस करार के साथ ली थी कि जब तक वे राशि का भुगतान नहीं कर देती, तब तक उक्त व्यक्ति उनकी कृषि भूमि का उपयोग कर फसल प्राप्त करते रहेंगे। इसके अलावा प्रार्थिया को किसी प्रकार का ब्याज नहीं देना होगा, परन्तु उक्त व्यक्ति द्वारा उनकी कृषि भूमि पर कब्जा कर लिया गया है। इस पर एडीएम ने महिदपुर के एसडीएम को पूरे प्रकरण की जांच कर मामले में उचित कार्यवाही करने के लिये निर्देश दिये।

शहर की शिकारी गली निवासी इब्राहिम अंसारी पिता मोहम्मद सुबराती अंसारी ने आवेदन दिया कि वे पैरों से विकलांग हैं, इसीलिये उन्हें इलेक्ट्रीक ट्रायसिकल उपलब्ध करवाई जाये। इस पर डीडीआरसी के प्रशासनिक अधिकारी को कार्यवाही करने के लिये कहा गया।

नूरानी नगर नागझिरी निवासी सत्तार अंसारी पिता अब्दुल शकुर अंसारी ने आवेदन दिया कि उनकी पत्नी और बच्चों द्वारा उन्हें उनके ही स्वामित्व के मकान में रहने नहीं दिया जा रहा है तथा आयेदिन उनके साथ पत्नी और बच्चों द्वारा मारपीट और वाद-विवाद किया जाता है। इस पर पुलिस अधीक्षक उज्जैन को उचित कार्यवाही करने हेतु निर्देश दिये गये।

खाचरौद तहसील के ग्राम जूना शहर निवासी सईदाबी पति मोहम्मद रफीक ने आवेदन दिया कि उन्होंने बीमारी के उपचार हेतु पूर्व में आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में आवेदन दिया था, परन्तु आज दिनांक तक उन्हें राशि प्राप्त नहीं हो पाई है। इसलिये उन्हें आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई जाये। इस पर सम्बन्धित विभाग के योजना अधिकारी को नियमानुसार कार्यवाही करने के लिये कहा गया।

ग्राम ढाबलाहर्दू तहसील तराना के समस्त ग्रामीणजनों ने आवेदन देकर शिकायत की कि ग्राम पंचायत ढाबलाहर्दू के सरपंच और सचिव द्वारा ग्राम पंचायत से लगे रास्ते पर त्रुटिपूर्वक 190 फीट लम्बी नाली का निर्माण करा लिया गया है, जिस वजह से पूरे क्षेत्र में नाली का गन्दा पानी फैला जाता है। उक्त क्षेत्र में बच्चों का स्कूल भी है। उनके स्वास्थ्य पर भी गन्दगी का बुरा प्रभाव पड़ रहा है। ग्रामीणजनों ने कई बार इस सम्बन्ध में आवेदन किया, परन्तु अब तक कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है। अत: शीघ्र-अतिशीघ्र इस समस्या का निराकरण करवाया जाये। इस पर सीईओ जनपद पंचायत तराना को तुरन्त मौके पर जाकर निरीक्षण कर समस्या का निराकरण करने के निर्देश दिये गये। इसी प्रकार अन्य मामलों में एडीएम, अपर कलेक्टर श्री अवि प्रसाद, सीईओ जिला पंचायत श्री अंकित अस्थाना और अन्य अधिकारियों द्वारा जनसुनवाई की गई।

Post a Comment

0 Comments