किसान आन्दोलन को कांग्रेस का समर्थन, खलघाट में दो घंटे सांकेतिक चक्का जाम, पुलिस ने किया यातायात डायवर्ट | Kisan andolan ko congress ka samrthan khalghat main do ghante sanketik chakka jaam

किसान आन्दोलन को कांग्रेस का समर्थन, खलघाट में दो घंटे सांकेतिक चक्का जाम, पुलिस ने किया यातायात डायवर्ट

किसान आन्दोलन को कांग्रेस का समर्थन, खलघाट में दो घंटे सांकेतिक चक्का जाम, पुलिस ने किया यातायात डायवर्ट

धामनोद/खलघाट (मुकेश सोडानी/मुकेश  जाधव) - केन्द्र सरकार की ओर से बनाए गए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर जारी आन्दोलन के तहत किसानों की ओर से किए गए चक्का जाम का  कांग्रेस ने भी समर्थन किया है।  शहर कांग्रेस की ओर से खलघाट सर्किल पर जाम लगाया। इस दौरान वाहनों की लगी कतार के बाद पुलिस ने वाहनों को  टोल की दूसरी ओर से डायवर्ट कर दिया। करीब दो घंटे  सांकेतिक जाम के बाद मार्ग खोल दिया इस दौरान थाना प्रभारी राजकुमार यादव सहित पुलिस प्रशासन भी अलर्ट रहा।

किसान आन्दोलन को कांग्रेस का समर्थन, खलघाट में दो घंटे सांकेतिक चक्का जाम, पुलिस ने किया यातायात डायवर्ट

खलघाट सर्किल पर करीब साढे़ बारह बजे से जाम लगाकर शहर कांग्रेस कमेटी ने विरोध किया। इस दौरान वहां पर  विधायक पाचीलाल मेड़ा कमल किशोर पाटीदार कमल किशोर पाटीदार भीम सिंह ठाकुर कमल मालाधारी  शब्बीर पहलवान कमल यादव नारायण  हलाववाला संजय पवार मलखान सिंह पटेल संजय पाटीदार प्रदीप ठाकुर विजय शर्मा शिव धाकड़  राजू बेन चौहान अश्विन जायसवाल लोकेश यादव विनय पाटीदार  आदि मौजूद रहे। जाम के दौरान पुलिस ने वाहनों को डायवर्ट कर दिया। करीब दो घंटे बाद कांग्रेसियों ने जाम खोल दिया।

किसान आन्दोलन को कांग्रेस का समर्थन, खलघाट में दो घंटे सांकेतिक चक्का जाम, पुलिस ने किया यातायात डायवर्ट

अपने व्यक्तत्व में विधायक मेड़ा ने कहा कि देश के लाखों किसान कईं दिनों से केन्द्र सरकार के किसान विरोधी तीन काले कानूनों के विरोध में शांतिपूर्ण व गांधीवादी तरीके से आंदोलन कर रहे है एवं देश व्यापी प्रदर्शन कर रहे हैं। यह आंदोलन देश के अन्नदाता के वर्तमान और भविष्य को बचाने का संघर्ष है। मोदी सरकार अहंकार और सत्ता का दुरुपयोग कर इस आंदोलन को बदनाम करने व किसानों की भावनाओं को आहत करने की जो साजिशें रच रही हैं, उसका विरोध है।

मौजूद नेताओं का कहना था कि कांग्रेस पार्टी पहले दिन से ही किसानों और किसान संगठनों के समर्थन में सबसे अग्रिम पंक्ति में रही है और कांग्रेस पार्टी ने इस केंद्र सरकार से लगातार मांग की है कि किसानों के पक्ष में यह सरकार अपने अहंकार और पूर्वाग्रह को त्याग कर कानूनी तरीके से किसानों की मांगों को माने और इन तीन काले कानूनों को रद्द करें।

जमकर हुई नारेबाजी

मौजूद कांग्रेसियों ने अपने भाषण में जमकर सरकार की आलोचना की उन्होंने बताया कि मोदी सरकार किसान विरोधी सरकार है जो किसान पिछले 70 दिनों से अपने हक की लड़ाई के लिए लड़ रहे हैं उन्हें कुछ और ही नाम  दिया जा रहा है यदि वह लोग किसान नहीं तो फिर समझो तो की बात क्यों की जा रही है  कांग्रेसी ने जमकर भाजपा सरकार पर निशाना साधा और नारेबाजी की वहां पर थाना प्रभारी राजकुमार यादव पूरे समय मौजूद रहे उन्होंने पूरे यातायात व्यवस्था को डायवर्ट किया।

Post a Comment

0 Comments