अयोध्यापुरम से पालीताणा छःरिपालक यात्रा संघ आयोजित | Ayodhyapuram se palitana chha ripalak yatra sangh ayojit

अयोध्यापुरम से पालीताणा छःरिपालक यात्रा संघ आयोजित

अयोध्यापुरम से पालीताणा छःरिपालक यात्रा संघ आयोजित

राजगढ़ (संतोष जैन) - दादा गुरुदेव की पाट परम्परा के वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा., मुनिराज श्री पीयूषचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री रजतचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री चन्द्रयशविजयजी म.सा., मुनिराज श्री पुष्पेन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री रुपेन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जिनचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जनकचन्द्रविजयजी म.सा. एवं साध्वी श्री किरणप्रभाश्री जी म.सा. आदिठाणा 5 की पावनतम निश्रा में श्रीमती गेरोदेवी जेठमलजी जैन बालगोता परिवार के लालचंदजी, गौतमजी, अभिषेकजी बालगोता परिवार मेंगलवा/मुम्बई/दिल्ली, लेहर कुन्दन ग्रुप द्वारा अयोध्यापुरम से पालिताणा का 6 दिवसीय छःरिपालक यात्रा संघ का भव्य आयोजन किया गया । 12 फरवरी को प्रातः 6 बजे संघ प्रयाण विधि विधान के बाद संघवी श्री मोहनलालजी शंकरलालजी जैन बागरा परिवार ने छःरिपालित संघ आयोजक परिवार को विजय तिलक कर अयोध्यापुरम से संघ को विदाई दी । इससे पूर्व संध्या में पूर्व राज्यसभा सांसद श्री मेघराजजी जैन ने बालगोता परिवार का बहुमान किया । झाबुआ से आये वर्षीतप आराधकों के यात्री संघ के आयोजक श्री मनोहरलाल मोदी परिवार ने भी बालगोता परिवार का बहुमान किया । बालगोता परिवार ने भी मोदी परिवार को यात्री संघ आयोजन हेतु सम्मानित किया ।

अयोध्यापुरम से पालीताणा छःरिपालक यात्रा संघ आयोजित

इस यात्रा संघ का प्रथम पड़ाव 12 फरवरी को श्री महेन्द्रपुरम तीर्थ पर हुआ जहां बेसते माह की प्रभावशाली महामांगलिक श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ विकास प्रेरक प.पू. गच्छाधिपति आचार्यदेव श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. ने संघ यात्रियों को श्रवण कराई । प्रातः स्नात्र पूजन हुआ । संघ यात्रा में 70 से अधिक यात्रीयों ने आयम्बिल तप एवं शेष यात्रीयों ने एकासना, बियासना किया । शाम को राजाकुमारपाल बनकर आरती उतारी । प्रतिदिन देवेश जैन एण्ड पार्टी द्वारा संगीतभक्ति संध्या का आयोजन किया जा रहा है ।

14 फरवरी को संघ यात्रा का भव्य आगमन श्री विद्याधाम तीर्थ पर होगा जहां श्री बालगोता परिवार का श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी एवं श्री विद्याधाम ट्रस्ट द्वारा अभिनन्दन किया जावेगा साथ ही रात्रि में श्री विद्याधाम पाश्र्वनाथ प्रभु की 108 दीपको से महाआरती उतारी जावेगी ।



Post a Comment

0 Comments