त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश | Triveni sangrahlay kholne ke samay main vraddhi

त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश

पर्यटन, संस्कृति एवं अध्यात्म मंत्री सुश्री ठाकुर ने त्रिवेणी संग्रहालय में बैठक के बाद महाकाल विकास कार्यों का निरीक्षण कर सांदीपनि आश्रम में दर्शन किये

त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश

उज्जैन (रोशन पंकज) - प्रदेश की पर्यटन, संस्कृति एवं अध्यात्म मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने आज शनिवार 2 जनवरी को उज्जैन प्रवास के दौरान त्रिवेणी कला एवं पुरातत्व संग्रहालय के सभाकक्ष में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित कर निर्देश दिये कि त्रिवेणी संग्रहालय खोलने का समय प्रात: से शाम तक होना चाहिये। उन्होंने निर्देश दिये कि महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना के लिये स्थल चयन किया जाये, ताकि आने वाली पीढ़ी को उज्जयिनी की धार्मिक, आध्यात्मिक एवं पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 12 माह में एक बार लगने वाले महाकुंभ के बारे में जानकारी मिल सके। बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने महाकाल विकास के सम्बन्ध में किये जा रहे निर्माण कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी से अवगत कराया।

त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश

पर्यटन, संस्कृति एवं अध्यात्म मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ महाकाल विकास योजना के अन्तर्गत किये जा रहे निर्माण कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने निर्माण कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि महाकाल मन्दिर के आसपास हो रहे विराट निर्माण कार्यों के स्वरूप से आने वाले समय में भव्य क्षेत्र दिखाई देगा। इससे पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा और बाहर से आने वाले श्रद्धालुगण देवदर्शन के पहले त्रिवेणी संग्रहालय के समीप किये जा रहे भगवान श्री महाकालेश्वर के अनेक रूपों में बनाई जा रही प्रतिमाओं का अवलोकन करने के साथ-साथ त्रिवेणी संग्रहालय को भी देख सकेंगे। उन्होंने कहा कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाये, ताकि धर्म, अध्यात्म एवं पर्यटन से जुड़े लोग और अधिक से अधिक उज्जयिनी में आकर देवदर्शन के साथ-साथ अन्य स्थलों का भी अवलोकन कर लाभ ले सकें। निर्माण कार्यों के अवलोकन के बाद मंत्री सुश्री ठाकुर ने त्रिवेणी संग्रहालय का अवलोकन किया।

त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश

मंत्री सुश्री ठाकुर ने सान्दीपनि आश्रम में दर्शन कर भगवान श्रीकृष्ण के द्वारा 14 विधाओं एवं 64 कला दीर्घाओं का अवलोकन किया। उन्होंने इस अदभुत स्थल के निरीक्षण के दौरान कहा कि ईश्वर ने अपने जीवन में उक्त विधाओं, कलाओं को सीखा है। उज्जयिनी में और कुछ क्या नवाचार हो सकता है, इस पर भी विचार किया जायेगा।

त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश

पर्यटन, संस्कृति एवं अध्यात्म मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने निर्देश दिये कि आमजन में कुंभ मेले के विविध पक्षों को प्रचारित करने के लिये महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना के लिये स्थल चयन किया जाये। इसी तरह कला एवं कौशल विकास अकादमी की स्थापना हेतु भी स्थल का चयन करने के लिये कहा गया है, जिससे आमजन में अधिक से अधिक धर्म, अध्यात्म एवं पर्यटन को और अधिक बढ़ावा मिले। उन्होंने रेलवे स्टेशन तथा पर्यटन स्थल व तीर्थ स्थलों पर टूरिज्म सेन्टर की स्थापना के लिये भी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उज्जैन दर्शन बस सेवा में संस्कृति विभाग की इकाईयों को भी शामिल किया जाये। उन्होंने कहा है कि उज्जैन तीर्थ बस सेवा के टिकिट के साथ-साथ संस्कृति विभाग की इकाईयों का भी भ्रमण कराया जा सके। मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने कहा कि उज्जैन में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत शहर के प्रमुख चौराहों पर लगाई गई एलईडी स्क्रीन में त्रिवेणी संग्रहालय और सान्दीपनि आश्रम के वीडियो का प्रदर्शन कराया जाये।

त्रिवेणी संग्रहालय खोलने के समय में वृद्धि, महाकुंभ शोध संस्थान एवं संग्रहालय की स्थापना हेतु स्थल चयन करने के निर्देश

इस अवसर पर प्रशासनिक अधिकारियों में कलेक्टर श्री आशीष सिंह, अपर कलेक्टर श्री अवि प्रसाद, नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, अपर कलेक्टर श्री जितेन्द्रसिंह, एडीएम श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, घट्टिया के एसडीएम, त्रिवेणी संग्रहालय की प्रबंधक सुश्री भावना व्यास आदि उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments