कड़ाके की ठंड में ठिठुर रहे खुले में रहने वाले, निगम का दावा अलाव के लिए सभी जगह की जा रही है लकड़ी की व्यवस्था | Kadake ki thand main thithur rhe khule main rehne wale

कड़ाके की ठंड में ठिठुर रहे खुले में रहने वाले, निगम का दावा अलाव के लिए सभी जगह की जा रही है लकड़ी की व्यवस्था

कड़ाके की ठंड में ठिठुर रहे खुले में रहने वाले, निगम का दावा अलाव के लिए सभी जगह की जा रही है लकड़ी की व्यवस्था

जबलपुर (संतोष जैन) - कड़ाके की ठंड पड़ रही है खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर लोगों को देर रात सर्द हवा से बुरा हाल है मुख्य मार्ग के किनारे फुटपाथ रेलवे स्टेशन बस स्टैंड के आसपास बड़ी संख्या में लोग खुले में रात बिता रहे हैं लेकिन ज्यादातर जगह अलाव की व्यवस्था नहीं नजर नहीं आ रही है उधर नगर निगम का दावा कर रहा है कि अलाव के लिए लकड़ी की व्यवस्था की जा चुकी है और भीड वाले सार्वजनिक स्थलों के आसपास लकड़ी रखी जा रही है 

रेन बसेरा में पहुंचा की भी पहल नहीं 

हर साल ठंड बढ़ने पर नगर निगम प्रशासन रात में अभियान चलाकर सड़क किनारे फुटपाथ सार्वजनिक स्थल बस स्टैंड रेलवे स्टेशन के पास और नर्मदा तटों के किनारे रह रहे लोगों को रैन बसेरा पहुंचाता है जिससे कि लोगों को ठंड से बचाया जा सके लेकिन इस साल अब तक इस दिशा में कोई पहल नहीं की गई है खुले में सो रहे लोग

Post a Comment

0 Comments