बालकों के साथ क्रूरता शोषण एवं उनकी तस्करी रोकने हेतु क्लब चलाएगा जन जागरूकता अभियान | Balako ke sath krurta shoshan evam unki taskari rokne hetu club chalaeg

बालकों के साथ क्रूरता शोषण एवं उनकी तस्करी रोकने हेतु क्लब चलाएगा जन जागरूकता अभियान

रामाकोना स्कूल में हुआ बाल संरक्षण क्लब 


छिंदवाड़ा/रामाकोना (गयाप्रसाद सोनी) - यूनिसेफ, आवाज संस्था एवं मध्य प्रदेश राष्ट्रीय सेवा योजना मध्य प्रदेश इन तीनो के संयुक्त तत्वाधान में  संपूर्ण मध्यप्रदेश में  बालकों पर होने वाले शारीरिक अत्याचार एवं शोषण  के खिलाफ  एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है । इस अभियान के पायलट प्रोजेक्ट के अंंतर्गत  बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल एवं रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर के अंतर्गत आने वाले रासेयो युक्त महाविद्यालयों एवं विद्यालयों में बाल संरक्षण क्लब का गठन किया जा रहा है।

                                रासेयो कार्यक्रम समन्वयक डॉ अशोक कुमार मराठे, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर एवं जिला संगठक डॉ वाय के शर्मा के निर्देशन पर विगत दिनोंं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रामाकोना में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के अंतर्गत बाल संरक्षण क्लब का गठन किया गया। क्लब के संरक्षक एवं संस्था प्राचार्य ए एच खान ने बताया कि यह क्लब क्षेत्र में बाल शोषण, बाल श्रम, बाल विवाह, बाल तस्करी , बाल भिक्षावृत्ति, बाल अपराध एवं बालकों के साथ क्रूरता व लैंगिक शोषण को रोकने हेतु विभिन्न जन जागरूकता अभियान चलाएगा।

बालकों के साथ क्रूरता शोषण एवं उनकी तस्करी रोकने हेतु क्लब चलाएगा जन जागरूकता अभियान

         क्लब के मार्गदर्शक एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के कार्यक्रम अधिकारी चंद्रकांत नाचनकर ने बताया कि दस सदस्यीय इस बाल संरक्षण क्लब का नेतृत्व  राष्ट्रीय सेवा योजना  इकाई  के वरिष्ठ स्वयंसेवक एवं सेविकाओं कर रहे हैं ।

            विदित हो कि छिंदवाड़ा जिले के रासेयो युक्त एकमात्र  शासकीय विद्यालय, रामाकोना  में इस क्लब के गठन की अनुमति उच्च कार्यालय से प्राप्त हुई है।

 ये है क्लब के सदस्य

कु. राधिका चौधरी-  सलाहकार, कु. अश्विनी भास्कौरे-अध्यक्ष, सत्यम टीटवारे- उपाध्यक्ष , कु. दीक्षा रूंघे- सचिव, कुणाल खारकर- सह सचिव एवं अन्य सदस्यों में कु. सीमा खंडाईत, कु. अस्मिता सोनेकर, कु.शीतल भास्कौरे, मयूर कामठे, महेश भक्ते एवं अमन कोलारे का समावेश है।

 चित्रकला के माध्यम से किया जागरूक

     जन जागरूकता की प्रथम कड़ी में मंगलवार को आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता में कुल 24 स्वयंसेवकों सेविकाओं सहित छात्र छात्राओं ने भाग लेकर  बाल श्रम ,बाल विवाह, बाल तस्करी , बाल भिक्षावृत्ति एवं बाल अपराध को रंगों के माध्यम से कैनवास पर उकेरा। प्रतियोगिता में प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त छात्र-छात्राओं को पुरस्कार प्रदान किया जायेगा। 

ये रहे चित्रकला प्रतियोगिता के विजेता
प्रथम- कु. दीपाली बागडे ,कक्षा बारहवीं
द्वितीय-कु. कीर्ति शिखर सिरसे, कक्षा बारहवीं
तृतीय- कु. निहारिका सूर्यवंशी, कक्षा दसवीं

Post a Comment

0 Comments