बैंड के साथ बरात प्रोसेशन आयोजन 500 मीटर के दायरे में हो सकेगा | Band ke sath barat prosession ayojan 500 meter ke dayre kain ho sakega

बैंड के साथ बरात प्रोसेशन आयोजन 500 मीटर के दायरे में हो सकेगा

जिला संकट प्रबंधन समूह की बैठक  लिया निर्णय

बैंड के साथ बरात प्रोसेशन आयोजन 500 मीटर के दायरे में हो सकेगा

रतलाम-झाबुआ (संदीप बरबेटा):- रतलाम जिला संकट प्रबंधन समूह की बैठक शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में आयोजित बैठक में शादी समारोह के दृष्टिगत निर्णय लिया गया कि जिले में बारात प्रोसेशन 500 मीटर तक बैंड के साथ आयोजित किया जा सकेगा। 

प्रोसेशन में मात्र 50 व्यक्ति ही सम्मिलित हो सकते हैं। बैठक में विधायक शहर श्री चैतन्य काश्यप, विधायक जावरा डा. राजेंद्र पांडे, विधायक रतलाम ग्रामीण श्री दिलीप मकवाना, कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. सुनील पाटीदार, एसडीएम श्री अभिषेक गहलोत, मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. शशि गांधी, सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर ननावरे, अधीक्षण यंत्री विद्युत श्री एल.के. सोनेजी, डॉ. गौरव बोरीवाल, डॉ. प्रमोद प्रजापति आदि उपस्थित थे।

    बैठक मे कलेक्टर श्री डाड ने कहा कि कोरोना के दृष्टिगत संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए प्रशासन सख्ती बनाए रखेगा, आमजन को कोरोना से बचाना प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। शादी समारोह में संक्रमण नहीं फैले, इस दृष्टिगत विवाह समारोह से जुड़े सभी व्यक्ति जैसे बैंड वाले, कैटरर्स, घोड़ी वाले, ब्यूटी पार्लर, विद्युत सज्जा, ढोल वाले इत्यादि व्यक्तियों का प्रत्येक 10 दिवस में कोरोना टेस्ट अनिवार्य रहेगा। उपरोक्त व्यक्तियों को अपने आईडी पर अपनी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट प्रदर्शित करना अनिवार्य होगा। कलेक्टर ने बताया कि कोचिंग क्लासेस फिलहाल बंद रहेंगे, मेलो पर भी प्रतिबंध रहेगा।

    बैठक में विधायक श्री काश्यप तथा श्री पांडे ने इस बात पर जोर दिया कि प्राइवेट चिकित्सालय में उपचार के लिए जाने वाले मरीजों की स्थिति रिस्क पर नहीं पहुंचे इसके लिए सख्त कदम उठाया जाना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि प्राइवेट हॉस्पिटल्स के लिए निर्देशित किया जा रहा है कि यदि उनके भर्ती मरीज का ऑक्सीजन लेवल एक निश्चित सीमा से नीचे जाता है तो वह मरीज को तत्काल शासकीय संस्था में या मेडिकल कॉलेज में रेफर करें। विधायक ने कहा कि उनके लिए एक्सरे सेंटर की भी मानिटरिंग की जाना आवश्यक है, वहां यह सुनिश्चित किया जाए कि एक्सरे कराने आया व्यक्ति कोरोना  संक्रमित नहीं हो।

    विधायक डॉ. पांडे ने कहा कि पूर्ण संक्रमण को फैलने से रोकने के दृष्टिगत ग्रामीण क्षेत्रों में मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ता सक्रियता के साथ कार्य करें। कलेक्टर श्री डाड ने एसडीएम शहर को निर्देश दिए कि शादी समारोह में भीड़ नियंत्रण के लिए उनका दल सक्रियता के साथ मोमेंट करें। मैरिज गार्डन संचालक के लिए अनिवार्य रहेगा कि गेट पर पल्स ऑक्सीमीटर, डिस्टेंस थर्मामीटर तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित करें। विधायक श्री काश्यप ने विगत 10 दिवसों पॉजिटिव हुए व्यक्तियों के डाटा एनालिसिस करने के लिए भी स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया जिससे पता चल सके कि किस प्रकार के, किस क्षेत्र के रहवासी व्यक्ति अधिक संक्रमित हो रहे हैं, इससे ठोस कारणों का पता लगाया जा सकेगा और बेहतर निराकरण संभव होगा।

Post a Comment

0 Comments