तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोपित के घर वन विभाग का छापा | Tendua ki khaal tasakri ke aropit ke ghar van vibhag ka chhapa

तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोपित के घर वन विभाग का छापा

तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोपित के घर वन विभाग का छापा

डिंडौरी (पप्पू पड़वार) - जंगल बचाओ अभियान में कार्य करने वाले तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोपित अरविंद बाबा के घर सोमवार की सुबह लगभग पांच बजे वन विभाग की टीम द्वारा छापामार कार्रवाई की गई। बाबा सहित उनके स्वजन के भारी विरोध के बीच वन अमले द्वारा कमरे का ताला तोड़कर बाबा के घर से बड़ी मात्रा में लाखों की इमारती लकड़ी जब्त की गई है। गौरतलब है कि संबंधित बाबा लगभग ड़ेढ दशक से जंगल बचाओ अभियान को लेकर कार्य करने का दावा करते रहे हैं। छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे हुए गांव में बाबा की अच्छी खासी पैठ है। 13 सितंबर 2016 को वन विभाग द्वारा संबंधित बाबा उसके बड़े भाई सहित दो अन्य लोगों को भरमार बंदूक के साथ तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। यह मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है और संबंधित बाबा जमानत पर है। तेंदुआ खाल तस्करी में जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था तब बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय आकर प्रदर्शन भी किया था।

तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोपित के घर वन विभाग का छापा

पटिया, चौखट सहित बल्लियां जब्त


वनग्राम में अरविंद बाबा द्वारा बड़ा पक्का मकान बनाया जा रहा है। छत डालने के लिए वन विभाग के अधिकारियों का आरोप है कि बाबा ने जंगल से लकड़ी कटवाकर लगवाईं थीं। एक कमरे का ताला तोड़कर 63 नग बीजा के पटिया, 20 नग साल की चौखत, 20 नग बल्लियां जहां जब्त कर वन परिक्षेत्र कार्यालय बजाग लाया गया है वहीं नवनिर्मित घर की छत डालने के लिए लगी सेंटिंग में 78 नग बल्लियां, 29 बीजा की पटिया और लगभग 35 नग दरवाजा और खिड़की की चौखट जो लग चुकी है उस पर जुर्माना लगाया जा रहा है। कुल चार लाख से अधिक की इमारती लकड़ियां बाबा के यहां से जब्त की गई हैं। लकड़ी के कोई दस्तावेज बाबा के पास नहीं मिले।

तेंदुआ की खाल तस्करी के आरोपित के घर वन विभाग का छापा

कार्रवाई होने पर थाना पहुंच गए बाबा


वन विभाग की चल रही छापामार कार्रवाई के बीच अरविंद बाबा ने बजाग थाना पहुंच लिखित शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में अरविंद बाबा ने आरोप लगाया कि उसने घर बनाने के लिए लकड़ी एकत्रित की थी। वन विभाग द्वारा सुबह पांच बजे से कार्रवाई की जा रही है। आठ घंटे से उसका घर घेरकर रखा गया है। उसने संदेह व्यक्त किया कि पिछली बार उसे झूठे मामले में फंसा दिया गया था, इस बार भी कोई षणयंत्र हो सकता है। यद्यपि बाबा जब्त हो रही लकड़ी के संबंध में कोई स्पष्टीकरण नहीं दे रहा।


चार लोगों को बनाया जा रहा आरोपित


वन विभाग द्वारा अरविंद कुशराम 48 वर्ष उसके बड़े भाई शिव कुमार कुशराम, राधेश्याम कुशराम और भतीजे गणेश कुशराम पर मामला दर्ज किया जा रहा है। वन विभाग द्वारा दोपहर एक बजे तक पूरे घर की तलाशी ली गई। आसपास भी तलाशी देर शाम तक जारी रही। कार्रवाई में डिंडौरी, बजाग, करंजिया, समनापुर, अमरपुर वन परिक्षेत्र का अमला भी शामिल हुआ।


लाल बत्ती लगाने से चर्चाओं में आया था बाबा


जंगल बचाओ मुहिम में कार्य करने वाला शीतल पानी निवासी अरविंद बाबा अपने चार पहिया वाहन में लाल बत्ती लगाकर घूमने से चर्चाओं में आया था। वर्ष 2012 तक बाबा को कई बार जिला मुख्यालय में भी अपने वाहन में लाल बत्ती लगाकर घूमते देखा गया था। उस समय तत्कालीन एसडीएम रहे आदेश राय द्वारा एक बार बाबा की बत्ती उतरवाकर वाहन भी जब्त किया गया था। अंचलों में बाबा का चार पहिया वाहन लाल बत्ती से ही दौड़ता था, लेकिन पुलिस उस पर कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पाती थी। बहरहाल प्रशासन की सख्ती के बाद लंबे समय से बाबा के वाहन में लाल बत्ती नहीं देखी गई।


बाबा और स्वजनों ने किया हंगामा


बजाग वन परिक्षेत्र अंतर्गत छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे ग्राम शीतलपानी में वन अमले की कार्रवाई दूसरे दिन मंगलवार को भी जारी रहेगी। डीएफओ मधु वी राज ने बताया कि अभी कार्रवाई पूरी नहीं हुई है। कार्रवाई पूरी होने के बाद विवरण सामने लाया जाएगा। सोमवार की सुबह जब बड़ी संख्या में अधिकारियों के साथ वन अमले की टीम कार्रवाई करने अरविंद बाबा के घर पहुंची तो तलाशी लेने के पहले बाबा सहित परिजनों ने बड़ा हंगामा किया। अधिकारियों ने जब सर्च वारंट होना बताया तो बाबा के भाई ने चिल्लाते हुए उसे फाड़ने की बात भी कही। वीडियो यह भी सामने आया है कि जिसमें बाबा मौजूद वन अमले को यह भी कहते नजर आ रहे हैं कि आप लोग सच्चे देशभक्त हो तो मेरा साथ दीजिए, गलत विभाग के अधिकारी हैं।


देर शाम तक जारी रही सर्चिंग


वन विभाग का बड़ी संख्या में अमला सुबह पांच बजे से दोपहर एक बजे अरविंद बाबा के घर में ही डेरा जमाए रखा। इसको लेकर अरविंद बाबा शिकायत करने बजाग थाना भी पहुंच गए। वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी कुछ तो वापस लौट आए, लेकिन कुछ देर शाम तक गांव के आसपास सर्चिंग में जुटे रहे। सवाल यह भी उठ रहा है कि जो चौखट बनने के साथ पटिया निकलीं हैं वह किसने और कहां निकालीं हैं। जंगल में कहां-कहां कटाई हुई है, इसकी भी जांच की जा रही है। गौरतलब है कि लंबे समय से अरविंद बाबा द्वारा वन विभाग को क्षेत्र में चिंहित पेड़ काटने में भी चुनौती दी जा रही थी। बाबा के घर से ही इतनी बड़ी मात्रा में इमारती लकड़ी बरामद होने से बाबा की पोल खुलती नजर आ रही है। बाबा पर कार्रवाई के बाद सोशल मीडिया में भी चर्चाओं का दौर दिनभर जारी रहा


बाबा और स्वजनों ने किया हंगामा


बजाग वन परिक्षेत्र अंतर्गत छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे ग्राम शीतलपानी में वन अमले की कार्रवाई दूसरे दिन मंगलवार को भी जारी रहेगी। डीएफओ मधु वी राज ने बताया कि अभी कार्रवाई पूरी नहीं हुई है। कार्रवाई पूरी होने के बाद विवरण सामने लाया जाएगा। सोमवार की सुबह जब बड़ी संख्या में अधिकारियों के साथ वन अमले की टीम कार्रवाई करने अरविंद बाबा के घर पहुंची तो तलाशी लेने के पहले बाबा सहित परिजनों ने बड़ा हंगामा किया। अधिकारियों ने जब सर्च वारंट होना बताया तो बाबा के भाई ने चिल्लाते हुए उसे फाड़ने की बात भी कही। वीडियो यह भी सामने आया है कि जिसमें बाबा मौजूद वन अमले को यह भी कहते नजर आ रहे हैं कि आप लोग सच्चे देशभक्त हो तो मेरा साथ दीजिए, गलत विभाग के अधिकारी हैं।


देर शाम तक जारी रही सर्चिंग


वन विभाग का बड़ी संख्या में अमला सुबह पांच बजे से दोपहर एक बजे अरविंद बाबा के घर में ही डेरा जमाए रखा। इसको लेकर अरविंद बाबा शिकायत करने बजाग थाना भी पहुंच गए। वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी कुछ तो वापस लौट आए, लेकिन कुछ देर शाम तक गांव के आसपास सर्चिंग में जुटे रहे। सवाल यह भी उठ रहा है कि जो चौखट बनने के साथ पटिया निकलीं हैं वह किसने और कहां निकालीं हैं। जंगल में कहां-कहां कटाई हुई है, इसकी भी जांच की जा रही है। गौरतलब है कि लंबे समय से अरविंद बाबा द्वारा वन विभाग को क्षेत्र में चिंहित पेड़ काटने में भी चुनौती दी जा रही थी। बाबा के घर से ही इतनी बड़ी मात्रा में इमारती लकड़ी बरामद होने से बाबा की पोल खुलती नजर आ रही है। बाबा पर कार्रवाई के बाद सोशल मीडिया में भी चर्चाओं का दौर दिनभर जारी रहा


वर्जन........


मैं मीटिंग में जबलपुर आ गया हूं। कार्रवाई की जानकारी है। अभी जांच चल रही है। बड़ी मात्रा में इमारती लकड़ी जब्त हुई है। चार लोगों को आरोपित बनाया जा रहा है।

मधु वी राज

वन संरक्षक डिंडौरी।

Post a Comment

0 Comments