इंदिराजी के योगदान ओर बलिदान को देश कभी भुल नही सकता-श्री पटेल | Indrajibke yogdan or balidan ko desh kabhi bhul nhi sakta

इंदिराजी के योगदान ओर बलिदान को देश कभी भुल नही सकता-श्री पटेल

जिला कांग्रेस ने पुर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी की जयंती राष्ट्रीय एकता दिवस के रुप मे मनाई

इंदिराजी के योगदान ओर बलिदान को देश कभी भुल नही सकता-श्री पटेल

अलीराजपुर। (रफीक क़ुरैशी) - जिला कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान मे गुरुवार को भारत की प्रथम महिला पुर्व प्रधानमंत्री एवं विष्वभर मे लोहा मनवाने वाली स्व. इंदिरा गांधी की जयंती हर्षोल्लास के साथ राष्ट्रीय एकता दिवस के रुप मे मनाई गई। कार्यक्रम मे नेताओ ने श्रद्धासुमन अर्पित कर स्व. श्रीमती गांधी के सपनो को साकार करने एवं राष्ट्रीय एकता का संकल्प भी लिया। इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल, विधायक मुकेश पटेल सहित बडी संख्या मे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

इंदिराजी के योगदान ओर बलिदान को देश कभी भुल नही सकता-श्री पटेल

*देश की एकता ओर अखंडता के लिए शहादत दी* 

मप्र कांग्रेस कमेटी के निर्देषानुसार जिला मुख्यालय कार्यक्रम मे कांग्रेसी नेताओ द्धारा बस स्टैण्ड स्थित चोराहे पर प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। इस दोरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओ द्धारा जब तक सुरज चांद रहेगा, इंदिरा तेरा नाम रहेगा, इंदिरा गांधी अमर रहे जेसे नारो से चैराहा गुंजामय हो गया। वहि जिला कांग्रेस कार्यालय पर नेताओ द्धारा स्व. इंदिराजी को श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। आयोजित पुष्पांजली सभा मे जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल ने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि पूरा देश उनके कार्यकाल में हुए विकास कार्यो के लिए सदैव कृतज्ञ रहेगा। इंदिराजी एक ऐसी जननायक नेत्री थी, जिन्होंने भारत को विश्व के अग्रणी देशों में स्थापित कर विष्वभर मे अपना लोहा मनवाया। उन्होने देश की एकता ओर अखंडता के लिए अपनी जान तक न्योछावर कर षहादत दे दी। इंदिराजी द्वारा देशहित में दिए गए योगदान ओर बलिदान को देश कभी भुल नही सकता है। विधायक मुकेश पटेल ने कहा कि श्रीमती गांधी आत्मविष्वास, सहज निर्णय, कुषल नेत्रत्व, राजनेतिक कुषलता के बल पर विष्व के राजनेतिक पटल पर एक षस्कत तथा अविस्मरणीय राजनेता के रुप मे जानी जाती है। देष की प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनकर उन्होने महिलाओ के आत्मसम्मान को बल दिया। कई सकारात्मक बदलाव लाकर आर्थिक उदारीकरण की शुरुआत की थी। श्रीमती गांधी देष की निडर प्रधानमंत्री के रुप मे मानी जाती थी। उन्होने अपने प्रधानमंत्री कार्यकाल के दोरान उन्होने पाकिस्तान से ईस्ट पाकिस्तान को अलग कराया था, जिसे अब बंगलादेष कहते है।

*ये रहे उपस्थित* 

इस अवसर पर कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष ओमप्रकाष राठोर, पुर्व जिलाध्यक्ष राधेष्याम माहेष्वरी, कांग्रेसी नेता पर्वतसिंह राठौर, खुर्षिद दिवान, अनिल थेपडिया, राजेंद्र टवली, दिलीप पटेल, राजेंद्र गुडडु, हाजी आरीफ ब्लौच, सुरेष परिहार, पप्पु पटेल, ष्याम राठौड सैंडी, सोनु वर्मा, राजु बामनिया, तैयबी बोहरा, ईरफान मंसुरी, बद्री राठौड, अंकित माहेष्वरी, धनराज राठोड सहित बडी संख्या मे कांगे्रसी नेता एवं कार्यकर्तागण उपस्थित थे। यह जानकारी जिला कांग्रेस मिडिया प्रभारी रफीक कुरैषी ने दी। 

Post a Comment

0 Comments