धनतेरस पर्व पर राष्ट्रसंत श्री प्रमुखसागरजी ने कुबेर खजाना का किया वितरण | Dhanteras parv pr rashtrasant shri pramukhsagar ji ne kuber khajana ka kiya

धनतेरस पर्व पर राष्ट्रसंत श्री प्रमुखसागरजी ने कुबेर खजाना का किया वितरण

दो गज़ दूरी और मास्क है जरूरी का पालन अनिवार्य  किया जाए

धनतेरस पर्व पर राष्ट्रसंत श्री प्रमुखसागरजी ने कुबेर खजाना का किया वितरण

जावरा (यूसुफ अली बोहरा) - धन्वंतरि जयंती एवं धनतेरस के पावन पर्व पर राष्ट्रसंत 108 श्री प्रमुखसागरजी महाराज ने सोमवारिया स्थित श्री दिगंबर जैन मांगलिक भवन में प्रवचन मैं उपस्थित श्रावक एवं श्राविकाओं को अभिमंत्रित श्री यंत्र एवं दोनों हाथों से कुबेर खजाना वितरित किया l


पुष्प योग समिति के प्रवक्ता रितेश जैन के अनुसार दीपावली एवं नूतन वर्ष के पंच महोत्सव की शुरुआत में शुक्रवार को प्रवचन देते हुए राष्ट्रसंत 108 श्री प्रमुखसागरजी महाराज ने कहा कि भगवान महावीर का निर्वाण पंच महोत्सव के दौरान हुआ जिसमें धनतेरस का अपना महत्व है धनतेरस केवल इसलिए नहीं आती कि हमें धन मिलेगा वास्तव में कहते हैं कि यह "धनतेरस धन्य हो गई तेरे आने से " l दीपोत्सव पर 3 प्रकार की लक्ष्मी आती है एक धनलक्ष्मी , दूसरी घर लक्ष्मी और तीसरी मोक्ष लक्ष्मी होती है इस संसार में हर किसी को तीनों ही लक्ष्मी की जरूरत है  घर परिवार चलाने के लिए गृह लक्ष्मी  , धन प्राप्ति के लिए धनलक्ष्मी और मोक्ष प्राप्ति हेतु मोक्ष लक्ष्मी भी आवश्यक है l भगवान महावीर धनतेरस को ध्यान में बैठ ध्यानस्त हो गए इसलिए भी जैन शास्त्रों में धनतेरस का काफी महत्व है l धनतेरस का दिन धन्वंतरि जयंती के रूप में भी मनाया जाता है क्योंकि धन्वंतरीदेवी का जन्म धनतेरस को हुआ  धन्वंतरी देवी ने आज ही के दिन अमृत पिया इसलिए वे देवता कहलाए और जो समुद्र मंथन में विष निकला वह भगवान शंकर ने पिया इसीलिए तो वे महादेव कहलाए.l

पूरी दुनिया ने धनवंतरी अर्थात  आयुर्वेद को आत्मसात किया है  आज का दिन आयुर्वेद चिकित्सा के जन्म का दिन भी कहलाता है आयुर्वेदिक दवाई हमेशा के लिए रोगी को रोग मुक्त बनाती है इसीलिए आयुर्वेद में कहा गया है कि पहला सुख निरोगी काया l धन्वंतरी देवी ने कहा है कि यदि काया निरोगी होगी तभी पूजा-पाठ होगी और व्यक्ति धर्म कर्म कर सकता है  यदि काया निरोगी होगी तो घर में माया आएगी और  सुलक्षणा नारी मिलने के साथ आज्ञाकारी पुत्र की प्राप्ति होगी l निरोगी काया के लिए योग का महत्व है इसीलिए बाबा रामदेव खुद रोज सुबह 4:00 बजे योगाभ्यास कराते हैं भौतिकवाद के इस युग में आदमी को पैसा कमाने के लिए भोजन करने की फुर्सत नहीं है इस कमाई धमाई के चक्कर में  वह  अपना  स्वास्थ्य खराब कर लेता है बाद में स्वस्थ बनने के लिए पैसा खर्च करता है l प्रवचन में आपने फरमाया की कोविड-19 अभी देश में मौजूद है हमारी प्रार्थना है कि दीपावली से यह चला जाए लेकिन हमें "दो गज दूरी मास्क है जरूरी " का पालन करना होगा l देखने में आ रहा है कि हर कोई मास्क नहीं लगा रहा और न सोशल डिस्टेंस का पालन कर रहा इसलिए हमें सावधानी की बहुत जरूरत है l


कार्यक्रम के प्रारंभ में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कान्हसिंह चौहान , भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष भेरूलाल पाटीदार , भाजपा जिला मंत्री सुनील भावसार , वरिष्ठ पत्रकार एवं अखिल भारतीय राठौर क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय सह प्रवक्ता जगदीश राठौर , रतलाम जिला रेडक्रास सोसाइटी के जिला प्रतिनिधि शिवेंद्र माथुर , एवं योग गुरु उमेश शर्मा के आदित्य में भगवान महावीर के चित्र का अनावरण एवं दीप प्रज्वलन से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ l कार्यक्रम के पूर्व नरसिंहपुरा जैन मंदिर से श्री महावीर स्वामी की प्रतिमा को मांगलिक भवन लाकर कमल सरोवर में विराजित किया गया तत्पश्चात पूजा विधि संपन्न की गई l शांतिधारा का लाभ पुष्य योग समिति के महामंत्री विजय औरा एडवोकेट एवं समाजसेवी मनोज बारोड ने लिया l कार्यक्रम का संचालन विजय औरा एडवोकेट एवं अंतिम कियावत ने किया l आभार के दायित्व का निर्वाह रितेश जैन ने किया l

Post a Comment

0 Comments