अखिल भारतीय मेवाड़ा माली समाज द्वारा कार्यकारिणी का गठन हुआ | Akhil bhartiya mewada mali samaj dvara karyakarini ka gathan hua

अखिल भारतीय मेवाड़ा माली समाज द्वारा कार्यकारिणी का गठन हुआ

अखिल भारतीय मेवाड़ा माली समाज द्वारा कार्यकारिणी का गठन हुआ

रतलाम (यूसुफ अली बोहरा) - अखिल भारतीय मेवाड़ा माली समाज नामली तहसील की कार्यकारिणी एवं गांव  सीखेड़ी धामनोद पलसोड़ा भरोड़ा गांव की कार्यकारिणीयों का गठन एवं नियुक्ति पत्र वितरण समारोह संपन्न हुआ कार्यक्रम में अखिल भारतीय मेवाड़ा माली समाज के रतलाम मंदसौर नीमच देवास जिलों के समाज बंधुओं ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष सुखलाल मोबिया मंदसौर जिला अध्यक्ष गोपाल मोबिया मंदसौर से वरिष्ठ सलाहकार राम नारायण  कनौजिया रतलाम जिला अध्यक्ष राजेश  कनौजिया ताल देवास जिले से गोविंद  गरोठिया सोहन  गरोठिया मदन लाल  मौर्य वकील साहब उन्हेल जावरा से जिला उपाध्यक्ष लच्छीराम भनोपा गिरधारीलाल माली राजेश  संरपंच मदन माली राजु मेवाडा़ तहसील अध्यक्ष दिलीप माली जीला संगठन मंत्री नन्दकिशोर माली ताल के साथ उनके पूरी टीम एवं नामली तहसील के समस्त पदाधिकारी सभी गांव के पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी सदस्यों के साथ ही इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सराहनीय योगदान मदन लाल सीखेड़ी वरिष्ठ सलाहकार तेजराम जी धांरवा नामली तहसील अध्यक्ष जिला कानूनी सलाहकार कैलाश शुक्ला तथा सभी समाज बंधुओं ने उत्कृष्ट कार्य करते हुए इस कार्यक्रम को सफल बनाया कार्यक्रम का संचालन जिला शिक्षा प्रभारी रमेश जी मोबिया ने किया

वही जावरा से जिला उपाध्यक्ष लच्छी राम भनोपा द्वारा अपने विचार प्रकट करते हुए बताया गया कि मेवाडा माली समाज के संगठन के कुछ उद्देश्य यह भी जो कि आपके सामने है जैसे कि👇👇👇👇👇👇

समाज में एकता हो क्योंकि एक अकेली लकड़ी को तोड़ना बहुत आसान होता लेकिन अगर लकड़िया खूब सारी इकट्ठा होकर एक हो जाए तो उसे तोड़ना काफी मुश्किल होता है इसीलिए इस कहावत की तरह समाज की एकता भी जरूरी है क्योंकि एकता ही सबसे बड़ी मिसाल है

समाज के भाई बंधु जो की आर्थिक स्थिति से टूटे हुए हैं उन्हें मजबूत बनाने के लिए हर वह प्रयत्न किया जाएगा ताकि समाज की आने वाली नींव और ज्यादा मजबूत बन सके ईट का जवाब पत्थर से देते हुए


वही समाज के अंदर बढ़ती अशिक्षिता इन दिनों रुकने का नाम ही नहीं ले रही है जहां पर कि एक तरफ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा जोर शोर पर है अगर देखा जाए तो बेटियां अगर शिक्षित होगी तो समाज और देश का नाम रोशन करेगी क्योंकि अक्सर  सुना है मैंने बेटों से ज्यादा नंबर बेटियों के आते हैं वहीं अगर देखा जाए तो समाज का हर बंधु यह तय कर ले कि उन्हें बेटे और बेटियों को इतना ज्यादा बढ़ाना है कि हर मेवाडा माली बंधु को गर्व हो

वही अगर समाज में राजनीति की बात की जाए तो ऊपरवाला किसी को भी बेवजह नहीं भेजता समाज के अंदर काफी ऐसे नवयुवक हैं जिन्हें राजनीति में आने का शौक भी है और एक हद तक जीत जाने का जुनून लेकिन इस जुनून को जीत में बदलने के लिए मेहनत के साथ - साथ जनता से जनसंपर्क की जरूरत होती है क्योंकि इतिहास गवाह है जो जनता का राज दुलारा होता है तो वहीं कल का राजनेता ऐसी कहीं बातों को लेकर हमारा समाज संगठन बनकर काम कर रहा हूं और बहुत ही जल्दी हमारे अखिल भारतीय मेवाड़ा माली समाज संगठन का पूरा प्रदेश में सभी जिलों का गठन कर प्रदेश कार्यकारिणी का गठन करने की दिशा में कार्य करने के लक्ष्य को लेकर हम सभी प्रयासरत हैं

Post a Comment

0 Comments