समोई बाबा देव तीर्थ स्थल पर ''आदिवासी परंपरा'' पुस्तक का हुआ विमोचन! samoli baba dev tirth sthal par aadiwasipampara oustak ka hua vimochan

 झाबुआ-  (कुन्दनपुर से जीतेन्द्र पंचाल ) कुदंनपुर से तीन किलोमीटर दूर छोटे से  ग्राम रेतालूँजा के रहने वाले  शिक्षक  ने  आज प्रसिद्ध  तीर्थ स्थल बाबा-देव समोई में अपनी लिखी हुई  पुस्तक  "आदिवासी परंपरा'' का विमोचन किया  गया । इस अवसर पर आदिवासी परंपरा पुस्तक के लेखक-शंभूसिग मेड़ा के द्वारा अपनी झाबुआ जिले के आदिवासियों के रहन-सहन खान-पान वेश-भूषा रीति-रिवाज और प्रकृति से जुड़कर जंगल में पशु-पक्षी के साथ अपना जीवनयापन कर रहे अपने समाज के आदिवासी भाईयों के बारे मे  इस पुस्तक में आदिवासी परंपरा का सम्पूर्ण वर्णन किया गया है । श्री अनिल कटारा सरजी ने आदिवासी समाज के रिति रिवाज को उजागर करने वाले  लेखक-शंभूसिग मेड़ा को बधाई दी एवं उनके उज्वल भविष्य के लिए हार्दिक हार्दिक शुभकामनायें दी ।


पुस्तक विमोचन में  उपस्थित सभी साथी श्री अनिल कटाराजी ,श्री राकेशजी डामोर,श्री नवलसिंहजी मेड़ा, श्री कतिजा सरजी और सहयोगी साथियों ने लेखक शंभूसिग मेडाजी को बहुत बहुत बधाई एवं हार्दिक हार्दिक शुभकामनायें दी ।

Post a Comment

0 Comments