मुख्यमंत्री ने पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस की मांग स्वीकार की नेपानगर की दशकों पुरानी समस्या का होगा निराकरण | Mukhyamantri ne purv mantri shrimati chitnis ki mang svikrat ki

मुख्यमंत्री ने पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस की मांग स्वीकार की नेपानगर की दशकों पुरानी समस्या का होगा निराकरण

मुख्यमंत्री ने पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस की मांग स्वीकार की नेपानगर की दशकों पुरानी समस्या का होगा निराकरण

बुरहानपुर। (अमर दिवाने) - मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) ने नेपानगर की दशकों पुरानी समस्या 300 एकड़ वन भूमि का नगर पालिका नेपानगर को हस्तांतरित करने एवं वन भूमि को राजस्व भूमि घोषित किए जाने हेतु पत्राचार किया था। जिसके परिणामस्वरूप नेपानगर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम धूलकोट में कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित करने आए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दशकों पुरानी समस्या के निदान करते हुए और अपनी स्वीकृति देते हुए जल्द से जल्द इसे अमलीजामा पहनाए जाने की बात कही। जिससे नेपानगर वासियों ने हर्ष व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस का धन्यवाद-आभार ज्ञापित किया।

मुख्यमंत्री ने पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस की मांग स्वीकार की नेपानगर की दशकों पुरानी समस्या का होगा निराकरण

पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने बताया कि भोपाल प्रवास के दौरान मुलाकात कर तथा पत्रों के माध्यम से मुख्यमंत्री को इस समस्या से अवगत कराया था। विगत कार्यकाल में नेपानगर में 300 एकड़ वन भूमि एवं नगरीय क्षेत्र में नेपानगर की बुनियादी नागरिक सुविधाएं नगर पालिका नेपानगर को हस्तांतरित करने के संबंध में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में दिनांक 17-07-2017 को मुख्य सचिव के प्रतिकक्ष में आयोजित बैठक में निर्णय लिया गया था। जिसमें से बुनियादी नागरिक सुविधाएं (स्वच्छता सफाई, स्ट्रीट लाईट, पेयजल) तो नगर पालिका को हस्तांतरित कर दी गई है, किन्तु 300 एकड़ भूमि आज दिनांक तक हस्तांतरित नहीं की गई है। जिसके कारण नेपानगर में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इस निर्णय के अमल में आने से 30 वर्ष से निवासरत् नागरिकों के पट्टा एवं शासन द्वारा दी जा रही सुविधाये भी मिल सकेंगी। नगर में भूमि की उपलब्धता नहीं होने के कारण रोजगार के साधन संभव नहीं हो पाते थे, अब रोजगार के द्वार खुलेंगे। इसके साथ ही भूमि नगर पालिका को हस्तांतरित होने से नगर पालिका द्वारा विकास के कार्य होेंगे, रोजगार के साधन उपलब्ध होेंगे, नगर पालिका को राजस्व मिलेगा तथा नागरिकों को भूमि पर प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ भी मिल सकेेंगा।

श्रीमती चिटनिस ने कहा कि उपरोक्त निर्णय के अमल में आने से समझौते के अनुसार 300 एकड़ वनभूमि को नगर पालिका नेपानगर को हस्तांतरित कर राजस्व की भूमि घोषित होगी। जिससे नगर में नागरिक शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं का नागरिकों को लाभ मिलेगा।

Post a Comment

0 Comments