कृषि उपज मंडी में आने वाले किसानों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नही होना चाहिए : सचिव वानखेड़े | Krishi upaj mandi main aane wale kisano ko kisi bhi prakar ki koi pareshani nhi hona chahiye

कृषि उपज मंडी में आने वाले किसानों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नही होना चाहिए : सचिव वानखेड़े

कृषि उपज मंडी में आने वाले किसानों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नही होना चाहिए : सचिव वानखेड़े

बुरहानपुर। (अमर दिवाने) - जिले में नवरात्रि एवं दशहरे के बाद से रेणुका माता रोड स्थित कृषि उपज मंडी में उपज की आवक बढ़ गई है। उपज बढ़ने के साथ नीलाम में देरी ओर नगद भुगतान को लेकर किसानों को कुछ समस्याए आरही है, किसान मंडी में परेशान न हो इसको लेकर 27 ऑक्टोम्बर मंगलवार को मंडी प्रबंधन ने व्यापारीयो के साथ बैठक ली। कृषि उपज मंडी भवन में हुई बैठक में मॉडल एक्ट के तहत मंडी के बाहर नीलाम होने से आवक पर प्रभाव पड़ने पर भी चर्चा की गई।

प्रभारी मंडी सचिव जयराम वानखेड़े ने बताया की अब किसान मंडी के बाहर भी उपज बेचने के लिए स्वतंत्र है। लेकिन यदि मंडी में किसानों को उचित दाम ओर सुविधाएं मिलेंगी तो किसान ज्यादा से ज्यादा उपज मंडी में ही लायेंगे। जिससे व्यापारियों का ही फायदा होंगा। इसलिए व्यापारी समय पर नीलाम शुरू करे और दो लाख रुपये तक के भुगतान उसी दिन नगद किसानों को करे। ताकि किसानों को बार बार चक्कर न लगाने पड़े। दो लाख रुपये से ज्यादा का भुगतान चेक या अन्य दूसरे माध्यमो से भी कर सकते हैं। वर्तमान में उपज आना बढ़ गई है, ज्यादा संख्या में किसान आने से नीलाम में भी समय लगता है। सभी व्यापारी समय पर नीलाम शुरू कर दे, ताकि किसानों को समश्या न हो सके। बैठक में व्यापारियों ने आश्वस्त किया है, कि किसी भी किसान को नगद भुगतान या किसी अन्य परेशानी का सामना नहीं करना होगा। किसानों को फिर भी कोई परेशानी अगर हो तो वह मंडी सचिव को शिकायत कर सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments