18 लाख गबन के आरोपित रोजगार सहायक की सेवा समाप्त | 18 lakh gaban ke aropit rojgar shayak ki seva samapt

18 लाख गबन के आरोपित रोजगार सहायक की सेवा समाप्त


डिंडौरी (पप्पू पड़वार) - 18 लाख गबन के आरोपित रोजगार सहायक पर लंबे इंतजार के बाद पद से पृथक करने की कार्रवाई की गई है। जनपद पंचायत डिंडौरी सीईओ द्वारा विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत कनईसांगवा के रोजगार सहायक भारत सिंह बिलागर की संविदा अनुबंध समाप्त करते हुए पद से पृथक किया गया है। जारी आदेश में उल्लेख किया गया कि रोजगार सहायक द्वारा निर्माण कार्यों में जमकर अनियमितता करने के साथ अपने और परिवार के सदस्यों के नाम से फर्जी जॉब कार्ड तैयार कर तीन लाख 71 हजार 868 रुपये का दुरुपयोग किया गया। यह मामला नईदुनिया ने लगातार प्रमुखता से उजागर किया था। 18 लाख के गबन के मामले में उपयंत्री ऋ षभ सिक्का, सरपंच सहित तत्कालीन सचिव पर अभी कोई कार्रवाई नहीं हुई है इस पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।


उपयंत्री सरपंच की भी अनियमितता में बड़ी भूमिका


अनियमितता के बड़े खेल में उपयंत्री ऋ षभ सिक्का और सरपंच की भी अहम भूमिका मानी जा रही है। तीन सदस्यीय जांच दल ने भी गबन में इन सभी को जिम्मेदार माना है। सूत्रों की मानें तो रोजगार सहायक पर कार्रवाई करके अन्य जिम्मेदारों पर कार्रवाई अटका दी गई है। गौरतलब है कि स्टाप डेम को बिना वरिष्ठ अधिकारियों की अनुमति के तोड़ने के साथ मनमानी पूर्वक स्टाप डेम अनुपयोगी स्थान पर बनाने के भी आरोप लगे हैं। फर्जी तौर पर मूल्यांकन करने, राशि निकालने के आरोप के बाद जांच में भी गबन सामने आया है। ग्रामीणों द्वारा इस पूरे खेल में शामिल सभी जिम्मेदारों पर कार्रवाई करने की मांग की जा रही है।


घानाघाट रोजगार सहायक को अतिरिक्त प्रभार


जनपद सीईओ द्वारा रोजगार सहायक भारत सिंह बिलागर को पद से हटाने की कार्रवाई आठ अक्टूबर को करने का आदेश में उल्लेख है जबकि यह पत्र पांच दिन बाद 13 अक्टूबर को सामने आया। जनपद सीईओ द्वारा ग्राम पंचायत घानाघाट के रोजगार सहायक ज्ञान सिंह चंदेल को ग्राम पंचायत कनईसांगवा का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। शिकायतकर्ताओं द्वारा जनपद सीईओ से इस पूरे मामले में शामिल उपयंत्री, सरपंच और तत्कालीन सचिव पर भी कार्रवाई की मांग की गई है।

Post a Comment

0 Comments