स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर स्वनिधि से मिली ऋण राशि से प्रसन्न है सुनीता भंडारे!strit wender atmanirbhar swanidhi se mili rind rashi

 

रतलाम - मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा संचालित की जा रही स्ट्रीट वेंडर्स कल्याण योजना उन लोगों के लिए वरदान साबित हुई है जो फेरी लगाकर धंधा करते हैं या बाजारों या पथ पर सामग्री का विक्रय करते हैं। विगत दिनों रतलाम में सब्जी की दुकान संचालित करने वाली सुनीता भंडारे को भी स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर स्वनिधि से10 हजार रूपए ऋण प्रदान किया गया है। इस राशि से उनकी सब्जी की दुकान अब नियोजित ढंग से चल निकली है, वे प्रसन्न है मुख्यमंत्री को धन्यवाद देती हैं।
ट वेंडर आत्मनिर्भर स्वनिधि से मिली ऋण राशि से प्रसन्न है सुनीता भंडारे


सुनीता को योजना से 10 हजार रुपए का बगैर ब्याज का ऋण उपलब्ध कराया गया है जो उनके स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अकाउंट में जमा हो चुका है। सुनीता ने बताया कि कोरोना काल तथा लॉकडाउन में परिवार की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई, दुकान संचालन नहीं हो सका। बाद में दुकान पुनः आरंभ की तो सब्जियां खरीदने के लिए आवश्यक राशि नहीं थी। ऐसे में सब्जी की दुकान चलाना मुश्किल हो रहा था तभी नगर निगम कार्यालय में स्ट्रीट वेंडर योजना के तहत पंजीयन कराया। नगर निगम कर्मचारियों ने उनकी दुकान पर आकर सत्यापन किया और हितग्राही सूची में उनका नाम सम्मिलित कर लिया। अब उनको योजना में 10 हजार रूपए का बगैर ब्याज का ऋण प्राप्त हो गया है।
सुनीता कहती हैं कि 10 हजार रूपए की राशि से उनकी सब्जी की दुकान और जीवन की गाड़ी पटरी पर आ गई है। ऋण राशि से मंडी का कुछ पुराना उधार चुकाया और रोजाना के सब्जी विक्रय के लिए भी अब उनके पास राशि उपलब्ध है। पहले राशि के अभाव में मंडी से सब्जियां नहीं ला पाती थी, दुकान खाली रहने से ग्राहकी भी नहीं हो पाती थी। अब स्थिति बदली है दुकान में विक्रय के लिए रोजाना सब्जी भरी रहती है। ग्राहक की भी खूब होती है। सुनीता रतलाम में डाट की पुलिया के पास अपनी सब्जी की दुकान संचालित करती हैं, इसके संचालन में उनका परिवार भी मदद करता है।

Post a Comment

0 Comments