11.500 किग्रा गांजे के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार | 11.500 kg ganje ke sath 3 aropi giraftar

11.500 किग्रा गांजे के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार

01 लाख 15 हजार की कीमत का है गांजा। इस मामले में और भी हो सकते है खुलासे


बालाघट  (देवेंद्र खरे) - कोतवाली पुलिस को मिली बड़ी सफलता। गांजा तस्करी करते तीन आरोपियों को पकड़ा जिनके पास से 11.500 किग्रा गांजा बरामद किया गया। जिसकी बाजार में कीमत 1 लाख 15 हजार रुपये है। मुखबिर की सूचना पर यह कार्यवाही की गई है। पड़ोसी जिला गोंदिया से खरीद कर बालाघाट में फुटकर व्यापारियों को बेचा करते थे।


बालाघाट शहर में मादक पदार्थ गांजा से आमजन में नशे की बढ़ती लत एवं गांजे के बेचने की सूचना पुलिस को आये दिन मिल रही थी जिसके बाद अपने वरिष्ठ अधिकारी के निर्देशन पर मुखबिर की सूचना पर कल गांजे की तस्करी करते 02 आरोपियों फिरोज खान और कमलेश बर्वे को पकड़ने में सफलता मिली। जिनके पास से 11.500 किग्रा गांजा जप्त किया गया। वही पूछताछ में इन्होंने बताया कि ये पड़ोसी जिला गोंदिया महाराष्ट्र के व्यापारी गोविंद अग्रवाल के पास से खरीद ते थे। जिसके बाद पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है। ये  मामला अन्तर्राजिय स्तर का है। आपको बता दे कि बालाघाट के दोनों आरोपी थोक में गोंदिया से खरीद कर लाते थे और फुटकर व्यापारियों को बेचा करते थे। वही नगर पुलिस  अधीक्षक कार्णिक श्रीवास्तव ने बताया कि इसमें और भी लोग शामिल हो सकते है। और आगे और भी खुलासे हो सकते है। आरोपियों के खिलाफ धारा 8,20 एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया है जिले में गांजे की तस्करी बड़े स्तर पर होती रही है पहले भी बड़ी मात्रा में जिले में गांजा पकड़ाया है। बावजू इसके जिले में गांजे की बड़ी मात्रा में तस्करी हो रही है। बालाघाट जिला महाराष्ट्र की सीमा से लगा हुआ जिला है। जिससे यहाँ बड़ी मात्रा में तस्करी होती है। बालाघाट से गोंदिया के बीच में पुलिस चौकियां पड़ती है। लेकिन तस्कर इतने शातिर है कि पुलिस की नाक के नीचे आसानी से एक जिले से दूसरे जिले में गांजे की तस्करी कर लेते है। अन्तर्राजिय सीमा होने के कारण दोनों जिलों की पुलिस सीमा पर मुस्तैदी से काम करती हैं। और हर आने जाने वालो पर अपनी पैनी नजर रखती है और जांच करती है उसके बावजूद भी इस तरह से तस्करों के पकड़ना एक बड़ा सवाल खड़े करता है।

Post a Comment

0 Comments