जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में हुआ हंगामा, कांग्रेस अध्यक्ष और विधायको ने किया बहिष्कार | Jila apda prabandhan samiti ki bethak main hua hungama

जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में हुआ हंगामा, कांग्रेस अध्यक्ष और विधायको ने किया बहिष्कार

जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में हुआ हंगामा, कांग्रेस अध्यक्ष और विधायको ने किया बहिष्कार

आलीराजपुर (रफीक क़ुरैशी) - सोमवार को कलेक्टोरेट कार्यालय पर कोविड19 अंतर्गत जिला आपदा संकट प्रबंधन समिति की बैठक सांसद गुमानसिंह डामोर की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक में झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया,अलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल,जोबट विधायक कलावती भूरिया कलेक्टर सुरभि गुप्ता, एसपी विपुल श्रीवास्तव, जिला पंचायत सीईओ जेन, झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया,जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल सहित समिति के अन्य सदस्यगण उपस्थित थे। बैठक के प्रारंभ होते ही कांग्रेस के विधायको एव जिला कांग्रेस अध्यक्ष पटेल ने विभिन्न मुद्दों को लेकर हंगामा कर दिया। उन्होंने जिला प्रशासन पर राजनीतिक दबाब में आकर काम करने के आरोप लगाए। महेश पटेल सहित कांग्रेस विधायक कांतिलाल भूरिया,कलावती भूरिया,मुकेश पटेल ने आरोप लगाया  कि जिला प्रशासन मनमानी पूर्वक कार्य कर रहा है।कोरोना संकट काल मे जिला प्रशासन केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार की गाइड लाइन का इस जिले में कोई पालन नही कर रहा है।प्रदेश में बड़े शहर के बाजार खुल रहे हैं परंतु आलीराजपुर एकमात्र ऐसा जिला है जहां कठोरता के साथ बाजारो को लोकडाउन को किया जा रहा है।जो कि घोर निंदनीय विषय है। कोरोना संक्रमित इलाको में मनमाने ढंग से कंटेन्मेंट एरिया बनाये जा रहे है।और लंबे दिनों तक उन्हें खोला नही जा रहा है।कन्टेन्टमेंट एरिया नही खुलने के कारण वहां के रहवासी काफी परेशान हो रहे है।रविवार ओर सोमवार साप्ताहिक हाट बाजार बंद रहने से दुकानदारों की हालत बड़ी खराब हो रही है।खरीदार लोग भी परेशान हो रहे है।अन्य दिनों में जिले में  सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक बाजार खोलने की अनुमति जिला प्रशासन ने रखी है।जबकि प्रदेश में अन्य शहर सुबह से लेकर देर रात खुल रहे है।फिर यहां जिला प्रशासन क्यो भेदभाव कर रहा है।महेश पटेल ने बताया कि कोरोना काल मे व्यापारियों और आम जनता के बुरे हाल हो गए है।छोटे मझले व्यापारी सबसे ज्यादा परेशान है।पर जिला प्रशासन को इनकी परेशानी से कोई सरोकार ही नही है।पटेल ने मांग रखी कि रविवार को सख्ती के साथ भले ही  लोक डाउन रखा जाए मगर अन्य दिनों में  कोविड 19 के नियम शर्तो का पालन करते हुए नगर सहित पूरे जिले के बाजार सुबह 8 से रात 8 बजे तक खुलना चाहिए।साप्ताहिक हाट बाजार भी खुलना चाहिए।ताकि छोटे बड़े व्यापारियों को रोजी रोटी मिल सके।साथ ही कोरोना संक्रमित क्षेत्र में सिर्फ दो तीन घरों को चिन्हित कर  छोटे कन्टेन्टमेंट एरिया बनाना चाहिए।और वह भी कुछ दिनों के लिए।


पटेल ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि नगर हित मे यदि उनकी मांगों को नही माना तो कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया जाएगा।आपने कोविड 19 में जिले में जमकर भ्र्ष्टाचार  होने का आरोप भी लगाया।आपने इसकी भी जानकारी जिला प्रशासन से मांगी है।आपने बताया को कोरोना संकट काल मे जो बजट आया है उसमें अधिकारी जमकर बन्दर बांट कर रहे हैं।इसका जवाब ओर हिसाब कांग्रेस उनसे जरूर मांगेगी ।  

ईस दौरान विधायक कांतिलाल भूरिया ने सांसद डामोर पर भी कई गम्भीर आरोप लगाए। भूरिया ने सांसद पर जिले में ठेकेदारी प्रथा पर चलाने के आरोप लगाए। उक्त जानकारी जिला कांग्रेस मीडिया प्रभारी रफ़ीक कुरेशी ने दी।

Post a Comment

0 Comments