बोहरा समाज ने आज अपने नव वर्ष हिज़री सन 1442 की शुरूआत की | Bohra samaj ne aaj apne nav varsh hijri son 1442 ki shuruat ki

बोहरा समाज ने आज अपने नव वर्ष हिज़री सन 1442 की  शुरूआत की

बोहरा समाज ने आज अपने नव वर्ष हिज़री सन 1442 की  शुरूआत की

अंजड़ (शकील मंसूरी) - इस्लामी कैलेंडर अनुसार बोहरा समाज ने आज अपने नव वर्ष हिज़री सन 1442 की  शुरूआत की, समाज के जोएब आसिफ ने बताया कि  दाऊदी बोहरा समाज दुनिया भर के लाखों मुसलमानों की तरह  पैगम्बर हज़रत मोहम्मद साहब( स.अ) के पोते इमाम हुसैन इब्ने  अली (अ .स)  की शहादत को इन दिनों में  याद करता है, 18 अगस्त  की रात को समाज जनों  ने नव वर्ष को अपने पारम्परिक रीति रिवाजों के साथ स्वागत कर अपने रिश्तेदारों एवं परिचितों को सोशल  मीडिया के जरिये एक दूसरे को नव वर्ष की मुबारकबाद पेश की , इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते धर्मगुरु डॉ  सैय्यदना मुफ़्फ़दल सैफुद्दीन  साहब  मोहर्रम में मुम्बई ( खंडाला) में ही तशरीफ  रखेंगे।

बोहरा समाज ने आज अपने नव वर्ष हिज़री सन 1442 की  शुरूआत की

हर साल आप जहां पर भी पधारते है,लाखो की तादाद में बोहरा समाज जन आपके साथ पहुँच कर आपके  प्रवचन एवं दर्शन का  लाभ लेते है, इस बार यह पहला मौका होगा कि इस वैश्विक महामारी के चलते कही पर भी समाज जन एकत्रित नही होंगे, एवं शासन के दिशा निर्दशों का पुर्ण से पालन कर अपने  अपने घरों में रहकर  मुंबई से  सीधे प्रसारण का लाइव प्रसारण देखगें, वाअज़ का समय  सुबह 10. 45 से 1 बजे तक रहेगा एवं शाम को  मगरिब इशा की नमाज के बाद 50 मिनीट की मजलिस होगी, 10 दिवसीय वाअज़  (प्रवचन,)  20  अगस्त से 28 अगस्त तक रहेगा, समाज जनों ने  अपने घरों को भी सजाधजा कर पूरी तैयारी कर ली है, इस वर्ष हर साल की तरह समुहिक भोज का आयोजन न करते हुए सभी समाजजनों को अपने घरों तक  टिफिन के जरिये फैज़ुल मवाईद कमेटी के सदस्य भोजन देने की खिदमत को अंजाम देंगे ,  इस साल बड़वानी में न्याज़ की  खिदमत ओझर वाला &फेमेली की ओर से की जा रही है,  बड़वानी से लगे आस पास के  गावो में भी समाज जनों को टिफिन भेजे जायेंगे, वही जमात के  आमिल साहब शेख युसुफ  भाई नजमी के मार्ग दर्शन में, जमात कमेटी,  शबाब कमेटी  बुरहानी गार्ड, दाना कमेटी, एवं अन्य  संस्थाओ के सदस्य विगत 8 दिन से लोगो के घरों में  जाकर व्यवस्थाओ का जायज़ा लेकर  समाजजनों को कोई परेशानी ना हो ,इसके पूरे इंतज़ाम कर  रहे है।

Post a Comment

0 Comments