वाल्मीकि संगठन मालिकाना हक मामले को लेकर मिला विधायक शेरा भैया से | Valmiki sangathan malikana haq mamle ko lekar mila vidhayak shera bhaiya se

वाल्मीकि संगठन मालिकाना हक मामले को लेकर मिला विधायक शेरा भैया से

अध्यक्ष उमेश जंगाले ने कहा इंदौर मे रिटायर कर्मीयो को मालिकाना हक दिया गया तो बुरहानपुर मे क्यो नही दे रहे।

इससे शासन के कोष मे होंगी लगभग 10 करोड की बड़ोत्री

वाल्मीकि संगठन मालिकाना हक मामले को लेकर मिला विधायक शेरा भैया से

बुरहानपुर। (अमर दिवाने) - अपनी लंबित मांग को लेकर वाल्मीकि संगठन के प्रतिनिधिमंडल ने आज विधायक ठाकुर सुरेंद्र सिंह (शेरा भैया) से भेंट कि और उन्हें समस्याओं से अवगत कराया। संगठन अध्यक्ष उमेश जंगाले ने बताया शेरा भैया वर्तमान मे शहर के विधायक एवं जनप्रतिनिधि है, इसी नाते हम लोग उन्हे अपनी समस्या बताने गए थे। भेंट के दौरान विधायक ने प्रतिनिधिमंडल की समस्या सुन नगर पालिक निगम आयुक्त भगवानदास भुमरकर को फोन कर कहा कि जो 60 कर्मचारी वर्तमान में कार्य कर रहे हैं, उन्हें मालिकाना हक देकर शेष बचे 110 रिटायर कर्मचारियों का शासन स्तर पर जल्द निराकरण करवाएं। इस बिच उमेश जंगाले ने विधायक से कहा की निगमायुक्त तो हमे बहुत पहले ही बोल चुके है, की 170 हितग्राहियो मे से 60 सफाई कर्मी जो वर्तमान मे निगम मे कार्य कर रहे है उनका मालिकाना हक ले सकते है।लेकिन हमारी मांग है की सर्वे किए जिसमे 170 रिटायर कर्मी भी शामिल है, उन सभी को भूमि का मालिकाना हक दिया जाये।  वह भी 70 वर्ष से अधिक समय से उन क्वाटरो मे निवास कर रहे है। और उन्हे सरकार ही पेंशन दे रही है तो वह आपात्र केसे हुए। वर्तमान मे सभी क्वाटर  जीर्ण-शीर्ण अवस्था मे है, जिनमे कई बार घटनाए घट चुकी है। ऐसे मे सभी को मालिकाना हक मिल जाये तो वह अपने खर्च से मकान बना सकते है। इंदौर जेसे शहर मे रिटायर कर्मियो को मालिकाना हक दिया गया तो बुरहानपुर मे क्यो नही दिया जा रहा है। इस कार्य से राज्य शासन के कोष मे भी लगभग 10 करोड की बड़ोत्री होंगी। इस दौरान विधायक ने उन्हें आश्वासन दिया कि हम जल्द ही आयुक्त से मौखिक रूप से बैठ कर बात करेंगे। जंगाले ने कहा की यदि 4 दिन मे मांग पूरी नही होती है, तो संगठन अलग-अलग तरीको से आन्दोलन कर निगम आयुक्त के तबादले की मुख्यमंत्री से मांग कर सफाई व्यवस्था को ठप कर आमरण अनशन करेंगा। इस दौरान संग्राम बालगौहर, सहदेव बोयत, सुमेर जंगलिया, रूपेश खरे, विजय पथरोल मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments