जुलाई से नवंबर तक धार्मिक महा होते हैं | July se november tak dharmik maha hote hai

जुलाई से नवंबर तक धार्मिक महा होते हैं

जुलाई से नवंबर तक धार्मिक महा होते हैं

जावरा (यूसुफ अली बोहरा) - वर्तमान मै समय में कोवीड-19 ने चारों ओर हा हा कार मचा रखा है जिससे सबका जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है उसके कारण यह पांच माह जुलाई से नंवबर तक धार्मिक माह होते हैं जिसमे जैन धर्मावलम्बियों द्वारा अपने अपने साधु संतो के सानिध्य मै जप तप कर धर्म ध्यान करते हैं पर वर्तमान समय में सब कुछ कोरोना वायरस के कारण निषेध हो गया है श्रमण संघीय आचार्य डॉ शिवमुनी जी म सा ने इस वर्ष सभी श्रमण संघीय साधु साध्वी एंव श्रावक श्रावीका को आध्यात्मिक ध्यान साधना, स्वाध्याय करने के निर्देश दिये जिसके चलते सभी सामुहिक धार्मिक आयोजन प्रवचन आदी निरस्त किये गये हैं एंव भारत सरकार प्रदेश सरकार एंव  स्थानीय प्रशासन के निर्देशो का पालन कर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए आज आल इंडिया श्वेताम्बर स्थानकवासी जैन कांफ्रेंस नईदिल्ली के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री पारस मोदी एंव राष्ट्रीय महमंत्री श्री शशि कुमार कर्नावट  की पहल पर जैन कांफ्रेंस की ज्ञानप्रकाश योजना के राष्ट्रीय अध्यक्ष  प्रकाश धारीवाल आर. एम. डी. परिवार के सहयोग से "इन्फ्ररा रेड नांन कांन्टेक्ट थर्मामीटर" एवं मास्क सभी श्रमण संघीय साधु साध्वी के पुरे भारतवर्ष मे हो रहे चार्तुमास के दोरान सुरक्षा की दृष्टि से सभी जगह थर्मल स्कैनिंग मशीन एंव मास्क भेजे गये उसी कढ़ी में जावरा जैन दिवाकर भवन विराजीत उपप्रवर्तक श्री अरुण मुनी जी म सा आदी ठाणा 2 की सुरक्षा की दृष्टि से जैन कांफ्रेंस नईदिल्ली द्वारा जैन कांफ्रेंस युवा शाखा नईदिल्ली के निवृत्तमान राष्ट्रीय संगठन मंत्री संदीप रांका को भेजे गये जिन्होंने जावरा जैन दिवाकर भवन पर चार्तुमास के लिये विराजीत जैन दिवाकर श्री चोथमल जी म सा के अनुयायी  नवकार महामन्त्र आराधक तपस्वी उपप्रवर्तक श्री अरुण मुनी जी म सा, सेवाभावी श्री सुरेश मुनी जी म सा की पावन निश्रा मै निवृत्तमान राष्ट्रीय संगठन मंत्री जैन कांफ्रेंस युवा शाखा नईदिल्ली एंव अ भा जैन दिवाकर संगठन समिति के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य संदीप रांका,  पुर्व वरिष्ठ मार्गदर्शक जैन कांफ्रेंस अभय सुराणा द्वारा श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन  श्रावक संघ जावरा के कोषाध्यक्ष श्री महावीर जी छाजेड को थर्मल स्कैनिंग मशीन एंव 3 लेयर वाले मास्क सुपुर्द किये गये एंव उपस्थित सभी जनो की थर्मल स्कैनिंग कि गई एंव दिवाकर भवन पर दर्शन करने वाले श्रावक श्रावीका की स्कैनिंग की जायगी एंव बगैर मास्क आने वाले मास्क लगाकर आना अनिवार्य किया गया है एंव जैन दिवाकर भवन पर हर आने जाने वाले के लिये सेनिटाईजर का उपयोग करने की व्यवस्था की गई है।

Post a Comment

0 Comments