51 लाख रूपये चोरी का पर्दाफाश, आरोपी पुलिस थाना कनाडिया की गिरफ्त में, पुराना नौकर ही निकला सरगना | 51 lakh rupye chori ka pardafash

51 लाख रूपये चोरी का पर्दाफाश, आरोपी पुलिस थाना कनाडिया की गिरफ्त में, पुराना नौकर ही निकला सरगना

51 लाख रूपये चोरी का पर्दाफाश, आरोपी पुलिस थाना कनाडिया की गिरफ्त में, पुराना नौकर ही निकला सरगना

इंदौर। दिनांक 13 जुलाई 2020- पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ज़ोन श्री विवेक शर्मा एवं पुलिस उप महानिरीक्षक शहर इंदौर श्री हरिनारायण चारी मिश्र व्दारा सम्पत्ति संबंधी अपराधो, चोरी/नकबजनी  घटनाओं पर अंकुश लगाने एवं इस प्रकार के पुराने प्रकरणों में आरोपियों की पतारसी हेतु प्रभावी कार्यवाही के लिये समस्त थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया हैं । उक्त निर्देश पालन मे पुलिस अधीक्षक पूर्व श्री विजय खत्री द्वारा दिये गये दिशा- निर्देशों के तहत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पूर्व श्री राजेश रघुवंशी एवं नगर पुलिस अधीक्षक श्री एस.के.एस. तोमर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी कनाडिया आर.डी कानवा व उनकी टीम व्दारा चोरी के आरोपी को गिरफ्तार करने में एवं 40 लाख 83 हजार रूपये नगदी बरामद करने में सफलता प्राप्त की है । पुलिस थाना कनाडिया क्षेत्रअंतर्गत दिनांक 03/07/20 को फरियादी श्री विवेक चुग पिता श्री मोहन लाल चुग उम्र 32 साल निवासी 85 प्रगति विहार कालोनी इंदौर ने घर में एक लाख रूपये नगदी चोरी की सूचना दी गई थी, जिस पर थाना कनाडिया पर अपराध क्रमाक 263/20 धारा 380 भा.द.वि का पंजीबद्ध कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया। पुलिस द्वारा मौके पर जाकर जांच पडताल एवं मौका मुआयना व पूछताछ कार्यवाही की गई तो पाया कि  घर से 50 लाख रूपये का एक और बैग भी चोरी गया है। इस प्रकार कुल 51 लाख नगदी की चोरी होना पाया गया । एक लाख रूपये फरियादी श्री विवेक चुग द्वारा अपने बैग में रखे थे जबकि 50 लाख रुपये विवेक के पिता श्री मोहन चग द्वारा लाकडाउन के पश्चात  विभिन्न फर्मों का व्यापार की राशि के आये हुए रुपये घर पर ही रखे थे जो भी मय बैग के चोरी होना पाया गया ।उक्त जानकारी के पश्चात पुलिस द्वारा   फरियादी के सभी नौकरों से तथा आने जाने वालों की जानकारी लेकर उन पर नजर रखी गई तथा वर्तमान एवं पूर्व के नौकरों की जानकारी एवं उनके क्रियाकलाप एवं अपराधिक रिकार्ड की जानकारी एकत्रित की गई, तो पूर्व में रहा नौकर रामु का आचरण संदिग्ध पाया गया जिसने अपने घर में अचानक ही टाइल्स लगाने का एवं अन्य खरीददारी करने के लिये घूमना जाना पाया गया। संदिग्ध रामु को पुलिस अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गई तो वह टुटकर अपनी एक अन्य सहयोगी पूर्व मित्र राधा के साथ घटना को अजाम देना बताया गया है। राधा वर्तमान में श्री चुग के घर पर कार्यरत हैं जिसने रामू को बड़ी मात्रा में रकम घर पर होने की सूचना दी तथा रात्रि के समय रामु अपने गांव से इंदौर आया तथा उसने घर का कैमरा टेडा करके राधा के साथ मिलकर घर में चोरी की तथा आईन्दा मामला शांत होने पर हिस्सा बटवारा करने की योजना बनाई। आरोपी रामु उर्फ रामकिशन पिता हरसंहि उम्र 24 साल निवासी ग्राम रोडिया थाना गोगावा जिला खरगोन को पुलिस हिरासत में लेकर  सघन पूछताछ की गई तो आरोपी ने चोरी का मश्रुका अपने घर नाम रोडिया में चूल्हे के पास गड्डा खोदकर बैग को गाडकर ऊपर से जलाऊ लकडी रख देना बताया। पुलिस  द्वारा आरोपी रामु की निशादेही से उक्त स्थान से घटना स्थल से चोरी गये मश्रुका में से 40.83 लाख रूपये एवं घटना में प्रयुक्त आरोपी की बोलेरो गाडी जप्त की गई हैं।शेष राशी के लिये अभिरक्षा के आरोपी रामु एवं राधा नेपाली से पूछताछ की जा रही है । 

51 लाख रूपये चोरी का पर्दाफाश, आरोपी पुलिस थाना कनाडिया की गिरफ्त में, पुराना नौकर ही निकला सरगना

उक्त सराहनीय कार्य को करने मे थाना प्रभारी कनाडिया आर.डी.कानवा व उनकी टीम के उप निरीक्षक बलवीर रघुवंशी , आर , प्रदीप , आरक्षक , आरक्षक इमस्त , आरक्षक अमित की सराहनीय भूमिका रही । 


*सुझाव*: - घटना में महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि घर में काम करने वाले या  रहने वाले किरायेदायें के बारे मे जानकारी पुलिस को अवश्य रूप से दो हमेशा नौकरों / किरायेदारों का आपराधिक चरित्र सत्यापन अवश्य करावे ताकि जान माल सूरक्षित हो तथा घर में यदि अधिक लौकरया बाहरी लोगों का आना जाना हो तो डिजिटल लॉकर का उपयोग करें तथा अधिक ज्वैलरी व नगदी रखने से बचें ।

Post a Comment

0 Comments