465 वर्षो मे पहली बार बगेर दर्शनार्थीयो के बनी सिंगाजी नवमी | 465 varshi main pehli bar bager darshanarthiyo ke bani singaji navmi

465 वर्षो मे पहली बार बगेर दर्शनार्थीयो के बनी सिंगाजी नवमी 

क्षेत्र मे कोरोना प्रभाव होने से प्रशासन के निर्देश पर मात्र सेवादारों एवं परावरीक सदस्यो द्वारा ही मनाया गया समाधि महोत्सव

मांधाता (सतीश गम्बरे) - मंगलवार को निमाड़ के चम्कारी संत श्री सिंगाजी महाराज का समाधि दिवस पर मंदिर परिसर पर कोरोना महामारी के प्रभाव  को देखते हुए प्रशासन ने एक दिन के लिए यहा धारा 144 लगा रखी है ताकि बाहरी लीगों का यहा प्रवेश प्रतिबंधित रहे और भीड़ एकत्रित ना हो श्रावण मास की कृष्ण पक्ष की नवमी आज ही  के दिन  संत सिंगाजी महाराज ने यहा जीवित समाधि ली थी हर वर्ष इस दिन । गुरु की समाधि पर देश प्रदेश के कई जिलो से  हजारो लोग दर्शन एवं निशान चढ़ाने आते है लेकिन आज लोगो के आने और दर्शन पर प्रतिबंध रहा मंदिर के महंत शिव नारायण ने बताया की हमारे परवारीक लोग एवं सेवादारों द्वारा ही सुबह  7बजे अभिषेक कर पूजा अर्चना करने के बाद भजन कीर्तन किए गए और शाम 4 बजे महा आरती करने के बाद भजनों का समापन किया गया और बताया की यह प्रतिबंध केवल आज के लिए ही था कल से रोजाना की तरह ही मंदिर मे दर्शन कए जा सकेंगे।

Post a Comment

0 Comments