शौचालय निर्माण में अनियमितता का आरोप लेकिन ग्राउंड जीरो पर सबकुछ ठीक | Shochalay nirman main aniymitta ka arop lekin ground zero

शौचालय निर्माण में अनियमितता का आरोप लेकिन ग्राउंड जीरो पर सबकुछ ठीक

शौचालय निर्माण में अनियमितता का आरोप लेकिन ग्राउंड जीरो पर सबकुछ ठीक

झाबुआ (अली असगर बोहरा) - स्वच्छ भारत मिशन के तहत पूरे देश के शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में शौचालय निर्माण कर पूर्ण रूप से बाहर शौच मुक्त करने के लिए देश के प्रधानमंत्री द्वारा एक अभियान चलाया गया और लोगों को जागरूक करने  के लिए करोड़ों रुपए विज्ञापन पर खर्च भी किए गए। वही आदिवादी बाहुल्य झाबुआ जिले की जनपद पंचायत मेघनगर के अंतर्गत ग्राम पंचायत मदरानी में अभी बने नवीन शौचालय निर्माण निर्माण में अनियमितता एवं भृष्टाचार सम्बंधित शिकायत की जाँच हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ द्वारा जाँच दल का गठन किया गया ! वही जाँच दल जनपद मेघनगर में  पहुँच कर ग्राम पंचायत मदरानी के लिए रवाना हुआ ! लेकिन रास्ते मे पता नही की जाँच दल के दो सदस्य कहा उड़नछू हो गए अब यह जाँच का विषय हो गया जाँच दल में झाबुआ से लेखाधिकारी जिला पंचायत झाबुआ, जिला ऑडिटर मनरेगा जिला पंचायत व ब्लाक समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्राम जनपद मेघनगर को बनाया गया था लेकिन जब हम जनपद सीईओ वीरेन्द्र रावत और मदरानी सचिव शांतिलाल कतीजा एवं ब्लाक समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्राम पंचायत मेघनगर और रोजगार सहायक  के साथ पंचायत मदरानी पहुँचे और देखा कि मदरानी में 57 शौचालयों बनाये गये जिसमे से 48 शौचालयों का भुगतान हो चुका हैं  शेष 09 शौचालयों का सत्यापन नही होने से भुगतान अभी बाकी हैं ! वही सभी शौचालये हितग्राहियों द्वारा ही बनाये गये हैं और जिनकी गुणवत्ता अच्छी हैं देखने को मिली हैं और हितग्राहियों द्वारा शौचालय का उपयोग भी किया जा रहा हैं ! वह बाहर शौच करने नहीँ जा रहे ! वही अगर शिकयत की बात करे तो ग्राम पंचायत मदरानी में शौचायल निर्माण में अनियमितता की शिकायत किसके द्वारा की गई हैं ! इसका हाल फिलाल में तो पता नही चला की ये शिकायत है या फिर द्वेषता पूर्वक कार्यवाही हैं  लेकिन एक बात तो तय है की जाँच टीम गठित आदेश के साथ किसी भी प्रकार का शिकायती प्रतिवेदन आदेश की प्रति के साथ नही था ! जो इस बात को स्पस्ट करता हैं कि अधिकारी द्बारा सरपँच सचिव पर दबाव बनाया जा रहा हैं .....


*वर्जन*
जनपद सीईओ का कहना है. में जिला जनपद सीईओ के सूचनार्थ के बाद जाँच टीम की एक सदस्य के साथ जाँच करने पहुँचा हु ओर मेरे द्वारा देखा गया की हितग्राहियों द्वारा शौचायल बहुत बढ़िया बनाये गये हैं
*जनपद सीईओ वीरेन्द्र रावत मेघनगर*


यदि हमारे सचिव संघठन के किसी भी सचिव को बेवजह परेशान किया जायेगा तो हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे
*सचिव संगठन ब्लाक अध्यक्ष तकेसिंह नायक*

Post a Comment

0 Comments