जिले के सभी छह चेक पोस्ट पर पैदल चलते मजदूरों के लिए तूफान गाड़ियां तैनात | Jile ke sabhi chhah check post pr pedal chalte majduro ke liye toofan gadiya

जिले के सभी छह चेक पोस्ट पर पैदल चलते मजदूरों के लिए तूफान गाड़ियां तैनात

जिले के सभी छह चेक पोस्ट पर पैदल चलते मजदूरों के लिए तूफान गाड़ियां तैनात

उज्जैन (रोशन पंकज) - मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर पैदल चलते मजदूरों के लिए विशेष रूप से गाड़ियों की व्यवस्था रतलाम जिले में की गई है। मजदूरों की सहूलियत के लिए जिले के सभी छह चेक पोस्ट पर बड़ी तूफान गाड़ियां तैनात की गई हैं।

कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बताया कि जिले की सीमाओं पर कहीं से भी पैदल चलते हुए मजदूर दिखते हैं तो तूफान गाड़ी उसके पास पहुंचकर उसे कैंप स्थल तक पहुंचाएगी या  ऐसे बस पॉइंट तक पहुंचाएगी जहां से उसे अपने आगे गंतव्य तक पहुंचने के लिए  वाहन मिल सके। 


कलेक्टर ने बताया कि प्रत्येक गाड़ी पर दो ड्राइवर रखे गए हैं। निर्धारित व्यवस्था के अनुसार जिले के चेक पोस्ट सालाखेड़ी से वनस्थली तथा वनस्थली से वापस सालाखेड़ी तक वाहन का मूवमेंट रहेगा। इसी तरह सालाखेड़ी से रानीसिंग तथा रानीसिंग से वापस सालाखेड़ी, इसी तरह सालाखेड़ी से जावरा तथा जावरा से वापस सालाखेड़ी वाहन मूवमेंट करेगा।  सेजावता से कुंडा तथा कुंडा से वापस सेजावता, मानन खेड़ा से बड़ावदा तथा बड़ावदा से वापस माननखेड़ा इसके अलावा सालाखेड़ी से करमदी होते हुए बाजना तथा बाजना से शिवगढ़, करमदी होते हुए वापस सालाखेड़ी वाहन मूवमेंट रहेगा।

दुर्घटना में  मृत्यु की दशा में मृतक श्रमिक के परिवार को एक लाख रुपये दिए जाएंगे

सहायता राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष से दी जाएगी

राज्य शासन द्वारा जारी आदेश के अनुसार अन्य राज्यों से अपने मूल राज्य की ओर प्रस्थान कर रहे प्रवासी श्रमिक की मध्य प्रदेश राज्य में किसी आकस्मिक दुर्घटना में मृत्यु होने पर उसके परिवार को एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। गंभीर रूप से घायल होने की दशा में श्रमिक को 25 हजार रुपैया की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

Post a Comment

0 Comments