बगैर अनुमति के बाहर से अलीराजपुर नगर में आने वाले लोगो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही हो - महेश पटेल | Bager anumati ke bahar se alirajpur nagar main aane wale logo ke khilaf

बगैर अनुमति के बाहर से अलीराजपुर नगर में आने वाले लोगो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही हो - महेश पटेल

बगैर अनुमति के बाहर से अलीराजपुर नगर में आने वाले लोगो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही हो - महेश पटेल

अलीराजपुर। (रफीक क़ुरैशी) - नगर की यह खुशनसीबी है कि यह ग्रीन झोन में है।किंतु  पिछले कई दिनों से कुछ लोग बाहरी रेड झोन जिलों  से चुपचाप तरीके से ओर  बगैर अनुमति के आलीराजपुर में आना जाना कर रहे हैं। इसमे अधिकारी,कर्मचारी ओर व्यापारीगण,मजदूर आदि शामिल है।इनका यह कृत्य गेर कानूनी है।जिला प्रशासन को इनके विरुद्ध कार्यवाही करना चाहिए।उक्त बात प्रेस नोट के जरिये जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल ने कही है।उन्होंने बताया कि वर्तमान में कोरोना महामारी का भयंकर संक्रमण काल चल रहा है।अभी तक तक नगर पूरी तरह से सुरक्षित है।किंतु कुछ स्वार्थी तत्त्व अपनी मनमर्जी से ओर बगैर अनुमति के बाहरी रेड झोन से नगर में प्रवेश कर निवास कर रहे है।ओर आना जाना कर रहे हैं।यह सरासर यहां की जनता के साथ खिलवाड़ है।आपने बताया कि पिछले दिनों जिला आबकारी विभाग के अधिकारी दीपक रोकड़े रेड झोन वाले इलाके खंडवा,इंदौर से बिना अनुमति ओर सूचना के नगर की केशवनगर कालोनी में आ गए और मनमर्जी से रहने लगे।जबकि इन्हें 13/4/ से 11/5 तक कवारेंटिंन कर रखा था उसके बाद भी रेड झोन में इन्होंने आना जाना किया।कालोनी में हंगामा मचा तो फिर जिला प्रशासन की नींद खुली।ऐसे ओर भी कई अधिकारी कर्मचारी है। इसी प्रकार अनेक व्यापारी भी बगैर अनुमति के नगर से बाहरी जिलों में बेखोब आना जाना कर रहे है। भी हाल ही में गुजरात से आकर आलीराजपुर के रास्ते से शहडोल जाने वाला एक मजदूर स्वास्थ्य विभाग की जांच में कोरोना पॉजिटिव पाया गया।जिससे नगर में हड़कंप मच गया।इस पॉजिटिव मरीज मजदूर के साथियों की भी जांच हो रही है।पटेल ने बताया कि इस मरीज की वीडियोग्राफी ओर फोटोग्राफी के लिए नगर के कुछ पत्रकार भी गए थे कायदे से उनकी भी जांच होना चाहिए  और उन्हें कवारेंटिंन किया जाना चाहिए।आपने बताया कि नगर में अनेक लोग जो बाहरी जिलों से आये है उन्हें निश्चित अवधि के लिए स्वास्थ्य विभाग ने होम कवारेंटिंन कर रखा है परंतु कई लोग इसका पालन नही कर रहे है।पटेल ने बताया कि पिछले दिनों नानपुर की नायब तहसीलदार सरिता गामड़ अपने शासकीय कर्तव्य का निर्वाह कर नगर की केशवनगर कालोनी में निवासरत अपने परिचित के यहां काम से गई तो कालोनी के अध्यक्ष जयंतीलाल राठौड़ ने मनगढ़न्त झूठे आरोप लगाकर कोरोना ड्यूटी में रातदिन ईमानदारी से सेवा में जुटी उक्त आदिवासी महिला अधिकारी को जबरन परेशान किया गया।ऐसे तत्त्वों द्वारा इस प्रकार अधिकारी कर्मचारियों का मनोबल तोड़ने की कोशिश की जा रही है।जिसे बर्दाश्त नही किया जाएगा।आपने जिला प्रशासन से  अपील की है कि जो व्यक्ति कोरोना लॉकडाउन का उलंघन करता है, और संक्रमित इलाके से चोरी छिपे इस जिले में आता है, और जो व्यक्ति अधिकारी कर्मचारियों का नाजायज मनोबल गिराता है ऐसे लोगो के खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्यवाही होना चाहिए।पटेल ने बताया कि यदि समय रहते जिला प्रशासन नही जागा तो नगर के हालात बड़े बेकाबू हो सकते हैं।आपने सभी नगरवासियों से अनुरोध किया है कि यदि नगर को कोरोना मुक्त रखना हो तो सरकार की गाइड लाइन का पूर्णतः पालन करते हुए सुरक्षा के साथ  अपनी ओर परिवार की दिनचर्या व्यतीत करें।साथ ही बाहरी क्षेत्रो से अडोस पड़ोस में आने जाने वालों की सूचना तत्काल पुलिस को दे।

Post a Comment

0 Comments