कृषि विज्ञान केन्द्र में सिखाया गया सेनेटाईजर बनाना | Krishi vigyan kendra main sikhaya gaya senetiser banana

कृषि विज्ञान केन्द्र में सिखाया गया सेनेटाईजर बनाना

कृषि विज्ञान केन्द्र में सिखाया गया सेनेटाईजर बनाना

बालाघाट (देवेन्द्र खरे) - कृषि विज्ञान केन्द्र, बड़गांव, बालाघाट में केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. आर.एल. राऊत ने कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुये घर पर सेनेटाईजर बनाने की विधि का प्रदर्षन का किया। आपने बताया कि सेनेटाईजर बनाने के लिये आवष्यक सामग्री में ईथाईल अल्होहल 99.9 प्रतिषत (केमिस्ट की दुकान से मिलेगा), आसुत जल या आर.ओ. फिल्टर का पानी लिया जा सकता हैं, ग्लीसरीन इन तीनों सामग्रियों की मात्रा इस प्रकार रखना हैं। इ्र्रथाईल अल्कोहल-75 मि.ली., पानी -20 मि.ली., ग्लीसरीन-10 मि.ली. तीनों को मिलाकर प्लास्टिक बोतलों में भरकर रख लें एवं इसे समय-समय पर हाथों को साफ करते रहें, साथ में जिस स्थानों को हमेषा उपयोग करते हो जैसे -घर के दरवाजे, गाड़ी के दरवाजे, बाथरूम के हैण्डल आदि को सेनेटाईज करते रहें। कम पैसें में इस सभी अपने घर पर तैयार कर सकते हैं। 100 मि.ली. तैयार करने की कीमत लगभग 50 रूपयें तक आती हैं। कृपया कोरोना वायरस से सुरक्षा हेतु सभी अपनी जिम्मेदारी निभायें। सेनेटाईजर बनाने की विधि का किसानों को भी प्रषिक्षण दिया गया। इस कार्यक्रम में डॉ. एस.आर. धुवारे, डॉ. एस.के. जाटव, डॉ. ब्रजकिषोर प्रजापति, डॉ. मुरलीधर इंगले, डॉ. धमेन्द्र आगाषे, श्री सुखलाल वास्केल, श्री हेमंत राहंगडाले, श्री जितेन्द्र मर्सकोले, श्री जितेन्द्र मर्सकोले एवं श्री दिलीप कुमार षिव उपस्थित रहें। डॉ. राऊत द्वारा अपने केन्द्र के सभी वैज्ञानिकों एवं कर्मचारियों को स्वयं द्वारा बनायें सेनेटाईजर का वितरण किया गया।

Post a Comment

0 Comments