कोरोना वायरस संदिग्ध एक ओर मरीज पहुंचा जिला चिकित्सालय | Corona virus sandigdh ek or marij pahucha jila chikitsalay

कोरोना वायरस संदिग्ध एक ओर मरीज पहुंचा जिला चिकित्सालय

पंजाब का रहने वाला होकर अहमदाबाद में काम कर लौटा था मेघनगर रेल्वे स्टेशन

नोडल अधिकारी ने कहा -ः जिले में अभी एक भी कोरोना मरीज की पुष्टि नहीं

कोरोना वायरस संदिग्ध एक ओर मरीज पहुंचा जिला चिकित्सालय

झाबुआ (मनीष कुमट) - कोरोना वायरस (कोविड-19) के मुहाने पर खड़े झाबुआ जिले में पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज निरंतर आ रहे है। पिछले दिनों थांदला से आए एक व्यक्ति का फिलहाल दाहौद (गुजरात) में उपचार चल रहा है। इसके बाद 22 मार्च की रात कालीदेवी के ग्राम भूराडाबरा से एक युवक, जिसे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, उसे आईसीयू में भर्ती किया गया था, जिसके बाद ताजा मामले में 23 मार्च, सोमवार को दोपहर भी एक युवक, जो पंजाब का निवासी होकर अहमदाबाद (गुजरात) से काम कर लौटा और मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर उसकी तबीयत बिगड़ने पर 108 एंबुलेंस से जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां से उसे इंदौर एमवाय के लिए भर्ती किया गया है।

जिला चिकित्सालय में कोरोना वायरस से संदिग्ध अब तक 3-4 मरीज आ चुके है, लेकिन गनीमत यह है कि अभी एक भी व्यक्ति में कोरोना नहीं पाया गया है। पिछले दिनों थांदला से आए परिवार, जो इंग्लैंड से यात्रा कर पुनः थांदला लौटा था, जिसमें परिवार के एक सदस्य की तबीयत बिगड़ने पर जिला चिकित्सालय लाया गया था, जहां प्राथमिक उपचार कर उक्त मरीज को दाहौद (गुजरात) के लिए रेफर किया गया। जहां उसका उपचार जारी है। इसके बाद 22 मार्च को भी रात्रि में कालीदेवी के ग्राम भूराडाबरा में एक युवक को सर्दी-जुखाम के साथ सांस लेने में तकलीफ होने पर आईसीयू वार्ड मे भर्ती कर उपचार डाॅ. एम किराड द्वारा करने के पश्चात् गहनता से जांच के बाद पाया गया कि युवक को कोरोना नहीं होकर वह केवल मलेरिया से ग्रसत है, जिसका उपचार जारी है।

कैदी को किया पुनः पुलिस के सुुपुर्द इस बीच राजगढ़ का रहने वाला एक युवक, जो इंदौर से मुंबई फलाईट से गया था और मुंबई से पुनः इंदौर फलाईस से लौटा था जिसके बाद वह किसी अपराध में जिला जेल में बंद होने से तबीयत बिगड़ने पर उसे जिला चिकित्सालय में आईसोलेशन वार्ड मे भर्ती कर उपचार जारी था। विषेषज्ञ चिकित्सक डाॅ. किराड़ द्वारा मरीज का सेंपल लेकर जांच के लिए भोपाल एम्स स्थित वायरोलाॅजी में भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट भी 23 मार्च शाम को नेगेटिव आई है। व्यक्ति को जिला चिकित्सालय से छुट्टी देकर पुनः पुलिस के सुर्पुद कर दिया गया है।

*मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर बिमार मिला युवक* 

23 मार्च को दोपहर जिला चिकित्सालय की रोगी कल्याण समिति के एंबुलेंस चालक नानसिंह मेड़ा को सूचना प्राप्त हुई कि मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर एक युवक गंभीर अवस्था में तड़प रहा है, इस पर स्वास्थ्य कर्मचारी नानसिंह मेड़ा द्वारा तत्काल गंभीरता दिखाते हुए 108 एंबुलेंस से मेघनगर रेल्वे स्टेशन से युवक को जिला चिकित्सालय लाया। जहां डाॅक्टर द्वारा प्राथमिक उपचार उसे आईसोलेट किया गया। युवक से पूछताछ करने पर उसने बताया कि वह पंजाब का रहने वाला है एवं अहमदाबाद (गुजरात) में काम कर रहा था, पुनः पंजाब जाने के लिए वह ट्रेन में बैठा, जहां बीच में वह मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर उतरा। जिसके बाद 31 मार्च तक ट्रेने बंद होने से कोई साधन नही मिलने से मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर ही रह रहा था।

इंदोैर एमवाय में किया भर्ती

सोमवार को दोपहर उसकी तबीयत अधिक बिगड़ने पर आसपास बैठे लोगो ने जिला चिकित्सालय के स्वास्थ्य कर्मचारी नानसिंह मेड़ा को सूचना दी, जिसके बाद उसे डिस्ट्रीक्ट हाॅस्पिल लेकर आने पर प्राथमिक उपचार के बाद स्वयं श्री मेड़ा द्वारा अपने खर्चें से गंभीर युवक को उपचार के लिए एमवाय इंदौर ले जाकर यहां भर्ती करवाया गया है। युवक की हालत फिलहाल गंभीर बनी हुई है।

*नहीं मिला कोरोना वायरस का एक भी मरीज*

कोरोना वायरस के संबंध में बनाए गए जिला नोडल अधिकारी डाॅ. योेगेश से चर्चा करने पर उन्होने बताया कि जिले में अभी तक किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस होने की पुष्टि नहीं हुई है। पिछले दिनों जिला जेल से आए कैदी का सेंपल लेकर भोपाल भेजा गया था, वहां से उसकी नेगेटिव रिपोर्ट आई है। इसके अलावा कालीेदेवी से भी आए युवक को मलेरिया है, कोरोना नहीं है। स्वास्थ्य विभाग इसके लिए विषेष ऐहतियात बरत रहा है। झाबुआ जिले में यह संक्रमण फिलहाल ना के बराबर है।

Post a Comment

0 Comments