सकल जैन समाज ने सरकार के माँसाहार फैसलें के खिलाफ एसडीएम को दिया ज्ञापन | Sakal jain samaj ne sarkar ke mansahar faisle ke khilaf

सकल जैन समाज ने सरकार के माँसाहार फैसलें के खिलाफ एसडीएम को दिया ज्ञापन

सकल जैन समाज ने सरकार के माँसाहार फैसलें के खिलाफ एसडीएम को दिया ज्ञापन

थान्दला (कादर शेख) - स्थानीय सकल जैन समाज ने प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ के नाम एक ज्ञापन स्थानीय एसडीएम जे एस बघेल को सौंपा। स्थानकवासी जैन समाज के अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत, मूर्तिपूजक संघ अध्यक्ष कमलेश दायजी, दिगम्बर समाज अध्य्क्ष अभय मेहता व तेरापंथ समाज अध्यक्ष अरविंद रुनवाल सहित संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी एवं आईजा प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर की मौजूदगी में एसडीएम को दिए ज्ञापन में मध्यप्रदेश के स्कूली छात्रावास व आंगनवाड़ी में पोषण आहार का हवाला देते हुए प्रस्तावित माँसाहार रूप अण्डा दिए जाने का पुर जोर विरोध किया गया है। उन्होंने बताया कि हिन्दू एवं जैन संस्कृति में शुद्धाहार शाकाहारी जीवन यापन किया जाता है। यहाँ अण्डा माँसाहार माना गया है, ऐसे में शासन इसे लागू करती है तो प्रदेश की शाकाहारी समाज की धार्मिक भावनायें आहत होगी। ऐसे में वह अपने बच्चों को स्कूल, छात्रावास व आंगनवाड़ी में भेजना भी बन्द कर सकते है। इसलिये लाखों लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए इस तरह को कोई भी प्रस्ताव स्वीकृत नही किया जाए। वही पौषण आहार के लिये बच्चों को फल, दूध आदि वैकल्पिक अन्न दिया जाए। ज्ञापन देने के लिये संघ के वरिष्ठ पूनमचंद गादिया, माणकलाल लोढ़ा, शशिकांत मेहता, बाबूलाल मिण्डा, यतीश छिपानी, कपिल पीचा, राजेन्द्र भण्डारी, राकेश मेहता, पारस तलेरा, कमलेश कुवाड़, समकित तलेरा, नीलेश पावेचा आदि समाज के अनेक संगठन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments