पर्यूषण पर्व का समापन जैन समाज की शोभायात्रा के साथ हुआ | Paryushan parv ka samapan

पर्यूषण पर्व का समापन जैन समाज की शोभायात्रा के साथ हुआ

पर्यूषण पर्व का समापन जैन समाज की शोभायात्रा के साथ हुआ

धामनोद (मुकेश सोडानी) - जैन समाज के पर्वाधिराज महापर्व पर्यूषण पर्व का जैन समाज धामनोद द्वारा पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ समापन किया गया । इस अवसर पर श्रीजी की पालकी शोभायात्रा निकाली गई ।

पर्यूषण पर्व का समापन जैन समाज की शोभायात्रा के साथ हुआ

महापर्वाधिराज पयूर्षण पर्व के तहत विगत 10 दिन से तप त्याग व साधना के साथ आयोजन हो रहे थे । इंदौर से पधारे विद्वान संजयजी के मुखार विन्द से रोजाना भगवान का अभिषेक  शांतिधारा पूजन प्रवचन किए गए । धर्म की वाणी का रसास्वादन श्रावक व  श्राविकाओं द्वारा किया गया ।  एक आसन से लगाकर 10 दिन तक के उपवास की साधना की गई।

पर्यूषण पर्व का समापन जैन समाज की शोभायात्रा के साथ हुआ

पालकी शोभायात्रा

गुरुवार को महापर्व के आखरी दिन जैन समाज ने श्रीजी को पालकी में  विराजमान कर उनकी नगर में पारंपरिक हर्षोल्लास एवं धूमधाम से शोभा यात्रा निकाली । बेंडबाजो के साथ  जगह जगह श्रीजी की आरती उतारकर धर्म प्रभावना समाजजन कर रहे थे । युवक जैन धर्म की ध्वजा लेकर चल रहे थे । महिलाये पिंक कलर की साड़ी, वस्त्र व पुरुष सफेद वस्त्र व गले मे दुपटटा पहने हुए थे । चल समारोह  मंदिर से प्रारंभ हो कर महेश्वर   चौराहे से होकर पुनः जैन मंदिर पहुचा । जहाँ श्रीजी को पांडुक शिला पर विराजमान कर पूजन अर्चना कर  श्रीजी के अभिषेक के लिए कलशों की बोलियां व आरती एवं श्रीमाल की बोलिया लगाई गई । उन बोलियों को  पुण्याजर्न श्रावको ने बोली लगाकर पुण्याजर्न का लाभ लिया । इस दौरान मंदिर जी मे रोशनी भी की गई व  पोरवाड़ युवां मच के तत्वाधान ने धार्मिक विभिन्न प्रतियोगिताये आयोजित की गई ।  जिसमे सफल प्रतियोगियो को सम्मानित भी किया जावेगी । 

वहीं नगर के अग्रणी समाजसेवी संगठन मां अन्नपूर्णा रोगी सेवा एवं पारमार्थिक संस्था ने भी श्री जी की आरती कर रोगियो की सेवा संकल्प लिया ।

उपरोक्त जानकारी समाज अध्य्क्ष नरेंद्र जैन प्रवक्ता दीपक प्रधान व संजय जैन ने दी

Post a Comment

0 Comments