घंटानाद आंदोलन में कलेक्टर कार्यालय पर भाजपा का जंगी प्रदर्शन | Ghantanad aandolan main collected karyalay pr bhajpa ka jungi pradarshan

घंटानाद आंदोलन में कलेक्टर कार्यालय पर भाजपा का जंगी प्रदर्शन

घंटानाद आंदोलन में कलेक्टर कार्यालय पर भाजपा का जंगी प्रदर्शन

ढाई घंटे तक चला प्रदर्शन कलेक्टर कार्यालय पर बांधा घंटा

कांग्रेस की सरकार झुठे वादे करके सरकार मे आई है- रमेश मेंदौला

वचन पत्र में वादा करने के बाद आजतक किसानो के 2 लाख के कर्जे माफ नही हुये है- सांसद गुमानसिंह डामोर

घंटानाद आंदोलन में कलेक्टर कार्यालय पर भाजपा का जंगी प्रदर्शन

ढाई घंटे तक चला प्रदर्शन कलेक्टर कार्यालय पर बांधा घंटा

वचन पत्र में वादा करने के बाद आजतक किसानो के 2 लाख के कर्जे माफ नही हुये है- सांसद गुमानसिंह डामोर

झाबुआ (अली असगर बोहरा) - प्रदेश की कांग्रेस सरकार की विफलताओ किसानो की कर्ज माफी भारीभरकम बिजली के बिल , प्रदेश मे बिगडती कानून व्यवस्था, युवाओं बेरोजगारों के साथ छलावा किये जाने भ्रष्टाचार एवं कन्यादान की राशि हडपने, कई जन हितैषी योजनाओं को बंद करने के खिलाफ प्रदेश व्यापी घंटानाद आन्दोलन के तारतम्य में भाजपा द्वारा 11 सितम्बर बुधवार को जिला स्तर पर भाजपा के हजारों कार्यकर्ता के साथ घंटा नाद आन्दोलन करके प्रदेश की कमलनाथ सरकार को निंद से जगाने के लिये घडी घंटो शंख ध्वनि मजीरो के साथ प्रभावी आन्दोलन इन्दौर के विधायक रमेश मेंदोला एवं सांसद गुमानसिंह डामोर की अगुवाई में राजवाडा चैक पर किया गया ।

जिले भर से आये आये भाजपा के पदाधिकारियों ,कार्यकर्ताओं, महिलाओं, युवाओं ने राजवाडा चैक पर घडी घंटाल शंख बजाकर सोई हुई कमलनाथ सरकार को जगाने के लिये नारे बाजी करके सरकार की पूरजोर विरोध दर्ज कराया । इस अवसर पर मुख्य अतिथि रमेश मेंदोला ने अपने प्रभावी उदबोध में प्रदेश की कमलनाथ की कांग्रेस सरकार को आडे हाथ लेते हुए कहा कि झाबुआ में विधानसभा के उप चुनाव होना है । कमलनाथ सरकार ने स्कूली बच्चों की गणवेश, उन्हे मिलने वाली छात्रवृति आज तक नही दी है । आंगनवाडी कार्यकर्ताओं को वेतन के लाले पडे रहे है जिस आंगवाडी कार्यकर्ता को 10 हजार एवं साढे सात हजार वेतन भाजपा की शिवराजसिंह सरकार में मिलता था उन्हे अब साढे हजार ही मिल रहा है । महिलाओं के साथ इस कांग्रेस सरकार ने धोखा किया है । शिवराज सरकार के कार्यकाल में लागू 150 से अधिक योजनाओं को बंद कर दिया हे या उनके नाम बदल दिये गये है । मुख्यमंत्री कमलनाथ आम लोगों से मिलते तक नही है और भोपाल में ही बैठक कर सरकार चलाते है । किसानों के 2 लाख तक कर्जे माफ नही हुए है तथा दबाव बना कर सहकारी बैंको से झुठे कर्ज मुक्ति के प्रमाणपत्र जारी करवा रहे है ।प्रदेश भर में महिलाओं पर जुल्म बढ रहे है । कांग्रेस की सरकार झुठे वादे करके सरकार मे आई है । प्रदेश में ट्रांसफर उद्योग चल रहा है और इसकी पूरी गंग प्रदेश मे सक्रिय है। कांग्रेस का काम जनता की सेवा करना नही वरन भ्रष्टाचार को सरंक्षण देना ही बन चुका है । सपा, बसपा एवं निर्दलियों की बैशाखी से बनी कमलनाथ सरकार ज्यादा चलने वाली नही है और जुगाड से बनी इस सरकार के दिन लदने वाले है।पूरे प्रदेश मे लूट खसौट एवं डकैति चल रही है । पुलिस की गुडागर्दी भी चरम दिखाई दे रही है । भाजपा का यह घंटानाद आन्दोलन कुंभकर्णी निंद मे सोई कमलनाथ सरकार को जगाना है।

सांसद गुमानसिंह डामोर ने भी संबोधित करते हुए कहा कि कमलनाथ की कांग्रेस सरकार ने शिवराजसिंह सरकार द्वारा लागू की गई सभी कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया है ।पिछले नौ माहों में प्रदेश की हालत 2003 की कांग्रेस सरकार की तरह करदी गई है ।अंधी बहरी एवं लुली लंगडी सरकार के कानों पर जनता कीक आवाज नही पहूंच पारही है । वीधानसभा चुनाव में आदिवासी किसानों से 2- 2 लाख के कर्जो के माफ करने के नाम पर इन्होने झुठे वादे करके सरकार बनाई है । प्रदेश की 230 विधानसभा सीटो में 47 सीटे आदिवासी सीटे आई है। इस सरकार ने शिवराजसिंह सरकार की अन्त्येष्ठी सहायता योजना, गरीब बहिनों को मिलने वाली जननी सुरक्षा योजना की 16 हजार के अनुदान की योजना, मृत्यु होने पर 4 लाख की त्वरित सहायता योजना, 2 लाख दुर्घटना योजना सहायता योजना के अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना को भी बंद कर दिया है। बिजली के बील हजारो में आ रहे है। छोटे कर्मचारियो के धडल्ले से ट्रांसर्फर कर दिये है। आॅफिसो में अधिकारी कर्मचारी रिश्वत लेकर काम कर रहे है। 1 रूपये किलो मिलने वाले अनाज की योजना का लाभ लोगो को नही मिल रहा है। वचन पत्र में वादा करने के बाद आजतक किसानो के 2 लाख के कर्जे माफ नही हुये है। 25 हजार के बर्तनो के नाम पर व्यापक भ्रष्टाचार कर मात्र 8650 रूपये के बर्तन ग्रमीणो को दिये गये है। अभीतक प्रदेश के 8 से 9 मंत्री एवं मुख्यमंत्री आ चुके है। किन्तु किसी ने भी सही नही बोला ओर एक भी वादा पुरा नही हुआ है। झाबुआ को झुठ की प्रयोगशाला बना दिया गया है ओर इसका लीडर कांतिलाल भूरिया है। ऐेसे झुठे नेता को आदिवासी समाज को जड से उखाड फेक देना चाहिये । 1 रूपये किलो वाले अनाज में भ्रष्टाचार कर पप्पुसेठ अरबपति बन गया है। यहा आदिवासी होकर ही आदिवासियो को धोखा देने वाला कौन है यह जनता जान चुकी है। उन्होने कहा कि यहा मंत्री संत्री आते है ओर कडकनाथ मुर्गा खाकर चले जाते है। गरीबो के साथ मजाक करने वाले ऐसे लोगो को खाट सहित नदी में बहा देना चाहिये। सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटा कर पुरी दुनिया की सराहना प्राप्त की है। हमारे सामने बडी चुनौती आ रही है। कांतिलाल भूरिया को घुघरू बंधाकर छोड देना चाहिये। क्योकि वह आजकर हर जगह दौड रहा है। पहले तो बाप बेटे को धूल चटाई थी अबकी बार इनके मुह में ही धूल भरना है।

इस अवसर पर ओमप्रकाश शर्मा, सुनिता अजनार नपा अध्यक्ष राणापुर, दौलत भावसार, सुमित मिश्रा, ने भी संबोधित किया। राजवाडा चैक से घंडी घंटाल बजाते हुये नारेबाजी करते हुये नगर के मुख्य मार्गो से होता हुये घंटानाद रैली कलेक्टोरेट पहुची। जहां पर ढाई घंटे तक भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओ ने विधायक इन्दौर रमेश मंदौला तथा सांसद गुमानसिंह डामोर , जिला भाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा के नेतृत्व में जिले भर से आये हजारो भाजपा कार्यकर्ताओ ने कलेक्टर कार्यालय पर जंगी प्रदर्शन कर कलेक्टर कार्यालय पर घंटा बांध दिया। भाजपा ने अपनी ताकत का प्रभावाी तरीके से प्रदर्शन किया। महिलाओ ने कलेक्टर कार्यालय के गेट से चुडिया फेंकी वही मुख्यमंत्री का कार्यक्रम छोडकर कलेक्टर प्रबल सिपाहा भाजपा नेताओ से मिलने पहुचे ओर सांसद गुमानसिह डामोर विधायक रमेश मेंदौला, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा, आदि ने कलेक्टर चेम्बर में जाकर घंटानाद आंदोलन के तहत मांगो को प्रस्तुत किया। कलेकटर सिपाहा ने सभी मांगो को प्रदेश सरकार को भेजना का जनप्रतिनिधियो को भरोसा दिलाया। कार्यक्रम का संचालन श्यामा ताहेड ने किया। 

नगर में भाजपा का घंटानाद आंदोलन काफी सफल एवं चर्चित रहा। इस अवसर पर पूर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल, सुश्री निर्मला भूरिया, कल्याणसिंह डामोर, भाजपा  जिला महिला अध्यक्ष श्रीमती आरती भानपुरिया, भानु भुरिया, संजय भाबोर, कलमसिंह भाबर, प्रविण सुराणा, विश्वास सोनी, अजय पोरवाल, हरू भूरिया, बबलू सकलेचा, ओपी राय, नाना राठौर, रईसा कुरैशी, अनिल मुथा, धनसिंह बारिया, पंडित महेन्द्र तिवारी, अंकुर पाठक, सुशिला भाबर, सुनिता अजनार, जुवानसिंह गुडिया, पपिश पानेरी, गोविन्द अजनार, रामेश्वर नायक, सुरेशचन्द्र भुरू, सोमसिंह सोलंकी, राकेश सोनी, बंटी , आदि जिले भर के कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

कलेक्टर कार्यालय में ढाई घंटे तक चले घैराव आंदोलन में कार्यकर्ताओ ने भजन गाकर कमलनाथ सरकार को सद्बुद्धि देने की कामना की। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन जिला भाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा ने व्यक्त किया।

Post a Comment

0 Comments