कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओर विधायक ने नई रेत नीति में संशोधन करने एवं कन्या महाविद्यालय खोलने की मांग को लेकर मप्र मुख्यमंत्री को पत्र सोपा | Congress jila adhyaksh or vidhayak ne nai ret niti main sansodhan krne

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओर विधायक ने नई रेत नीति में संशोधन करने एवं कन्या महाविद्यालय खोलने की मांग को लेकर मप्र मुख्यमंत्री को पत्र सोपा

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओर विधायक ने नई रेत नीति में संशोधन करने एवं कन्या महाविद्यालय खोलने की मांग को लेकर मप्र मुख्यमंत्री को पत्र सोपा

आलीराजपुर (अली असगर बोहरा) - जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल एवं क्षेत्रिय विधायक मुकेश पटेल ने विगत 11 सितम्बर बुधवार को झाबुआ मे शहरी आवास मिशन योजना कार्यक्रम मे पधारे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को नई रेत निती मे संसोधन कर पुरानी निती को लागु करने की मांग को लेकर एक आवेदन सोपा। वहि कन्या महाविद्यालय खोलने एवं शासकिय पीजी कालेज मे सीट व्रद्धि करने को लेकर मुख्यमंत्री को एक मांग पत्र सोपा है। उन्होने कई महत्वपुर्ण विकास कार्यो को लेकर भी मांग पत्र सोपा। जिस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस पर गोर कर समस्याओ के हल करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री सुरेंद्रसिंह हनी बघेल, नगरिय प्रशासन मंत्री जयवर्धनसिंह, कृषि मंत्री सचिन यादव, जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा, जोबट विधायक सुश्री कलावती भुरिया सहित कांग्रेसी नेता उपस्थित थे। 

नई रेत निति से बाहरी व्यापारीयो को व्यवसाय करने का मौका मिलेगा

जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल एवं क्षेत्रिय विधायक मुकेश पटेल ने मुख्यमंत्री को अवगत कराते हुए बताया कि मप्र शासन द्धारा हाल ही में पूरे प्रदेश में नई नीति लागु की गई है। इस नई रेत नीति से इस आदिवासी बाहुल्य जिले सहित पूरे प्रदेश को नुकसान होने का अंदेशा है। उल्लेखनीय है कि पूर्व की रेत नीति में पृथक-पृथक खदान के मान से ओपन (खुली) निलामी होती थी। जिसमें छोटे, मंझले आदिवासीयों को रोजगार की उपलब्धता हो जाती थी। किंतु नई रेत नीति से ब्लाॅक स्तरीय आॅनलाईन निलामी का प्रावधान रखा गया है। जिससे बाहरी व्यापारीयो को व्यवसाय करने का मौका मिलेगा। किंतु इस जिले के गरीब आदिवासियों के रोजगार में कमी हो जाएगी। जिले के आदिवासीयों के आजीविका हेतु रेत खनन एक प्रमुख साधन है जिससे उनके परिवार का भरण-पोषण होता है। नई रेत नीति से इनके आजीविका का माध्यम छीन जावेगा। पटेलद्धय ने मुख्यमंत्री से निवेदन किया हे कि आदिवासी बाहुल्य जिलो के गरीब आदिवासीयों के रोजगार की समस्या को ध्यान में रखते हुए नई इन जिलों में नई रेत नीति में संशोधन किया जाकर पुरानी नीति अनुसार नियम प्रतिपादित कर राहत प्रदान करे। 

कन्या महाविद्यालय खोलने एवं कालेज मे प्रवेश हेतु सीट व्रद्धि करने की मांग की

जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश पटेल एवं क्षेत्रिय विधायक मुकेश पटेल ने मुख्यमंत्री को अलीराजपुर मे कन्या महाविद्यालय खोलने की वर्षो पुरानी मांग को लेकर बताया कि प्रदेश मे सभी जिलो मे कन्या महाविद्यालय मोजुद है। वर्तमान मे अलीराजपुर जिला इससे अछुता रह गया है। जिससे आसपास के अंचलो से आने वाले छात्राओ को भारी परेशानी उठानी पड रही है। वर्तमान मे शासकिय महाविद्यालय मे करीब एक हजार छात्र-छात्राए अध्यनरत है। शासकिय कालेज मे सीट कम होने से सेकडो छात्र-छात्राए प्रवेश पाने से वंचित हो गए है। कालेज मे प्रवेश पाने को लेकर अंचल के आदिवासी छात्र-छात्राए कालेज ओर जनप्रतिनिधियो के चक्कर लगा रहे हे। उन्होने बताया कि कन्या महाविद्यालय के संचालन के लिए स्थानिय फतेह क्लब मेदान के समीप एक भवन उपलब्ध हे, जहा पर पुर्व मे कालेज ओर जिला पंचायत कार्यालय संचालित होता आ रहा था। नगरपालिका परिषद उक्त भवन को कन्या महाविद्यालय के संचालन हेतु देने को सहमत है। इससे शासन को वित्तिय भार भी नही आएंगा। श्री पटेलद्धय ने मुख्यमंत्री से जिले मे शासकिय कन्या महाविद्यालय खोलने एवं शासकिय कालेज मे छात्रो की सीट बढाने की मांग की। उक्त जानकारी जिला कांग्रेस कमेटी के जिला मिडिया प्रभारी रफीक कुरैशी ने दी।

Post a Comment

1 Comments

  1. ऐसे मेरे गांव की नई खबर छपवा ना चाहता हूं

    ReplyDelete