पर्यावरण के प्रति प्रेम खींच लाया स्वदेश | Paryawaran Ke Prati Prem Khich Laya Swadesh

पर्यावरण के प्रति प्रेम खींच लाया स्वदेश

पर्यावरण के प्रति प्रेम खींच लाया स्वदेश

बालाघाट (टोपराम पटले) - जिले के किरनापुर तहसील  के चिखला ग्राम निवासी श्री अरुण नगपुरे और उनकी श्रीमती छाया नगपुरे का पर्यावरण के प्रति प्रेम और दायित्व उन्हें अमेरिका से भारत खींच लाया। ज्ञात हो कि अरुण अमेरिका के सेन होज़े शहर में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं जो प्रकृति के प्रति स्वयं का दायित्व समझते हुए अपने ग्राम चिखला के युवाओं और बुजुर्गों को भी इसी धारा की ओर सतत प्रोत्साहित कर रहे हैं। उन्होंने दिनांक 20 जुलाई से 31 जुलाई तक स्वयं के व्यय से और ग्रामीणों के सहयोग से पूरे ग्राम की सड़क के दोनों ओर सघन वृक्षारोपण करते हुए 250-300 वृक्षों का रोपण किया है। जिसमे ग्राम के बच्चों, बुजुर्गों और महिलाओं ने पौधों की सुरक्षा और देखभाल के संकल्प लिया है।जिससे हमारी प्राण दायनी धरा हरि भरी हो सके।जो आने वाली पीढ़ियों में प्रकृति के प्रति शोषण की वृत्ति को प्रश्रय ना देकर प्रेम पूर्वक दोहन वृत्ति को जन्म दे।इस सघन वृक्षारोपण के कार्यक्रम को पूर्व में भी चिखला सरपंच ने ग्राम सभाओं के माध्यम से वृक्षारोपण का कार्य करने हेतु ग्रामवासियों को जागरूक कर प्रेरणा दी जाती रही है। इस कार्य में चिखला के सरपंच देवेंद्र मोहरे,कोमलसिंग नागपूरे ,रामप्रसाद पिछोड़े, मुकेश नगपुरे, जितेंद्र दमाहे  ,उमाशंकर गुज़रकर और समस्त ग्रामवासियों का हृदय से सहयोग प्राप्त हुआ।

Post a Comment

1 Comments