कलेक्टर द्वारा ‘‘आपकी सरकार आपके द्वार’’ के तहत कंजरोटा ग्राम का अधिकारियों के साथ सघन भ्रमण | aapki sarkar aapke dwara

कलेक्टर द्वारा ‘‘आपकी सरकार आपके द्वार’’ के तहत कंजरोटा ग्राम का अधिकारियों के साथ सघन भ्रमण | aapki sarkar aapke dwara

ग्राम चैपाल का आयोजन हुआ
खतरनाक शासकीय स्कूल भवन को तुड़वाकर परिसर का समतलीकरण कराया गया

धार - राज्य षासन द्वारा प्रदेष में ‘‘आपकी सरकार आपके द्वार’’ योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस योजना के तहत कलेक्टर  श्रीकांत बनोठ ने विभिन्न विभागों के जिला अधिकारियों के साथ षनिवार को एक ही वाहन में भ्रमण किया। यह बस कलेक्टर कार्यालय परिसर से प्रातः 9 बजे प्रस्थान किया। श्री बनोठ ने बस में मार्ग में ही अचानक निर्णय लेकर ग्राम कंजरोटा पहुॅंचे और सबसे पहले षासकीय माध्यमिक विद्यालय का जायजा लिया और इस विद्यालय परिसर में पुराना षासकीय स्कूल भवन जो कि खतरनाक घोषित था, को तत्काल तुड़वाकर स्कूल परिसर का समतलीकरण कराया। साथ ही इस स्थान कर अतिरिक्त कक्ष तथा विद्यालय की बाउण्ड्री का प्राक्कलन तैयार कर प्लान में जोड़ने के निर्देष दिए। 
कलेक्टर श्री बनोठ ने स्कूल चले हम अभियान की प्रगति की समीक्षा की। इसके बाद रसोई घर का जायजा लिया। रसोईयन ने गैस न होने के कारण लकड़ी का उपयोग किया जा रहा है। इस पर कलेक्टर ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देष दिए है कि इस विद्यालय में 2 गैस सिलेण्डर का कनेक्षन तत्काल प्रदाय किया जावे, ताकि रसोईयन को धुएं से छुटकारा मिल सके। कलेक्टर ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देष दिए है कि जिले में सभी स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के सुचारू संचालन के लिए गैस कनेक्षन प्रदाय करने के लिए विषेष अभियान चलाएं।
श्री बनोठ ने षासकीय उचित मूल्य दुकान का जायजा लिया और दुकानदार को निर्देष दिए है कि वे बोर्ड बाहर लगवाने तथा सामग्री मूल्य सूची का प्रदर्षन करें, ताकि खाद्यान्न सामग्री व केरोसीन का मूल्य आम जनता जान सके। भ्रमण के दौरान ग्रामीणों ने सड़के के किनारे पानी निकासी की व्यवस्था न होने के कारण वर्षाऋतु में पानी घरों में घुस जाता है। जिसके कारण ग्रामीणों को असुविधा का सामना करना पड़ता है। कलेक्टर ने तत्काल स्थल निरीक्षण किया और मध्यप्रदेष सड़क विकास निगम के अधिकारी को निर्देष दिए है कि वे सड़के के किनारे पानी निकासी के लिए नाली की व्यवस्था सुनिष्चित करे, ताकि ग्रामीणों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। 
कलेक्टर श्री बनोठ ने अधिकारियों के साथ ग्राम पंचायत कार्यालय का जायजा लिया और पंचायत भवन छोटा होने के कारण नये पंचायत भवन के लिए प्राक्कलन तैयार कर प्लान में जोड़ने के निर्देष दिए। इस दौरान पंचायत द्वारा गांव में किए जा रहे कार्यो तथा षासकीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की तथा ग्राम पंचायत के सचिव को निर्देष दिए है कि ग्राम पंचायत क्षेत्र में रोजगार के कार्य करे, ताकि स्थानीय जरूरतमंद व्यक्तियों को रोजगार उपलब्ध हो सके। कलेक्टर श्री बनोठ ने ग्रामीणों को किचड़ से मुक्ति दिलाने के लिए षेष बचे आंतरिक मार्ग में सीमेंट कांक्रीट रोड का कार्य हाथ में लेने के निर्देष दिए। इसके बाद षासकीय उप स्वास्थ्य केन्द्र का जायजा लिया और उप स्वास्थ्य केन्द्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली और आवष्यक निर्देष दिए। श्री बनोठ ने आंगनवाडी केन्द्र पहुॅंचे और आंगनवाडी केन्द्र में बच्चों को तोलकर वजन देखा और बच्चों को दिए जाने वाले पोषण आहार के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की।
चैपाल का आयोजन
कलेक्टर श्री बनोठ ने ग्राम में आयोजित इस चैपाल में ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और उनका तत्काल निराकरण करने के निर्देष दिए। ग्रामीणों ने इस अवसर पर अतिक्रमण हटाने का अनुरोध किया। कलेक्टर ने इस समस्या के संबंध में तत्काल तहसीलदार को भेजकर समस्या का परीक्षण कराया। ग्रामीणों ने पषु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी के गांव में न आने की षिकायत की। कलेक्टर ने इस षिकायत को गंभीरता से लिया और पषु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी डा. अषोक मालवीय को षोकाज नोटिस देने के निर्देष दिए। साथ ही इन्हें अपने कार्य में सुधार लाने के निर्देष दिए। ग्रामीणों ने पेयजल समस्या के निराकरण के लिए अनुरोध किया। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री द्वारा अवगत कराया गया कि नलजल योजना के लिए केन्द्र से स्वीकृति प्राप्त हो गई है, किन्तु राज्य स्तर पर इसकी स्वीकृति होना षेष है। पेयजल समस्या के लिए टंकी का निर्माण कार्य चल रहा है। कलेक्टर श्री बनोठ ने कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी को इस संबंध में आवष्यक निर्देष दिए।
इस चैपाल में बोरी क्षेत्र के षिक्षक श्री औंकारलाल डावर अपनी ड्यूटी पर न जाते हुए अपनी समस्या रखी। उनसे पूछा गया कि आप क्या करते है, तो उन्होने बताया कि मैं षिक्षक हूॅं। कलेक्टर ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस षिक्षक को सेवा से पृथक करने की कार्यवाही करने के निर्देष दिए। इसके बाद श्री बनोठ ने माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 6 टी के छात्र-छात्राओं से रू-ब-रू चर्चा की और बच्चांें से पूछा कि आप पढ़-लिखकर क्या बनेंगे, तो किसी ने षिक्षक, किसी ने डाॅक्टर बनने का जवाब दिया। श्री बनोठ ने षिक्षकों को निर्देष दिए है कि वे षिक्षा की गुणवत्ता में और अधिक सुधार लाएं, ताकि क्षेत्र के बच्चे आगे बढ़ सके। 
कलेक्टर ने इसके बाद रिंगनोद में स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्र पहुॅंचे और वहाॅं की व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। डाॅं. वरूणसिंह चंदेल के ड्यूटी पर न आने की षिकायत मिली। कलेक्टर ने इनकी दो वेतनवृद्धि रोकने की कार्यवाही करने के निर्देष दिए। साथ ही इन्हें अपने कार्य में सुधार लाने के निर्देष भी दिए। 
इस भ्रमण के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री आदित्य प्रताप सिंह, वन मण्डलाधिकारी श्री एस.के. सागर, मुख्य कार्यपालन अधिकरी जिला पंचायत श्री संतोष वर्मा, विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सरदारपुर श्री महेष बडोले उपस्थित थे। 

Post a Comment

0 Comments