जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे लक्ष्य अभियान की की गई समीक्षा

जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे लक्ष्य अभियान की की गई समीक्षा
                                                                                  
जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे लक्ष्य अभियान की की गई समीक्षा

बलरामपुर (प्रमोद पांडेय) - कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश द्वारा स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाया जा रहे लक्ष्य अभियान की समीक्षा की गई। बैठक में उपस्थित मुख्य चिकित्सा अधिकारी घनश्याम सिंह ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा लेबर रूम व प्रसूति ऑपरेशन थिएटर, शिशु इंटेंसिव केयर मे सुविधाएं बढ़ाने व सुधार हेतु अभियान लक्ष्य चलाया जा रहा है। इस अभियान के  उद्देश्य अस्पतालों में महिलाओं को दी जाने वाली सुविधाओं में सुधार करना व अच्छी सुविधा प्रदान करना। उन्होंने ने समस्त ब्लॉकों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि एक सप्ताह के भीतर प्रसूति कक्ष, प्रसूति ऑपरेशन थिएटर में समस्त कमियां दूर कर लें, महिलाओं को दी जाने वाली सुविधाओं में किसी प्रकार की कमी नहीं होनी चाहिए, लेबर रूम में एलईडी टीवी लगाये जाए,  जिसके माध्यम से महिलाओं को चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्रदान किया जाए। सभी अस्पतालों में अग्निशामक यंत्र अवश्य होने चाहिए। लेबर रूम में टॉयलेट स्वच्छ व साफ सुथरा होना चाहिए, हाथ साफ करने हेतु साबुन  व हैंड वास होने चाहिए, प्रत्येक बेड  के पास एक टेबल होनी चाहिए ,लेबर रूम महिलाओं को पीने के पानी की व्यवस्था होनी चाहिए। दवाओं की कमी ना हो। नवजात शिशु हेतु साफ-सुथरे टॉवल होने चाहिए, आदि निर्देश जिलाधिकारी महोदय द्वारा दिया गया।

क्वालिटी एश्योरेन्स के संबन्ध में सभी सदस्यों को विभिन्न दिशा-निर्देश दिये गये एवं इस कार्यक्रम के उद्देश्यों के संबन्ध में विस्तृत चर्चा की गई। कायाकल्प अवार्ड, एनक्यूएएस, केपी आई एवं मरीज फीडबैक प्रपत्र की सूचना, बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेण्ट,मार्डेनिंग एवं हर्बल गार्डेनिंग, मरीजों एवं उनके तीमारदारों हेतु शुद्ध पेयजल की गुणवत्ता जांच आदि पर विस्तृत चर्चा की गई।

बैठक में डीएम, सीएमओ डा. घनश्याम सिंह, अपर सीएमओं डा. अरुण कुमार, डा. शिवानी स्टेट कन्सल्टेन्ट सूनीसेफ, अमित श्रीवास्तव डिवीजन मानीटर यूनीसेफ, डा. अनामिका क्वाटिटी परामर्शदाता, डा. रूची, डीपीएम शिवेन्द्र मणि त्रिपाठी, अरविन्द मिश्रा व अन्य स्वास्थ्य के प्रभारी मौजूद रहे थे।

Post a Comment

0 Comments